मैच (16)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

150 टेस्ट विकेट लेने वाले दूसरे साउथ अफ़्रीकी स्पिनर बने महाराज

तीसरी बार टेस्ट मैच की एक पारी में सात या उससे अधिक विकेट लेने का कारनामा किया

रन, विकेट और ट्रॉफ़ी यह मैच केशव महाराज के नाम रहा  •  AFP/Getty Images

रन, विकेट और ट्रॉफ़ी यह मैच केशव महाराज के नाम रहा  •  AFP/Getty Images

3 - केशव महाराज और साइमन हार्मर की जोड़ी बिना किसी बदलाव के पूरी विपक्षी टीम को आउट करने वाली टेस्ट इतिहास की तीसरी जोड़ी बन गई है। इससे पहले दोनों ने डरबन में हुए पहले टेस्ट की चौथी पारी में भी यह कारनामा कर दिखाया था। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के लिए जेजे फ़ेरिस और चार्ली टर्नर ने गेंदबाज़ी मे बिना किसी बदलाव के पूरी विपक्षी टीम को पवेलियन लौटाने का कारनामा दो बार किया था।
3 - केशव महाराज ने अपने टेस्ट करियर में अब कुल तीन बार एक ही पारी में सात से अधिक विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया है। वह तीन बार एक पारी में सात विकेट लेने वाले साउथ अफ्रीका के दूसरे गेंदबाज़ हैं। महाराज से ज़्यादा साउथ अफ्रीका के ह्यू टेफ़ील्ड ने चार बार एक ही पारी में सात से अधिक विकेट लिए हैं। महाराज लगातार दो टेस्ट मैचों में सात से अधिक विकेट लेने वाले साउथ अफ़्रीका के दूसरे गेंदबाज़ हैं। महाराज से पहले यह कारनामा भी सिर्फ़ टेफ़ील्ड ने ही किया था।
150 - महाराज साउथ अफ़्रीका के लिए टेस्ट मैचों में 150 विकेट लेने वाले दूसरे स्पिनर बन गए हैं। उनसे पहले केवल टेफ़ील्ड ने अपने टेस्ट करियर के 37 मैचों में कुल 170 विकेट लिए थे।
27 - बांग्लादेश और साउथ अफ़्रीका के स्पिनर्स ने दूसरे टेस्ट मैच में कुल मिलाकर 27 विकेट लिए। यह साउथ अफ़्रीकी सरज़मीं पर खेले गए किसी टेस्ट मैच में स्पिनर्स द्वारा लिए गए सबसे अधिक विकेट का रिकॉर्ड है। इससे पहले स्पिनर्स द्वारा सबसे ज़्यादा 23 विकेट साउथ अफ़्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच 1936 में खेले गए डरबन टेस्ट में लिए गए थे।
141 - बांग्लादेश की पूरी टीम 141 गेंदों में ही ऑल आउट हो गई। इससे कम गेंदों में स्पिनर्स द्वारा विपक्षी टीम को ऑल आउट करने का कारनामा भी महाराज और हार्मर ने ही किया है। दोनों गेंदबाज़ों ने डरबन टेस्ट में बांग्लादेश की टीम को 114 गेंदों में ही ऑल आउट कर दिया था।
15 - पोर्ट एलिज़ाबेथ में महाराज और हार्मर ने संयुक्त रूप से 15 विकेट लिए। यह साउथ अफ़्रीका की ओर से किसी घरेलू टेस्ट में इतने विकेट लेने वाली संयुक्त रूप से यह तीसरी जोड़ी है। इससे पहले 1949 में पोर्ट एलिज़ाबेथ में ही इंग्लैंड के ख़िलाफ़ और 1950 में डरबन में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ स्पिनर्स ने कुल 15 विकेट झटके थे। किसी एक टेस्ट मैच में साउथ अफ़्रीकी स्पिनर्स ने सबसे ज़्यादा 16 विकेट 1952 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ लिए थे।
2 - केशव महाराज ने अब तक के अपने करियर में दो मर्तबा अर्धशतक जड़ने के साथ-साथ पांच विकेट से ज़्यादा लिए हैं। वह एक बार से अधिक ऐसा करने वाले साउथ अफ़्रीका के तीसरे गेंदबाज़ हैं। महाराज से पहले जाक कैलिस भी दो बार यह कारनामा कर चुके हैं। यह कारनामा सबसे ज़्यादा तीन बार शॉन पॉलक ने किया था।

संपत बंदारुपल्ली ESPNcricinfo में सांख्यिकिविद हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।