ख़बरें

भारत के ख़िलाफ़ खेले जा रहे सीरीज़ और ऐशेज़ से नाम वापस ले सकते हैं बटलर

ऑस्ट्रलियाई दौरे पर अपने परिवार के साथ जाना चाह रहे हैं इंग्लैंड के खिलाड़ी

Reuters
23-Aug-2021
Jos Buttler collects the ball, England vs India, 2nd Test, Lord's, 1st day, August 12, 2021

बटलर की पत्नी दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली हैं।  •  AFP/Getty Images

इंग्लैंड के विकेटकीपर-बल्लेबाज़ जॉस बटलर ने कहा कि वह ऑस्ट्रेलिया के कोविड -19 प्रतिबंधों की वजह से इस साल के अंत में होने वाले ऐशेज़ दौरे को छोड़ सकते हैं। उन्हें यह चिंता है कि ऑस्ट्रलियाई दौरे पर उनके परिवार को उनके साथ ऑस्ट्रलिया आने की अनुमति नहीं दी जाएगी।
इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया जाने से पहले अक्टूबर और नवंबर में संयुक्त अरब अमीरात में टी 20 विश्व कप खेलेगी। टेस्ट और टी20 दोनों फ़ॉर्मेट खेलने वाले खिलाड़ी लगभग चार महीने तक घर से बाहर रहेंगे।
आईपीएल से अपना नाम वापस लेने के बाद बटलर ने कहा कि वह भारत के साथ चल रही टेस्ट श्रृंखला के अंतिम मैचों से भी हट सकते हैं क्योंकि उनकी पत्नी दूसरे बच्चे को जन्म देने वाली हैं।
बटलर ने संडे टाइम्स अखबार को बताया कि आपको तय करना होगा कि आप कब खेल सकते हैं और कब नहीं। आपको ना कहने के लिए भी हमेशा तैयार रहना होगा। उन्होंने आगे कहा, "मैं, मेरी पत्नी और मेरे परिवार ने क्रिकेट के लिए बहुत त्याग किया है।"
"यह निराशाजनक होगा अगर कुछ खिलाड़ियों को ऐसा लगता है कि वे अपने बोर्ड या मेनेजमेंट को खेलने के लिए 'ना' नहीं कह सकते हैं क्योंकि हम इस समय एक ऐसी दुनिया में हैं जहां यह संभावना है कि आप खेलने के लिए कभी भी मना कर सकते हैं," बटलर कहते हैं।
इंग्लैंड के खिलाड़ी यह चाह रहे हैं कि उनके परिवार के सदस्यों को उनके साथ ऑस्ट्रेलिया जाने की अनुमति दी जाए। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) इस संदर्भ में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के साथ बातचीत कर रहा है।
ऑस्ट्रेलिया ने कोविड-19 के रोकथाम के लिए अपने बॉर्डर को बंद कर रखा है। अभी काफी कम इंटरनेशनल फ़्लाइट्स को ऑस्ट्रलिया में प्रवेश करने की अनुमति दी जी रही है और जो ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करता है, उसके लिए 14 दिनों का क्वारंटीन आवश्यक है।
बटलर ने कहा, "कोविड सभी के लिए अविश्वसनीय रूप से चुनौतीपूर्ण है और ऑस्ट्रेलिया ने इससे निपटने के लिए एक बहुत सख़्त नीति बनाया है। बायो-बबल में लंबे समय तक रहना एक जटिल और मुश्किल काम है। जब तक हमें इस बारे में अधिक जानकारी नहीं मिलती कि ऑस्टॅलियाई दौरे में कोविड संबंधित क्या नियम होंगे? हमें किन नियमों से गुजरना होगा? तब तक यह जानना असंभव है कि आप क्या निर्णय ले रहे हैं।"