मैच (9)
द हंड्रेड (पुरुष) (2)
CWC League 2 (1)
द हंड्रेड (महिला) (2)
महाराजा टी20 (2)
ओमान बनाम बहरीन (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
ख़बरें

हार्दिक पंड्या ने बताया कि ऋतुराज क्यों नहीं बल्लेबाज़ी करने आए ?

"ऋतुराज को चोट के साथ भेजने का भी विकल्प था हमारे पास लेकिन मैं इसके पक्ष में नहीं था"

Umran Malik on debut, Ireland vs India, 1st T20I, Dublin, June 26, 2022

उमरान पर हार्दिक की प्रतिक्रिया - "इस तरह के गेंदबाज़ को पर्याप्त मौक़े सही समय पर मिलने चाहिए"  •  AFP/Getty Images

आयरलैंड के ख़िलाफ़ रविवार को जब भारत 109 रन का पीछा करने आया तो सभी ये देखकर चौंक गए कि पारी का आग़ाज़ दीपक हुड्डा करने आ रहे हैं। जबकि इशान किशन के साथ ऋतुराज गायकवाड़ को आना चाहिए था। शुरू में लगा कि हो सकता है ये एक रणनीति के तहत लिया गया फ़ैसला हो, जहां 12 ओवर के इस मैच में हुड्डा ज़्यादा आक्रामकता के साथ खेल सकते हैं। लेकिन बाद में भारतीय कप्तान हार्दिक पंड्या ने बताया कि ये कोई रणनीति नहीं बल्कि मजबूरी थी क्योंकि ऋतुराज को हल्की चोट थी।
मैच के बाद मीडिया से मुख़ातिब होते हुए पंड्या ने कहा, "हम ऋतुराज को हल्की चोट में भी पारी का आग़ाज़ कराने के लिए भेज सकते थे, लेकिन मैं इसके पक्ष में बिल्कुल नहीं था। फिर हमने फ़ैसला किया कि हमारा जो बैटिंग नंबर है उससे सभी खिलाड़ी एक-एक स्थान ऊपर खेलेंगे। और ये फ़ैसला रंग लाया।"
हालांकि हुड्डा ने इस अवसर को दोनों हाथों से भुनाया और अपनी प्रतिभा का मुज़ाहिरा पेश किया। हाल ही में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ पांच मैचों की टी20 सीरीज़ के सभी मुक़ाबलों में हुड्डा बेंच पर ही बैठे रहे थे। लेकिन जब इस मैच में उन्हें मौक़ा मिला तो उन्होंने 29 गेंदों पर 47 नाबाद रन बनाते हुए टीम को 16 गेंद पहले ही सात विकेट से जीत की मंज़िल तक पहुंचाया। हुड्डा ने इससे पहले अपने 160 मैचों के टी20 करियर में कभी भी पारी का आग़ाज़ नहीं किया था, और जब टी20 अंतर्राष्ट्रीय में उन्हें पहली बार ऐसा करना पड़ा तो उन्होंने लाजवाब अंदाज़ में इसका फ़ायदा उठाया।
सिर्फ़ हुड्डा ही नहीं थे जिन्हें साउथ अफ़्रीका सीरीज़ में मौक़ा नहीं मिला था, बल्कि और भी कई खिलाड़ी थे जिनमें से एक उमरान मलिक को भी इस मैच में खेलने का अवसर मिला। तेज़ गेंदबाज़ उमरान का ये डेब्यू मैच था, हालांकि इस मैच में वह केवल एक ओवर ही डाल पाए।
हार्दिक ने उमरान की हौसलाअफ़ज़ाई करते हुए कहा कि इससे उनका आत्मविश्वास बढ़ा होगा क्योंकि डेब्यू आप एक ही बार करते हैं।
"जब आप भारत के लिए पहली बार खेलते हैं तो वह सफ़र बेहद यादगार होता है और ऐसी शानदार प्रतिभा को सही समय पर मौक़ा मिलना ज़रूरी है। उनका अच्छा दिन था या बुरा, ये क़तई मायने नहीं रखता। भारत के लिए खेलना ही एक बड़ी उपलब्धि है और उनके लिए मैं भी बहुत ख़ुश हूं। मुझे पूरी उम्मीद है कि इस मैच से उन्हें आत्मविश्वास मिला होगा और वह इससे बेहतर ही करेंगे।"
हार्दिक पंड्या, कप्तान, भारत
दो मैचों की इस टी20 सीरीज़ में भारत 1-0 से आगे है और अब दूसरा और आख़िरी मुक़ाबला इसी मैदान पर मंगलवार को खेला जाएगा।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है। @imsyedhussain