मैच (7)
IND v ENG (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (1)
WPL (1)
ख़बरें

जसप्रीत बुमराह की पीठ की हुई सर्जरी

रिकवरी योजना के अनुसार होने पर वह वनडे विश्व कप खेल सकते हैं

बीसीसीआई की मेडिकल स्टाफ़ टीम बुमराह की वापसी के लिए एक प्लान बनाएगी  •  AFP/Getty Images

बीसीसीआई की मेडिकल स्टाफ़ टीम बुमराह की वापसी के लिए एक प्लान बनाएगी  •  AFP/Getty Images

जसप्रीत बुमराह की पीठ की सर्जरी हो गई है। उम्मीद जताई जा रही है कि वह वनडे विश्व कप से पहले फ़िट हो जाएंगे। सोमवार को बुमराह ने न्यूज़ीलैंड में यह सर्जरी करवाई।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है कि बुमराह मार्च के अंत तक न्यूज़ीलैंड में रह सकते हैं। बीसीसीआई के मेडिकल स्टाफ़ टीम ने मैदान पर उनकी वापसी का मार्ग तैयार किया है। अगस्त तक वह प्रशिक्षण और गेंदबाज़ी फिर से शुरू कर देंगे, और उसके बाद धीरे-धीरे उनका कार्यभार बढ़ेगा। साथ ही उन्हें विश्व कप के लिए पूरी तरह से फ़िट करने की योजना भी बनाई जाएगी।
बुमराह ने पिछले साल सितंबर के अंत से किसी भी क्रिकेट में भाग नहीं लिया है। पीठ में स्ट्रेस के कारण वह मैदान से लगातार दूर थे। उन्होंने इस साल जनवरी में श्रीलंका के ख़िलाफ़ घरेलू श्रृंखला में वापसी का प्रयास किया था लेकिन उनकी पीठ की समस्या जारी रहने के कारण वापसी नहीं कर सके।
वहीं हाल ही में एक और अपडेट में यह पता चला कि वह आईपीएल के 2023 के संस्करण से बाहर हो गए हैं। इसके अलावा (यदि भारत क्वालीफ़ाई करता है) तो वह 7 जून को ओवल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फ़ाइनल में भी हिस्सा नहीं लेंगे।
ऐसा समझा जा रहा है कि बेंगलुरु में राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में बीसीसीआई के चिकित्सा कर्मचारी बुमराह के मामले का तत्काल इलाज कर रहे थे और उन्होंने एक विकल्प के रूप में सर्जरी का सुझाव दिया। सर्जरी कराने का फै़सला बीसीसीआई ने एनसीए और बुमराह के साथ मिलकर लिया।
बुमराह के लिए यह निराशाजनक इंतज़ार रहा है। उन्होंने पिछले साल अगस्त में पीठ की चोट से पीड़ित होने के बाद से एक से अधिक बार वापसी करने का प्रयास किया है, लेकिन वह सफल नहीं हो पाए। शुरुआत में चोट बहुत गंभीर नहीं लग रही थी। बुमराह को 12 सितंबर को भारत की टी20 विश्व कप टीम में शामिल भी किया गया था। अपनी फ़िटनेस को साबित करने के लिए बुमराह ने 23 और 25 सितंबर को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेली गई श्रृंखला के आख़िरी दो टी20आई मैच भी खेले।
हालांकि उसके ठीक तीन दिन बाद बुमराह तिरुवनंतपुरम में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ पहले टी20आई में नहीं दिखे। बाद में पता चला कि उन्हें स्कैन के लिए ले जाया गया था, जिसमें स्ट्रेस से संबंधित चोट का पता चला था। अगले दिन बुमराह को एनसीए ले जाया गया, जहां आगे के स्कैन ने यह पुष्टि की कि चोट गंभीर थी, और बाद में उन्हें टी20 विश्व कप से बाहर कर दिया गया।
बुमराह ने नवंबर में अपना रिहैब फिर से शुरू कर दिया था और दिसंबर के मध्य तक वह गेंदबाज़ी करना शुरू कर चुके थे। उनकी प्रगति सकारात्मक लग रही थी। चयनकर्ताओं ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ सफे़द गेंद की श्रृंखला में भी शामिल किया लेकिन फिर से उनकी पीठ में समस्या हो गई।
जनवरी की शुरुआत में मुंबई में एक फ़िटनेस अभ्यास के दौरान उच्च कार्यभार का प्रदर्शन करते हुए, उन्हें असुविधा महसूस हुई। स्कैन से एक नई समस्या का पता चला, जिसने अंततः उन्हें ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले जाने वाली टेस्ट सीरीज़ से बाहर कर दिया।
भारतीय टीम प्रबंधन के साथ-साथ एनसीए भी चाहता है कि बुमराह की वापसी तभी हो, जब वह पूरी तरह से फ़िट हों। साथ ही कप्तान रोहित शर्मा ने भी यह कहा कि है कि उन्हें बुमराह को टीम में शामिल करने के लिए किसी भी तरह की जल्दाबाज़ी नहीं करनी चाहिए।