मैच (18)
आईपीएल (3)
ENG v PAK (W) (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Charlotte Edwards (3)
T20I Tri-Series (2)
ख़बरें

रॉजर बिन्नी: देश भर में तेज़ गेंदबाज़ों के लिए अनुपयुक्त पिचों पर देना होगा ध्यान

अपने पहले प्रेस कांफ़्रेंस में बीसीसीआई अध्यक्ष ने कई महत्वपूर्ण विषयों पर अपनी बात रखी

Roger Binny attends the BCCI's annual general meeting, Mumbai, October 18, 2022

बीसीसीआई की वार्षिक आम बैठक के दौरान बिन्नी  •  Associated Press

रॉजर बिन्नी ने कुछ ही समय पहले बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाला है। यह पूरी तरह से समझने योग्य बात है कि बिन्नी अपनी पहली प्रेस कांफ़्रेंस के दौरान भारतीय क्रिकेट में हर एक ज्वलंत मुद्दे पर बात नहीं करेंगे। बहरहाल गुरुवार को बेंगलुरू में उनके जवाबों ने आपको एक झलक दी कि घरेलू क्रिकेट के बारे में बीसीसीआई की सामान्य भावना क्या है और विशेष रूप से खिलाड़ियों की अनुबंध के बारे में उनकी क्या राय है।
बिन्नी से जब पूछा गया कि घरेलू खिलाड़ियों के अनुबंध के बारे में उनकी क्या राय है तो बिन्नी ने कहा, "मुझे लगता है कि (भारत में) घरेलू खिलाड़ी और रणजी खिलाड़ियों की काफ़ी अच्छी देखभाल की जाती है।"
यह एक ऐसा मुद्दा था जिसे सौरव गांगुली ने अक्तूबर 2018 में बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में पदभार ग्रहण करते समय छुआ था। गांगुली के विपरीत बिन्नी स्पष्ट थे कि यह उनकी प्राथमिकता में नहीं होगा। ख़ासकर जब से बोर्ड ने पिछले साल उनके लिए वेतन वृद्धि की शुरुआत की थी।
बिन्नी ने कहा, "उनका (घरेलू खिलाड़ियों) काफ़ी बढ़िया से ध्यान रखा जाता है। उनके पास अच्छी सुविधाएं हैं। वे अच्छी जगहों पर रहते हैं। फ़िलहाल इसकी कोई ज़रूरत नहीं है। रणजी ट्रॉफ़ी के स्तर को ऊपर उठाने की ज़रूरत है। यह प्रमुख टूर्नामेंट है। रणजी के साथ-साथ आपके पास दलीप ट्रॉफ़ी और ईरानी कप भी है। कितने लोग जानते हैं कि ईरानी कप एक महीने पहले हुआ था? कितने लोगों ने इसे देखा? यह हमारी एक संस्कृति है; क्रिकेट प्रशंसकों को इसका समर्थन करने की आवश्यकता है।"
मुंबई में बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में चुने जाने बाद बिन्नी अपने "घरेलू मैदान" एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में पहली बार आ रहे थे। कर्नाटक राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) के उनके सहयोगियों, दोस्तों और पूर्व टीम के साथियों ने उनको बधाई दी। इस दौरान भारत के पूर्व ऑलराउंडर ने टीम चयन के बारे में भी बात की।
उन्होंने कहा, "यह चयनकर्ताओं का विषय है। मैं इसमें हस्तक्षेप नहीं करूंगा। हमने उन्हें यह काम करने के लिए चुना है और हम उन्हें उनके हिसाब से काम करने देंगे"।
इसके अलावा उन्होंने एनसीए के मेडिकल स्टाफ़ की बेहतरी के बारे में भी बात की।
बिन्नी ने कहा, " विश्व कप से 10 दिन पहले (जसप्रीत) बुमराह जैसे खिलाड़ी इस हालत में नहीं हो सकते हैं। हमें यह पता करने की आवश्यकता है कि खिलाड़ी इतनी आसानी से क्यों और कैसे चोटिल हो रहे हैं। ऐसा नहीं है कि हमारे पास अच्छे प्रशिक्षक या कोच नहीं हैं। क्या कार्यभार बहुत अधिक है, वे ' बहुत सारे प्रारूप खेल रहे हैं? क्या इस मसले पर कुछ करने की ज़रूरत है? यह सिर्फ़ मेरी नहीं बल्कि पूरे बोर्ड की प्राथमिकता है।"
बिन्नी से और भी कई विषयों पर सवाल किए गए। उनसे सौरव गांगुली के संदर्भ में भी कई सवाल पूछे गए लेकिन बिन्नी ने उन सवालों का जवाब नहीं दिया। वहीं भारत और पाकिस्तान के उभरे नए विवाद (एशिया कप 2023) के बारे में उन्होंने कहा, "वह फ़ैसला बीसीसीआई नहीं ले सकता है। किसी भी देश की यात्रा करने से पहले सरकार की मंज़ूरी चाहिए। चाहे हम किसी देश की यात्रा करने वाले हैं या कोई विदेशी टीमे हमारे देश में आ रही है। हमें उसके लिए सरकार की मंज़ूरी की ज़रूरत है। इस विषय में हम अपने दम पर निर्णय नहीं ले सकते। हमें सरकार पर निर्भर रहना है, हमने अभी तक उनसे संपर्क नहीं किया है।"
बिन्नी ने देश भर में पिचों के स्तर को ऊपर उठाने की भी बात कही। उन्होंने कहा, "देश भर की पिचें अभी तेज़ गेंदबाज़ों के लिए अनुपयुक्त हैं। अगर हमारी टीम इंग्लैंड या ऑस्ट्रेलिया जाती है तो हमें मूवमेंट और उछाल से निपटने में दो सप्ताह से एक महीने तक का समय लगता है। हमें वहां जाने से पहले यहां अभ्यस्त होने में सक्षम होना चाहिए। यह एक और क्षेत्र है जिस पर हमें गौर करने की ज़रूरत है।"

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर राजन राज ने किया है।