ख़बरें

श्रीलंकाई टेस्ट टीम में महीश थीक्षना को बुलावा

दुनिथ वेल्लालगे को वनडे सीरीज़ में अच्छा प्रदर्शन करने का मिला लाभ

Dunith Wellalage celebrates his second wicket, Sri Lanka vs Australia, 2nd ODI, Pallekele, June 16, 2022

जयाविक्रमा के कोरोना और एम्बुलदेनिया के ख़राब प्रदर्शन के कारण बाहर होने के बाद थीक्षना और वेल्लालगे कर सकते हैं टेस्ट डेब्यू  •  AFP

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ गॉल में होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए श्रीलंका ने महीश थीक्षना, दुनिथ वेल्लालगे और लक्षिता मानासिंघे को टीम में शामिल किया है। इन तीन में से कम से कम कोई एक टेस्ट डेब्यू कर सकता है। पहले टेस्ट के बाद लसिथ एम्बुलदेनिया को टीम से बाहर कर दिया गया था और उनके साथी लेफ़्ट आर्म स्पिनर प्रवीण जयाविक्रमा कोरोना के कारण बाहर हैं।
19 साल के बाएं हाथ के स्पिनर वेल्लालगे ने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ में 22.33 की औसत से 9 विकेट लिए थे, इसके अलावा वह निचले क्रम में उपयोगी बल्लेबाज़ी भी कर सकते हैं। वह पहले टेस्ट में भी रिज़र्व खिलाड़ी के रूप में टीम के साथ थे, अब उन्हें मुख्य दल में शामिल कर लिया गया है। उनके पास 11 प्रथम श्रेणी मैचों में 30.76 की औसत से 34 विकेट हैं।
वहीं वनडे सीरीज़ में पांच वनडे में चार विकेट लेने वाले ऑफ़ स्पिनर थीक्षना ने अब तक सिर्फ़ तीन प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं, जिसमें उन्होंने आख़िरी मैच 2018 में खेला था। उन्हें सीमित ओवर क्रिकेट के विशेषज्ञ के रूप में देखा जाता है। जबकि ऑफ़ स्पिनर मानासिंघे (22 वर्ष) ने ऑस्ट्रेलिया-ए के ख़िलाफ़ लाल गेंद की सीरीज़ खेली थी, जिसमें उन्होंने दो मैचों में 13 विकेट लिए थे।
हालिया कुछ सालों में लाल गेंद क्रिकेट में श्रीलंका के प्रमुख स्पिनर रहे एम्बुलदेनिया ने पहले टेस्ट में 15 ओवर में 73 रन दिए और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। इससे पहले बांग्लादेश के ख़िलाफ़ भी पहले टेस्ट मैच में ख़राब प्रदर्शन के बाद उन्हें पूरी सीरीज़ से बाहर कर दिया गया था।
श्रीलंका के मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड ने कहा, "उन्हें इस समय कुछ मुश्किल हो रही है। हालांकि श्रीलंकाई ड्रेसिंग रूम से उन्हें पर्याप्त समर्थन प्राप्त है। हमने उनसे एक निश्चित लेंथ पर लगातार गेंदबाज़ी करने को कहा है। हालांकि सिर्फ़ उन्हें नहीं हमारी पूरी गेंदबाज़ी समूह को अपनी लेंथ पर काम करना है। इसके अलावा उन्हें अपने आत्मविश्वास पर भी काम करना है। हम लगातार उनके साथ बने हुए हैं और जब भी लगेगा कि वह टीम में वापस आ सकते हैं तो हम उन्हें वापस लाएंगे।"