मैच (19)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
USA vs CAN (1)
Women's Tri-Series (1)
Zonal Trophy [W] (1)
ख़बरें

हमारा मलिंगा अगले साल महत्वपूर्ण योगदान देगा : धोनी

प्रमुख कोच स्टीफ़न फ़्लेमिंग के अनुसार टीम सेमीफ़ाइनल (प्लेऑफ़) में जाने के योग्य नहीं थी

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के लीग चरण से बाहर होने और अंक तालिका में सबसे निचले स्थान की कगार पर होने के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी युवा खिलाड़ियों के प्रदर्शन को लेकर काफ़ी उत्साहित हैं।
प्लेऑफ़ की दौड़ से बाहर होने के बाद चेन्नई ने पिछले दो मैचों में अपनी एकादश में बदलाव किए। लसिथ मलिंगा की तरह गेंदबाज़ी करने वाले श्रीलंका के मथीशा पथिराना के साथ-साथ लेग स्पिनर प्रशांत सोलंकी और नारायण जगदीशन को मैच खेलने का मौक़ा दिया गया।
गुजरात टाइटंस के विरुद्ध अपने आईपीएल डेब्यू पर 24 रन देकर दो विकेट लेने वाले पथिराना को राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ मध्य और डेथ ओवरों में गेंदबाज़ी करने की ज़िम्मेदारी दी गई। विकेट उनके हाथ नहीं लगी लेकिन धोनी उन्हें और बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ मुकेश चौधरी को अगले सीज़न में महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाते हुए देख रहे हैं।
पोस्ट मैच प्रेज़ेंटेशन में धोनी ने युवा खिलाड़ियों के बारे में कहा, "मुझे लगता है कि उन्हें जितने मैच खेलने को मिले, उन्होंने उसमें बहुत कुछ सीखा। सबसे बड़ा उदाहरण रहा मुकेश का जिसने सभी (13) मैच खेले। अच्छी बात यह रही कि उसने पहले मैच से अंतिम मैच तक अपने खेल में सुधार किया और अब वह डेथ में गेंदबाज़ी करने लगा है। वह वापस जाकर इन सभी मैचों से सीखेगा और समझेगा कि हम उससे क्या उम्मीद रखते हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "अनुभव मिलने के बाद यह ज़रूरी है कि जब वह अगले सीज़न के लिए टीम में आए, उन्हें दोबारा शुरुआत ना करनी पड़े। यह ध्यान में रखना होगा कि आईपीएल में क्या हुआ, उन्होंने क्या सीखा और दबाव में उनकी सोच में क्या सुधार आया। युवा खिलाड़ियों को यह करना चाहिए। ज़्यादातर खिलाड़ियों ने मिले हुए मौक़ों को भुनाया है।"
पथिराना एक ऐसे खिलाड़ी हैं जिन पर लंबे समय से चेन्नई नज़रें जमाए हुई थी। आईपीएल 2021 से पहले पथिराना और महीश थीक्षना को चेन्नई की नेट में गेंदबाज़ी करने का न्योता भेजा गया था। हालांकि पता चला कि श्रीलंका क्रिकेट ने उन्हें मंज़ूरी नहीं दी क्योंकि उस समय बांग्लादेश का दौरा और श्रीलंका का घरेलू टूर्नामेंट खेला जा रहा था। जब ऐडम मिल्न चोट के चलते आईपीएल 2022 से बाहर हुए, चेन्नई ने पथिराना को मुख्य टीम में शामिल किया।
इस छोटे मलिंगा की प्रशंसा करते हुए धोनी ने कहा, "हमारा मलिंगा बहुत अच्छा है। उसे पढ़ना इतना आसान नहीं है और मुझे लगता है कि वह अगले साल हमारे लिए महत्वपूर्ण योगदान देगा।"
धोनी को लगता है कि इस सीज़न में उनकी टीम ने निरंतरता के साथ अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। सीज़न की समीक्षा करते हुए उन्होंने कहा, "हमें एक टीम के रूप में अच्छा प्रदर्शन करना होगा। एक चीज़ यह थी कि कोई एक खिलाड़ी अच्छा कर रहा था और उसके इर्द-गिर्द बाक़ी सब अपना योगदान दे रहे थे। मेरा ऐसा मानना है कि जब आपको मौक़ा मिलता है, फिर चाहे आप गेंदबाज़ हो या बल्लेबाज़, जब आप सेट होते हैं तो उसका पूरा लाभ उठाइए। सीखना जारी रखिए क्योंकि यह एक साल का टूर्नामेंट नहीं है, आप साल दर साल इसे खेलते हैं। सीखकर परिपक्व हो जाने के बाद समय आता है मेहनत का फल खाने का और 10-12 सालों के लिए एक बड़ा आईपीएल खिलाड़ी बनने का। युवा खिलाड़ियों से इसी चीज़ की दरकार है।"
चेन्नई के प्रमुख कोच स्टीफ़न फ़्लेमिंग मुकेश के प्रदर्शन से काफ़ी प्रभावित हुए। इस सीज़न पावरप्ले में मुकेश ने संयुक्त रूप से सर्वाधिक 11 विकेट झटके। दिल्ली के तेज़ गेंदबाज़ सिमरजीत सिंह ने भी दीपक चाहर की ग़ैरमौजूदगी में नई गेंद के साथ अच्छे स्पेल डाले।
मैच के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में फ़्लेमिंग ने कहा, "मुकेश शानदार खिलाड़ी साबित हुए। उनकी शुरुआत इतनी अच्छी नहीं रही थी लेकिन हम उनके साथ खड़े रहे और अंत में हमें उसका फल मिला। वह बेहतर होते चले गए। सिमरजीत ने भी हाल के कुछ मैच खेलने के बाद दबाव में अच्छी गेंदबाज़ी की। यह दोनों युवा खिलाड़ी भविष्य को ध्यान में रखते हुए सकारात्मक पहलू बनकर उभरे।"
फ़्लेमिंग ने स्वीकार किया कि शुरुआती मैचों में उनके पास इन फ़ॉर्म खिलाड़ी नहीं थे। उन्होंने कहा, "हमारी शुरुआत धीमी रही और हम लगातार मैचों में जीत दर्ज कर नहीं पाए। बेशक़ हमारे पास बेहतर प्रदर्शन करने के कई मौक़े थे। हालांकि सच यह है कि हम सेमीफ़ाइनल (प्लेऑफ़) में जाने के योग्य नहीं थे।"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।