मैच (6)
LPL (2)
TNPL (1)
MLC (2)
ZIM v IND (1)
ख़बरें

ग्लेन मैक्सवेल : मैं आईपीएल की मानसिकता से बल्लेबाज़ी करूंगा

टॉप ऑर्डर के फ़ॉर्म के चलते ऑस्ट्रेलिया को मैक्सवेल के बल्ले से सिर्फ़ 29 रनों की ज़रूरत पड़ी है

Glenn Maxwell goes down, and goes reverse, Australia vs South Africa, T20 World Cup, Abu Dhabi, October 23, 2021

स्विच हिट लगाते हुए ग्लेन मैक्सवेल  •  ICC via Getty

अगर ऑस्ट्रेलिया इतिहास में पहली बार पुरुष क्रिकेट में टी20 विश्व कप का ख़िताब जीतता है तो ग्लेन मैक्सवेल सेमीफ़ाइनल में छोटी भूमिका से भी संतुष्ट रहेंगे।
विश्व कप में आते हुए मैक्सवेल इस टूर्नामेंट के समूचे खिलाड़ियों में सबसे ज़्यादा अच्छे फ़ॉर्म में दिख रहे थे। उम्मीद जताई जा रही थी कि अगर ऑस्ट्रेलिया का टूर्नामेंट सफल होगा तो इसमें मैक्सवेल अहम भूमिका निभाते हुए नज़र आएंगे। लेकिन इंग्लैंड के ख़िलाफ़ एक ख़राब मैच के अलावा अब तक ऑस्ट्रेलियाई टीम बेहतरीन लय में दिखी है और 18, पांच, छह और दो बार बिना रन बनाए अविजित रहते हुए मैक्सवेल को ज़्यादा कुछ करने का अवसर नहीं मिला है।
उन्होंने कहा, "मुझे बल्लेबाज़ी करने के मौक़े ना मिलने से कोई दिक़्क़त नहीं है। इसका अर्थ है हमारे टॉप ऑर्डर के बल्लेबाज़ अच्छे फ़ॉर्म में हैं। मैं अच्छी मानसिकता के साथ मैदान पर उतर रहा हूं और उम्मीद यही रहेगी कि एक बार फिर मेरी ज़रूरत नहीं पड़ेगी या मैं शून्य पर नॉट आउट होते हुए पवेलियन लौटूंगा।"
मैक्सवेल का मानना है कि पाकिस्तान के ख़िलाफ़ अगर उनकी ज़रूरत पड़ेगी तो वह अपने आईपीएल के बढ़िया फ़ॉर्म को जारी रखेंगे। उन्होंने कहा, "मुझे लगता है पिछले दो-ढाई महीने यहां की परिस्थितियों को मैं जान गया हूं। मैंने अभ्यास भी ख़ूब किया है। मैं आईपीएल के दौरान स्पष्ट मन से गेंद को मार रहा था और मुझे उम्मीद है अगर पाकिस्तान के विरुद्ध मेरी ज़रूरत पड़ी तो मैं अहम भूमिका निभा पाऊंगा।"
इन परिस्थितियों में मैक्सवेल की स्पिन गेंदबाज़ी से भी काफ़ी अपेक्षा थी लेकिन ऐडम ज़ैम्पा की बेहतरीन गेंदबाज़ी के चलते साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ एक किफ़ायती चार ओवर के स्पेल के अलावा मैक्सवेल ने बाक़ी के मैचों में केवल चार ओवर ही डाले हैं।
पाकिस्तान के दोनों सलामी बल्लेबाज़ दाएं हाथ के हैं और मध्यक्रम के बल्लेबाज़ों को मिलाकर केवल फ़ख़र ज़मान एक खब्बू बल्लेबाज़ हैं। देखना होगा कि बतौर ऑफ़ स्पिनर क्या मैक्सवेल को फ़ख़र को रोकने के लिए पावरप्ले में गेंदबाज़ी करनी पड़ेगी या नहीं। लेकिन वह ख़ुद अपनी टीम के तेज़ गेंदबाज़ों पर पूरा भरोसा जताते हुए कहते हैं, "नई गेंद से हमारे तेज़ गेंदबाज़ों ने ज़बरदस्त गेंदबाज़ी की है। इन पिचों पर अब ढाई महीने से क्रिकेट चलता आ रहा है लेकिन फिर भी हमारे गेंदबाज़ नई गेंद से हरकत करवा रहे हैं। इससे हमें विकेट भी मिल रहे हैं और यह आगे के मैचों में एक बड़ा फ़ायदा होगा। पावरप्ले में अगर आप विकेट लेने में सफल होंगे तो विपक्षी टीम पर दबाव का संचार ज़रूर होगा।"
ऑस्ट्रेलिया ने चार बार दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए मैच जीते हैं, और मैक्सवेल का मानना है कि अतिरिक्त बल्लेबाज़ खिलाने से टीम आत्मविश्वास के साथ पहले बल्लेबाज़ी करने की चुनौती का सामना कर सकती है। उन्होंने कहा, "हम आज़ादी के साथ खेलना पसंद करते हैं। और हमारा टॉप ऑर्डर बढ़िया लय में है। हम अतिरिक्त बल्लेबाज़ के साथ उतरते ज़रूर हैं लेकिन टूर्नामेंट में आपने हमारे पांचवें, छठे और सातवें बल्लेबाज़ को शायद ही देखा है। यह साफ़ दर्शाता है हमारे टॉप ऑर्डर का फ़ॉर्म। मिचेल मार्श पिछले दो मैचों में अच्छी बल्लेबाज़ी करते आए हैं। ऐरन फ़िंच और डेविड वॉर्नर भी सही समय पर लय पकड़ रहे हैं। मैंने देखा है कुछ टीमें विकेट बचाकर आख़िर में शॉट लगाने की छूट के साथ बल्लेबाज़ी करती हैं। लेकिन हम मानते हैं कि पावरप्ले में आक्रामक बल्लेबाज़ी से ही हम विपक्षी टीम को बैकफ़ुट पर धकेल सकते हैं।"

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo में असोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर असिस्‍टेंट एडिटर और स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।