फ़ीचर्स

आंकड़ों में: राहुल-मयंक के बीच शतकीय साझेदारी का मतलब पंजाब की हार तय !

कार्तिक त्यागी आईपीएल इतिहास में आख़िरी ओवर में सबसे कम रन डिफ़ेंड करने वाले संयुक्त गेंदबाज़ बने

Mayank Agarwal and KL Rahul put the Punjab Kings chase on the road, Punjab Kings vs Rajasthan Royals, IPL 2021, Dubai, September 21, 2021

केएल राहुल और मयंक अग्रवाल के बीच चौथी बार पहले विकेट के लिए शतकीय साझेदारी  •  BCCI

4 - आख़िरी ओवर में कार्तिक त्यागी ने चार रन डिफ़ेंड किए, ये इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) इतिहास में 20वें ओवर में गेंदबाज़ी करते हुए संयुक्त तौर पर सबसे कम रन है। मुनाफ़ पटेल ने भी 2009 में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ राजस्थान रॉयल्स के लिए ही चार रन डिफ़ेंड किए थे।
8 - 19वें ओवर की शुरुआत में पंजाब किंग्स के सामने यही था लक्ष्य, आईपीएल इतिहास में आख़िरी दो ओवर में इतने कम रनों का लक्ष्य होने के बाद कोई भी टीम नहीं हारी थी। इससे पहले कोलकाता नाइट राइडर्स 2012 में किंग्स-XI पंजाब के ख़िलाफ़ आख़िरी दो ओवर में 13 रनों का लक्ष्य नहीं हासिल कर पाई थी।
1 - कार्तिक त्यागी ने आख़िरी ओवर में सिर्फ़ एक रन दिया था जो आईपीएल इतिहास में किसी भी गेंदबाज़ द्वारा डिफ़ेंड करते हुए दूसरा सबसे कम रन है। (सभी की सभी छ: गेंदें डालने के बाद)। इससे पहले 2008 में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ इरफ़ान पठान ने 20वां ओवर मेडन डाला था। जबकि जयदेव उनादकट ने भी यही कारनामा सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ 2017 में किया था, जिसमें हैट्रिक भी शामिल थी।
4 - अब तक चार बार मयंक अग्रवाल और केएल राहुल पंजाब की ओर से पहले विकेट के लिएशतकीय साझेदारी निभा चुके हैं, इत्तिफ़ाक ये है कि इन सभी मैचों में पंजाब को हार मिली है।
3 - अर्शदीप सिंह ने पारी में पांच विकेट लिया और ऐसा करने वाले वह पंजाब के सिर्फ़ तीसरे गेंदबाज़ हैं । पहली बार ये कारनामा दमित्री मास्करनहस ने 2012 में पुणे वॉरियर्स के ख़िलाफ़ किया था। इसके बाद 2018 में सनराइज़र्स हैदराबाद के ख़िलाफ़ अंकित राजपूत ने भी पंजाब के लिए पारी में पांच शिकार किए थे। अर्शदीप का पारी में लिया गया ये पांच शिकार राजस्थान के ख़िलाफ़ किसी भी गेंदबाज़ का सिर्फ़ दूसरा है, इससे पहले पंजाब के मौजूदा कोच अनिल कुंबले ने ये कारनामा 2009 में किया था , तब वह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाड़ी थी।
11 - आईपीएल इतिहास में ये 11वां मौक़ा है जब कोई टीम ऑलआउट होने के बाद विजेता रही हो। हालांकि राजस्थान के लिए ये दूसरा अवसर है जब उन्हें ऑलआउट होने के बाद भी जीत मिली हो। 2010 में भी राजस्थान को डेक्कन चार्जर्स के ख़िलाफ़ दो रन से जीत मिली थी और उस मैच में वह पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 159 रनों पर ऑलआउट हो गई थी।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।