मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (4)
CE Cup (3)
T20 Blast (8)
ख़बरें

शतकीय पारी के बाद बोले सूर्यकुमार : मैं ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी का आनंद ले रहा हूं

भारतीय बल्लेबाज़ ने कहा कि वह नेट्स में भी इसी तरीक़े की बल्लेबाज़ी करते हैं

'Suryakumar Yadav, take a bow!'... and he does! New Zealand vs India, 2nd T20I, Mount Maunganui, November 20, 2022

दूसरे टी20 मैच में सूर्यकुमार ने 51 गेंदों पर नाबाद 111 रनों की पारी खेली  •  Getty Images

सूर्यकुमार यादव अपने बल्लेबाज़ी प्रदर्शन से काफ़ी ख़ुश हैं। उन्होंने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में में 51 गेंदों पर नाबाद 111 रनों की पारी खेलकर भारत को एक विशाल स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। इस पारी के बाद बात करते हुए सूर्यकुमार ने यह भी बताया कि वह क्यों 16वें ओवर तक थोड़ा रुक कर बल्लेबाज़ी कर रहे थे। आपको बता दें कि 16वें ओवर की समाप्ति पर वह 35 गेंदों पर 57 रन बनाकर खेल रहे थे और अंतिम 16 गेंदों में उन्होंने 54 रन बनाए।
सूर्यकुमार ने भारत की पारी के बाद प्रसारकों को बताया , "टी20 क्रिकेट में शतक लगाना हमेशा ख़ास होता है। हालांकि मेरे लिए अंत तक बल्लेबाज़ी करना भी महत्वपूर्ण था। यही बात मुझे हार्दिक (पंड्या) भी बता रहे थे। वह कह रहे थे कि 18वें-19वें ओवर तक बल्लेबाज़ी करने की कोशिश की जाए, हमें 180-185 के स्कोर की ज़रूरत है।"
उन्होंने आगे कहा, "मैं इस तरह की (आक्रामक) बल्लेबाज़ी का आनंद ले रहा हूं। मैं नेट्स में भी यही करने का प्रयास कर रहा हूं। मैं बढ़िया प्रदर्शन करने में सफल हो रहा हूं, इससे मैं काफ़ी ख़ुश हूं।"
सूर्यकुमार वर्तमान में दुनिया में नंबर एक टी20आई बल्लेबाज़ हैं। उन्होंने 2022 में टी20 क्रिकेट में 1151 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 188.37 के स्ट्राइक रेट से दो शतक और नौ अर्द्धशतक लगाए हैं। टी20 विश्व कप में उन्होंने 239 रन बनाए थे। उन्होंने उस टूर्नामेंट में 10 से अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों की सूची में सबसे अव्वल स्ट्राइक रेट (188.37) के साथ रन बनाए थे।
न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ शतक लगाने के बाद उन्होंने कहा कि वह शुरुआत में ही अतिआक्रमकता के साथ बल्लेबाज़ी नहीं करना चाहते थे। उन्होंने कहा, "मेरे और हार्दिक के बीच बात हुई थी। हमारा प्लान था कि थोड़ी देर तक टिक कर बल्लेबाज़ी की जाए क्योंकि हार्दिक के बाद सिर्फ़ (दीपक) हूडा और वॉशी (वॉशिंगटन सुंदर) बल्लेबाज़ी के लिए बचे हुए थे। हमने कोशिश की कि अंतिम चार ओवर में ज़्यादा से ज़्यादा रन बनाए और हम इसमें सफल रहे।"