मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

हमारी टीम मैच को ख़त्म नहीं कर पा रही है : जयवर्दना

कप्तान रोहित के अनुसार टीम की सारी रणनीतियां विफल हो रही हैं

पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ बुधवार को मुंबई इंडियंस को आईपीएल 2022 में अपनी लगातार पांचवीं हार मिली। मुंबई आईपीएल की सबसे सफल टीम है। हालांकि अब वह इस प्रतियोगिता के उस दौर में पहुंच चुकी है, जहां से उन्हें लगभग हर मैच जीतना होगा। फ़िलहाल उनकी टीम अंक तालिका में सबसे नीचे विराजमान है।
मुंबई के कोच महेला जयवर्दना ने कहा, "हमारी टीम मैच को ख़त्म करने में क़ामयाब नहीं हो पा रही है।" बुधवार को पंजाब के ख़िलाफ़ 199 रनों का पीछा करते हुए, मुंबई काफ़ी समय तक मैच में बनी हुई थी। एक बार के लिए ऐसा लगा कि वह इस लक्ष्य को आसानी से प्राप्त कर लेगी। हालांकि अंत में उन्हें 13 रनों की हार झेलनी पड़ी। मैच के बाद कप्तान रोहित शर्मा ने कहा "हम पिछले कुछ दिनों से बढ़िया क्रिकेट नहीं खेल रहे हैं और यही हमारी असफलता का कारण हैं।"
इस बार के मेगा ऑक्शन के बाद मुंबई की काफ़ी आलोचना हुई थी। ऐसा माना जा रहा था कि उनकी टीम में विविधता और विकल्प दोनों की कमी है। उन्होंने इशान किशन और जोफ़्रा आर्चर पर 23.25 करोड़ रुपये ख़र्च किए। आर्चर तो चोट के कारण इस आईपीएल में शामिल भी नहीं हुए हैं। उन्होंने अपनी टीम में क्विंटन डिकॉक और पंड्या भाइयों की जगह पर टिम डेविड, डेवाल्ड ब्रेविस और तिलक वर्मा को शामिल किया लेकिन दो मैचों के बाद ही डेविड को बैंच पर बैठा दिया गया।
बुधवार को टिमाल मिल्स को टीम में शामिल कर के उन्होंने अपनी गेंदबाज़ी आक्रमण को मज़बूत करने का प्रयास किया और रमनदीप को टीम बैंच पर बैठाया। ऐसा करने से उनकी बल्लेबाज़ी की गहराई कम हो गई लेकिन उन्होंने यह जोखिम उठाया।
जयवर्दना से जब पूछा गया कि क्या यह उनकी सर्वश्रेष्ठ एकादश थी तो उन्होंने कहा, "हमें लगता है कि हम फ़िलहाल अपनी सर्वश्रेष्ठ एकादश के साथ खेल रहे हैं। साथ ही इन परिस्थितियों में जिस तरह का कौशल खिलाड़ियों में चाहिए, वह हमारी प्लेइंग 11 में हैं। मुझे लगता है कि हमें बस यह पता लगाने की ज़रूरत है कि हम बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी और फ़ील्डिंग में मैदान पर भी कैसे सुसंगत हो सकते हैं। अब तक हम अपने प्रदर्शन में निरंतरता नहीं ला पाए हैं। हम अपने खेल को अच्छी तरह से फ़िनिश करने में असफल रहे हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "हम मैच को अंत तक लेकर जाना चाह रहे थे। जब मैच में फ़िनिशिंग की बात आती है तो सूर्यकुमार (यादव) उस मामले में एक बहुत ही सक्षम बल्लेबाज़ हैं। पावरप्ले में गेंद काफ़ी स्विंग हो रही थी, जिसके कारण हमने सूर्यकमार को बाद में भेजने का फ़ैसला किया। मैं नहीं चाह रहा था कि वह मैदान पर उतर कर अपना नेचुरल गेम ना खेलें। हम जानते हैं कि ब्रेविस और तिलक बहुत ही बढ़िया खिलाड़ी हैं। हमने उन्हें पूरी स्वतंत्रता दी कि वह मैदान पर अपनी शैली की क्रिकेट खेलें।"
मुंबई इससे पहले भी आईपीएल में इस तरह की परिस्थिति में रह चुकी है। 2014 में लगातार पांच मैच हारने के बाद वह प्लेऑफ़ तक पहुंचने मे क़ामयाब हुई थी। उस दौरान टीम ने कुल सात मैच जीते थे और उनका नेट रन रेट बढ़िया था। हालांकि एक चीज़ याद रखने योग्य है कि उस समय आईपीएल में सिर्फ़ 8 टीमें थी और अब 10 टीमें हैं। इसी कारणवश इस बार मामला कठिन रहने वाला है। अब उन्हें बचे हुए नौ मैचों में कम से कम आठ मैच जीतने होंगे।
अपनी टीम के प्रदर्शन पर कोच जयवर्दना ने कहा, "इस बात में सच्चाई है कि हमने पिछले कुछ दिनों से बढ़िया क्रिकेट नहीं खेला है और हमें हार मिली है। 190 का स्कोर इस पिच पर आसानी से चेज़ किया जा सकता था। पिच बल्लेबाज़ी के लिए आसान थी। हमें अब ध्यान देना होगा कि कैसे हम एक समूह के तौर पर बढ़िया प्रदर्शन कर सकते हैं।"
कप्तान रोहित ने भी मैच के बाद की प्रस्तुति में कहा कि वे अपने पहले चार मैच हारने के बाद अलग-अलग चीज़ें करने की कोशिश कर रहे थे लेकिन यह काम नहीं कर रहा था। उन्होंने बल्लेबाज़ी क्रम में किए गए बदलाव के बारे में कहा, "यदि आप मैच नहीं जीत रहे हैं तो आपको एक टीम के रूप में, एक बल्लेबाज़ी समूह के रूप में सफल होने का प्रयास करना होगा। हम एक सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन इस समय कुछ भी काम नहीं कर रहा है।"

विशाल दीक्षित ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।