मैच (14)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ENG v PAK (1)
USA vs BAN (1)
WI vs SA (1)
ख़बरें

IPL 2024: कम से कम अगले दो मैचों में नहीं खेलेंगे मयंक यादव

पेट के निचले हिस्से में दर्द के कारण गुजरात के ख़िलाफ़ बीच मैच से हुए थे बाहर

Mayank Yadav clocked 156.7 kph in his searing spell, Royal Challengers Bengaluru vs Lucknow Super Giants, IPL, Bengaluru, April 2, 2024

बेंगलुरू के ख़िलाफ़ अपनी रिकॉर्डतोड़ गेंदबाज़ी के दौरान मयंक (फ़ाइल फ़ोटो)  •  BCCI

लखनऊ सुपर जायंट्स के तेज़ गेंदबाज़ मयंक यादव टीम के अगले दो मैचों में नहीं खेलेंगे। उनके पेट में दर्द है और टीम मैनेजमेंट उनका वर्कलोड मैनेज करने की वजह से एहतियातन यह क़दम उठा रहा है। रविवार को गुजरात टाइटंस के ख़िलाफ़ हुए मैच में मयंक सिर्फ़ एक ओवर गेंदबाज़ी कर पाए थे और दर्द के कारण मैदान से बाहर हो गए थे।
लखनऊ के सीईओ कर्नल विनोद बिष्ट ने एक बयान जारी करते हुए कहा, "मयंक को पेट के निचले हिस्से में दर्द महसूस हुआ और एहतियात के तौर पर हम अगले सप्ताह तक उनका वर्कलोड मैनेज कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि हम उन्हें जल्द ही मैदान पर देखेंगे।"
लखनऊ को 12 अप्रैल को दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ लखनऊ में ही अपना अगला मैच खेलना है, जबकि 14 अप्रैल को वे कोलकाता नाइट राइडर्स से भिड़ने के लिए कोलकाता जाएंगे। इसके बाद उन्हें 19 अप्रैल को चेन्नई सुपर किंग्स के ख़िलाफ़ अपने घरेलू मैदान पर भिड़ना है।
गुजरात के ख़िलाफ़ मैच के दौरान मयंक ने 140किमी/घंटा की गति के ईर्द-गिर्द गेंदबाज़ी की, जबकि पिछले दो मैचों में उन्होंने 150+ की गति के साथ लगातार गेंदबाज़ी की थी। इससे ही उनकी असहजता का अंदाज़ा लग गया था। बाद में वह असहज होकर मैदान से बाहर गए और फिर गेंदबाज़ी या फ़िल्डिंग के लिए मैदान में नहीं आए।
हालांकि मैच के बाद क्रुणाल पंड्या ने मैच प्रजेंटेशन के दौरान कहा, "मेरी उनके साथ थोड़ी देर की बातचीत हुई है और वह ठीक नज़र आ रहे हैं, जो कि हमारे लिए राहत की बात है।"
बाद में प्रेस कॉन्फ़्रेंस में प्लेयर ऑफ़ द मैच और मयंक के साथी तेज़ गेंदबाज़ यश ठाकुर ने भी दोहराते हुए कहा था कि मयंक पूरी तरह से फ़िट हैं और चिंता की कोई बात नहीं है।
मयंक ने इस आईपीएल के दौरान अभी तक तीन मैच खेला है और 156.7 किमी/घंटा की गति के साथ इस सीज़न IPL की सबसे तेज़ गेंद फेंकने का रिकॉर्ड बनाया है। उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के ख़िलाफ़ मैच के दौरान यह कारनामा किया था और तीन विकेट लिए थे। इससे पहले पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ अपने डेब्यू मैच में भी मयंक ने तीन विकेट हासिल कर प्लेयर ऑफ़ द मैच बने थे।
हालांकि मयंक के चोटों का यह इतिहास नया नहीं है। पिछले साल वह साइड स्ट्रेन के कारण IPL सीज़न का हिस्सा नहीं बन पाए थे। इससे पहले 2022 में हैमस्ट्रिंग फट जाने के कारण वह घरेलू सीज़न के अधिकतर हिस्से से बाहर रहे थे। गुजरात के ख़िलाफ़ मैच में भी जब मयंक मैदान से बाहर गए तो साइड स्ट्रेन की ही बात आई थी।
मयंक को भी पता है कि चोट तेज़ गेंदबाज़ी का हिस्सा है और इसके कारण उन्हें अतिरिक्त सतर्क रहना होगा।
पंजाब के ख़िलाफ़ मैच के बाद मयंक ने कहा था, "मैं आज तक जितने भी फ़िज़ियो से मिला हूं, वे बताते हैं कि चोट तेज़ गेंदबाजों के जीवन का हिस्सा हैं। मुझे पिछले एक-डेढ़ साल में दो-तीन बड़ी इंज़री हुई हैं। पिछले साल चोट के कारण ही मैं IPL नहीं खेल सका था। इसलिए मेरा लक्ष्य यही है कि मैं ख़ुद की फ़िटनेस का ख़्याल रखूं और अपनी ट्रेनिंग व रिकवरी पर फ़ोकस करुं।"
गुजरात के ख़िलाफ़ मैच से पहले लखनऊ के तेज़ गेंदबाज़ी कोच मोर्ने मॉर्केल ने कहा था कि टीम प्रबंधन इस बारे में मयंक का अतिरिक्त ध्यान दे रही है। उन्होंने कहा था, "टीम प्रबंधन के तौर पर हमारे लिए सबसे अहम है कि हम उन्हें किस तरह मैनेज करते हैं। मैचों के बीच उनके ऊपर जिस तरह का दबाव पड़ रहा है हमें उनकी रिकवरी पर ध्यान देना होगा और साथ ही उन्हें शिक्षित करना होगा कि वह कैसी उन चीज़ों को अपनाएं जो उनके हित में हों।"

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं.