मैच (6)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (4)
श्रीलंका बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
न्यूज़ीलैंड बनाम भारत (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: जेमिमाह और दीप्ति की बल्ले-बल्ले

राजेश्वरी गायकवाड़ ने भी बनाई टॉप-3 में जगह

Jemimah Rodrigues forced the pace after Sri Lanka struck twice, India vs Sri Lanka, Women's Asia Cup, Sylhet, October 1, 2022

जेमिमाह रॉड्रिग्स ने 75 रनों की आकर्षक पारी खेली  •  ACC

एशिया कप में सबसे बड़े दावेदार के रूप में उतरी भारतीय टीम ने यूएई की चुनौती को आसानी से थामकर अंक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया है। श्रीलंका को हराने के बाद टूर्नामेंट में बेंच स्ट्रेंथ को मौक़े देने पर ध्यान केंद्रित कर रही भारतीय टीम लगातार तीसरे मैच में नई सलामी जोड़ी के साथ उतरी।
हालांकि आज यह महंगा पड़ता दिख रहा था, जब टीम को 20 रन पर 3 झटके लग चुके थे और पावरप्ले की समाप्ति के बाद स्कोर था 27 पर 3। यहां से दीप्ति शर्मा और जेमिमाह रॉड्रिग्स ने अपना क्लास दिखाया और शतकीय साझेदारी करते हुए भारत को एक मज़बूत स्कोर तक पहुंचा दिया। इतने बड़े स्कोर के बाद गेंदबाज़ों को आकर बस गेंद ही डालनी थी, क्योंकि पहली पारी के बाद ही जीत निश्चित हो गई थी।
हरमनप्रीत कौर को आराम दिए जाने के बाद टीम की कमान आज स्मृति मांधना ने संभाली, हालांकि ओपनिंग पर नहीं आने के बाद उन्हें बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला।
क्या सही क्या ग़लत?
पावरप्ले में संघर्ष करने के बाद भारतीय टीम ने जिस अंदाज में वापसी की वह ज़बरदस्त रही। दीप्ति ने ऊपर बल्लेबाज़ी करते हुए साबित किया कि क्रीज़ पर समय बिताने के बाद वह गेंद के जितना ही बल्ले से भी कारगर हैं।
जब जीत इतनी एकतरफ़ा और सामने अपेक्षाकृत कमज़ोर टीम हो तो ग़लती की गुंजाइश कम ही रहती है।
प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)
स्मृति मांधना, 5: स्मृति आज बल्लेबाज़ी के लिए नहीं आईं। कप्तानी में वह एक्टिव थीं और उन्होंने बाएं हाथ की स्पिनर राजेश्वरी को दूसरा ओवर थमा दिया, जिन्होंने ओवर में दो विकेट लेकर इस फ़ैसले को सही ठहराया। स्मृति ने मिडविकेट पर एक कैच टपकाया जिस कारण उनके एक अंक काटे गए हैं।
एस मेघना, 5: पिछले मैच की प्लेयर ऑफ़ द मैच एस मेघना ने आज निराश किया। उन्होंने जब दूसरे ओवर में एक ख़ूबसूरत कवर ड्राइव से चौका लगाया तो उनसे एक और अच्छी पारी की उम्मीद जगी, लेकिन एक ओवर बाद ऑफ़ स्टंप के बाहर की गेंद पर ऊपरी किनारा लगा बैठीं।
ऋचा घोष, 4: मेघना की तरह ऋचा ने भी पिछले मैच में ताबतोड़ बल्लेबाज़ी की थी, लेकिन यह पारी तीसरे नंबर पर आई थी। आज उन्हें ओपन करने के लिए भेजा गया था लेकिन वह अपनी पहली ही गेंद पर दुर्भाग्यशाली रहीं और पैरों पर आई गेंद को सीधे फ़ाइन लेग के हाथों में खेल बैठीं। ऋचा को उनके विकेटकीपिंग में दिए महत्वूपर्ण योगदान के लिए अंक दिए गए हैं, जहां उन्होंने एक बेहतरीन रन आउट में योगदान किया।
दीप्ति शर्मा, 10: पहले ओवर में ही भारत को झटका लगने के बाद नंबर तीन पर आईं दीप्ति के सामने जल्दी-जल्दी दो और विकेट गिर गए। यहां से उन्होंने जेमिमाह के साथ साझेदारी बनाई और एक बार आंख जमने के बाद बड़े शॉट खेलने में कोई संकोच नहीं किया। आज दीप्ति ने बल्लेबाज़ी के दौरान अपने क़दमों का भी बेहतरीन प्रयोग किया और स्पिनरों को कभी सेटल नहीं होने दिया। छक्के से अपना अर्धशतक पूरा करने के बाद वह आख़िरी ओवरों में पवेलियन लौटीं। गेंदबाज़ी में उनके हाथ कोई विकेट नहीं लगा लेकिन उनकी गेंदबाज़ी सटीक रही।
दयालन हेमलता, 6: पूरे मौक़े देने के लिए आज भारतीय टीम प्रबंधन ने कई खिलाड़ियों को प्रमोट किया था, जिनमें दयालन हेमलता भी शामिल थीं। चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने आईं हेमलता दुर्भाग्यपूर्ण तरीक़े से रन आउट होकर पवेलियन लौटीं। गेंदबाज़ी में उन्होंने अच्छा हाथ दिखाते हुए तीन ओवर में सिर्फ़ 8 रन देकर एक विकेट हासिल किया।
जेमिमाह रॉड्रिग्स, 10: जारी एशिया कप में भारत के पहले मैच में 76 रन की पारी खेल चुकीं जेमिमाह ने आज भी अपना फ़ॉर्म दिखाया और ज़बरदस्त लय में बल्लेबाज़ी की। उन्होंने अपनी पारी में बिना छक्का लगाए 166.66 के स्ट्राइक रेट से अंत तक खड़े रहकर 75 रनों की लाजवाब पारी खेली और भारतीय पारी को संवारने, गति देने के साथ-साथ बेहतरीन फ़िनिश भी किया।
पूजा वस्त्रकर, 6: आख़िरी ओवरों में पूजा ने पांच गेंदों का सामना किया और एक चौका और एक छक्का जड़कर आउट हुईं। गेंदबाज़ी करते हुए उन्होंने अपना कोटा पूरा किया और सिर्फ़ 15 रन दिए। किरण नवगिरे, 5: किरण जब बल्लेबाज़ी करने आईं तो सिर्फ़ आठ गेंदों का खेल बचा था, जिसमें से आधे गेंद खेलते हुए उन्होंने दो चौकों की मदद से नाबाद 10 रन बनाए।
स्नेह राणा, 6: स्नेह भारतीय गेंदबाज़ों में सबसे किफ़ायती रहीं और तीन ओवरों में 2.33 की इकॉनमी से सिर्फ़ 7 रन दिए। हालांकि उनको कोई सफलता हाथ नहीं लगी। फ़ील्ड में उन्होंने चुस्ती दिखाई और रन आउट के रूप में यूएई को पहला झटका दिलाया।
रेणुका सिंह, 5: इस मैच में अपना पूरा स्पेल डालने वाली रेणुका दूसरी भारतीय गेंदबाज़ रहीं। वह किफ़ायती थीं, लेकिन विकेट नहीं मिला।
राजेश्वरी गायकवाड़, 7: राजेश्वरी ने अपने पहले ही ओवर में दो विकेट लेकर यूएई को बैकफ़ुट पर धकेल दिया। अगले ओवर में उन्हें दो चौके लगे जिसके बाद उन्हें गेंदबाज़ी से रोका गया और फिर 13वें ओवर में गेंद थमाई गई। हालांकि उस ओवर में उनकी गेंदों पर आसानी से रन बने, जिसके बाद उनका कोटा पूरा नहीं करवाया गया।

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।