मैच (18)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
USA vs CAN (1)
फ़ीचर्स

SRH vs MI रिपोर्ट कार्ड: सनराइज़र्स हैदराबाद के गढ़ में शेर बने कैमरन ग्रीन

मुंबई इंडियंस ने एक रोमांचक मुक़ाबले में हैदराबाद को दी 14 रनों से मात

हैदराबाद के ख़िलाफ़ 64 रनों की पारी खेलने के अलावा एक विकेट भी लिया  •  Associated Press

हैदराबाद के ख़िलाफ़ 64 रनों की पारी खेलने के अलावा एक विकेट भी लिया  •  Associated Press

मुंबई इंडियंस की टीम मंगलवार को सनराइज़र्स हैदराबाद़ को उनके घर पर ही हराने में सफल रही। मुंबई ने हैदराबाद के सामने 193 रनों का लक्ष्य रखा था लेकिन हैदराबाद की टीम सिर्फ़ 178 रन ही बना सकती। आइए देखते हैं कि दोनों टीमों के रिपोर्ट कार्ड को देखते हैं।
बल्लेबाज़ी
मुंबई (A) :
कैमरन ग्रीन की अर्धशतकीय पारी ने यह दिखाया कि क्यों मुंबई इंडियंस की टीम ने इतना ख़र्च कर के उन्हें अपनी टीम में शामिल किया है। जब बाक़ी के मुंबई के बल्लेबाज़ी एक धीमी पिच पर संघर्ष कर रहे थे, तब ग्रीन ने पहले क्रीज़ पर समय बिताया और काउंटर अटैक किया। उन्होंने पहले किशन, फ़‍िर तिलक वर्मा और अंत में टिम डेविड के साथ एक महत्वपूर्ण साझेदारी की। इसके अलावा रोहित शर्मा और इशान किशन ने सकारात्मक तरीक़े से बल्लेबाज़ी की शुरुआत की थी। हालांकि रोहित अपने बढ़िया शुरुआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाए।
हैदराबाद
कोलकाता का ख़िलाफ़ शतक लगाने वाले हैरी ब्रूक से काफ़ी उम्मीदें थी लेकिन इस मैच में वह ख़ास नहीं कर पाए। एक बड़े स्कोर का पीछा करते हुए पावरप्ले में हैदराबाद के बल्लेबाज़ तेज़ी से रन बनाने में क़ामयाब नहीं हो पाए। मयंक अग्रवाल ने एक संघर्षपूर्ण पारी ज़रूर खेली लेकिन जब उन्होंने तेज़ी से रन बटोरने का प्रयास किया तो आउट हो गए। हेनरिक़ क्लासेन ने काउंटर अटैक ज़रूर किया था लेकिन वह बेक़ार गया। कुल मिलाकर हैदराबाद के ऊपरी क्रम ने अपनी टीम को काफ़ी निराश किया।
गेंदबाज़ी
हैदराबाद (A)
पिच धीमी थी। बल्ले पर गेंद ठीक से नहीं आ रही थी। हैदराबाद के तेज़ गेंदबाज़ों ने पिच के मिजाज को जल्दी भांपते हुए धीमी गेंदों का काफ़ी बढ़िया प्रयोग किया। हालांकि अंतिम के ओवरों में ग्रीन की आक्रामक बल्लेबाज़ी का उनक पास कोई जवाब नहीं था। स्पिनरों के लिए इस पिच पर मदद थी लेकिन मयंक मार्कंडेय और वॉशिंगटन सुंदर में बढ़िया गेंदों के साथ-साथ कुछ ख़राब गेंद पर भी डालें। टी नटराजन के प्रदर्शन से हैदराबाद की टीम परेशान होगी। उन्हें जल्द ही एक बेहतर विकल्प तलाशना होगा। वह बिल्कुल भी लय में नहीं थे।
मुंबई (A)
पावरप्ले में अर्जुन तेंदुलकर और जेसन बेहरनडॉर्फ़ ने काफ़ी सही लाइन और लेंथ पर गेंदबाज़ी करते हुए बिल्कुल भी रन नहीं दिए। साथ ही बेहरनडॉर्फ़ ने इस दौरान दो विकेट भी निकाले। पीयूष चावला ने अपने पहले तीन ओवर बढ़िया फेंके लेकिन उनके स्पेल के आख़िरी ओवर में हेनरिक़ क्लासेन ने 21 रन बटोरे। हालांकि अंतिम के ओवरो में रायली मेरेडिथ, ग्रीन और अर्जुन ने कमाल की गेंदबाज़ी की।
फ़ील्डिंग
हैदराबाद (A)
शुरुआती ओवरों में मयंक अग्रवाल ने भले ही किशन का एक मुश्किल कैच टपका दिया लेकिन मारक्रम ने जिस हिसाब से किशन और सूर्या का कैच लिया, वह अदभुत था। इसके अलावा ज़मीनी फ़ील्डिंग में भी हैदराबाद के फ़ील्डरों ने ज़्याद ग़लतियां नहीं की।
मुंबई (A)
कुछ एक रन आउट के मौक़ों को छोड़ दें तो मुंबई के सभी फ़ील्डरों ने कमाल की फ़ील्डिंग की। उन्होंने एक भी कैच नहीं छोड़ा और साथ ही सीमा रेखा पर और सर्कल में कई रन बचाए। अंतिम के ओवरों में जिस बुद्धिमता के साथ सुंदर और अब्दुल समध को रन आउट किया गया, वह मुंबई के लिए काफ़ी अहम था।
रणनीति
हैदराबाद (A)
ऐडन मारक्रम ने अपने तेज़ गेंदबाज़ों का प्रयोग बढ़िया किया। साथ ही स्पिनरों को भी उन्होंने अच्छा रोटेट किया लेकिन अंत के ओवरों में नटराजन के लय में न दिखने के बावजूद भी मारक्रम के पास कोई और विकल्प नहीं था। मार्को यानसन का कम से कम एक ओवर बचाकर रखा जा सकता था।
मुंबई (A+)
इम्‍पैक्ट प्लेयर के तौर पर टीम में शामिल किए गए रायली मेरेडिथ ने कमाल की गेंदबाज़ी की और जब मुंबई एक समय पर बैकफ़ुट पर नज़र आ रहा था तो उन्होंन मयंक का विकेट निकाला। साथ ही रोहित ने जसप्रीत बुमराह और जोफ़्रा आर्चर की गैरमौजूदगी में अपने सीमित गेंदबाज़ों विकल्पों का बढ़िया प्रयोग किया।

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं