मैच (15)
IND v ENG (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
PSL 2024 (2)
Marsh Cup (1)
NZ v AUS (1)
CWC Play-off (3)
WPL (2)
फ़ीचर्स

सीने में घाव' लेकर खुद को बदलने में सफल रहे मार्कस स्टॉयनिस

वह इस विश्व कप में अलग रोल में दिखे और उन्होंने ऑस्‍ट्रेलिया की सफलता में अहम योगदान दिया

फीनिशर के रोल में फ‍िट बैठने लगे हैं मार्कस स्‍टॉयनिस  •  AFP/Getty Images

फीनिशर के रोल में फ‍िट बैठने लगे हैं मार्कस स्‍टॉयनिस  •  AFP/Getty Images

मार्कस स्टॉयनिस की बड़ी बाइसेप्स, चौड़ी छाती और गठीला बदन आपको मार्वल सुपरहीरो हल्क की याद दिलाता है। स्टॉयनिस ख़ुद भी यह सोचते हैं कि वह हल्क की तरह लगते हैं, जब वह विकेट लेने के बाद जश्न के तौर पर अपनी बाइसेप्स और छाती को दिखाते हैं। हालांकि, फ़िनिशर बल्लेबाज़ स्टॉयनिस ब्रूस बैनर की तरह लगते हैं, जब से 2017 में ईडन पार्क में उन्होंने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ अपने वनडे करियर की दूसरी ही पारी में नाबाद 146 रन बनाए हैं।
उस मैच में स्टॉयनिस जब बल्लेबाज़ी करने आए तब ऑस्‍ट्रेलिया 287 रनों का पीछा करते हुए 54 रनों पर पांच विकेट गंवा चुकी थी। स्टॉयनिस ने यह स्कोर छह विकेट पर 67 रन होते हुए भी देखा और अगर केन विलियमसन जॉश हेज़लवुड को रन आउट नहीं करते तो स्टॉयनिस अकेले दम पर ही मैच जिता दिए होते। इस ज़बरदस्त पावरहिटिंग में स्टॉयनिस ने आख़िरी विकेट के लिए 48 गेंद में 54 रन जोड़े और इसमें हेज़लवुड का योगदान शून्य था।
ऐसा लग रहा था कि ऑस्ट्रेलिया को आख़िरकार अपना अगला बड़ा फ़िनिशर मिल गया है। स्टॉयनिस कई और मौक़ों पर फ़िनिशर बन सकते थे, विशेष रूप से सिडनी 2018, और नागपुर 2019। हालांकि, वह काम पूरा नहीं कर सके।
2019 का वनडे विश्व कप भी उनकी योजना के अनुसार नहीं गया। उन्हें डर था कि उनका यह टूर्नामेंट ख़त्म हो गया है, क्योंकि साइड स्ट्रेन के कारण वह ऑस्ट्रेलिया के पहले दो मैचों से बाहर थे। वह वापसी करने में सफल रहे, लेकिन सात पारियों में केवल 87 रन बनाए, जिससे चोट के कारण उनकी गेंदबाज़ी भी प्रभावित हुई। 50 ओवर के विश्व कप के बाद स्टॉयनिस को टी20 अंतर्राष्ट्रीय टीम से हटा दिया गया था, लेकिन उन्होंने अगस्त 2020 में बीबीएल में मेलबर्न स्टार्स के लिए एक ज़बरदस्त पारी खेली, जिससे उन्होंने चयनकर्ताओं को उन्हें टीम में दोबारा लेने पर मजबूर किया, लेकिन यह पारी शीर्ष क्रम पर खेली गई थी।
अगर टी20 विश्व कप पिछले साल तय समय पर होता तो स्टॉयनिस जगह भी नहीं बना पाते। अब एक साल बाद, स्टॉयनिस ने ऑस्ट्रेलिया की पुरुष टीम को अपना पहला टी20 विश्व ख़िताब जीतने के एक कदम दूर पहुंचा दिया है।
टी20 क्रिकेट में फ़िनिशर का काम बहुत मुश्किल है और स्टॉयनिस ने कई मौक़ों पर विफल होने के बाद अपने काम को अंजाम दिया है।
पाकिस्तान के साथ सेमीफ़ाइनल के एक दिन बाद स्टॉयनिस ने कहा, "आप निश्चित रूप से अपने पिछले अनुभवों से सीखते हैं। मैं भाग्यशाली हूं कि मैंने बहुत सारी क्रिकेट खेल ली है। मैंने बहुत टी20 क्रिकेट खेल ली है और मैंने उस घाव के निशान का निर्माण किया है, जहां मैं कई परिस्थितियों में असफल रहा हूं और मुझे कहा गया कि मैं मैच ख़त्म नहीं कर सकता हूं, हमने पहले भी इस तरह की बातें सुनी हैं।"
"मुझे लगता है कि आपको हर तरह की चीज़ों से गुजरना होगा और उस घाव को अपने साथ लेकर चलना होगा, जहां आप दबाव की स्थिति में बीच में जाकर खड़े हो जाओ। इसका मतलब यह नहीं है कि यह हमेशा काम करने वाला है, लेकिन मुझे लगता है कि मैंने निश्चित रूप से रास्ता देखा है, पिछले कुछ वर्षों में उस स्थिति में मुझे सहायता मिली है।"
कोच रिकी पोंटिंग के निर्देशन में दिल्ली कैपिटल्स के फ़िनिशर के रूप में स्टॉयनिस के खेल में निश्चित रूप से विकास हुआ है। यूएई में आईपीएल 2020 में डेथ ओवरों के समय उन्होंने इस सीज़न में 10.21 प्रति ओवर बनाए। ख़ुद को कायरन पोलार्ड, एबी डीविलियर्स, ओएन मॉर्गन और रवींद्र जाडेजा जैसे खिलाड़ियों की पंसदीदा सूची में ख़ुद को पहुंचाया।
आईपीएल 2021 के यूएई लेग में स्टॉयनिस को हैमस्ट्रिंग हो गई और वह केवल दो मैच खेले। एक और चोट, स्टॉयनिस के लिए एक और बर्बाद विश्व कप? लेकिन इस बार उन्होंने इतिहास को दोहराने नहीं दिया। उन्होंने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ टूर्नामेंट में केवल दूसरी बार बल्लेबाज़ी की। इससे पहले वह इंग्लैंड के ख़िलाफ़ शून्य पर आउट हो गए थे।
स्टॉयनिस जब विक्टोरिया के अपने पूर्व साथी मैथ्यू वेड के साथ गुरुवार को पाकिस्तान के ख़िलाफ़ सेमीफ़ाइनल में उतरे तो ऑस्‍ट्रेलिया को अभी भी 46 गेंद में 81 रनों की दरकार थी। स्टॉयनिस ने मैच को बदलने की शुरुआत तब की जब उन्होंने बीबीएल टीम स्टार्स के अपने साथी हारिस रउफ़ के 17वें ओवर में 13 रन जुटाए। रउफ़ ने ओवर पिच गेंद की और स्टॉयनिस ने शानदार बैट स्विंग के साथ उसे मिडविकेट बाउंड्री पर मार दिया। दूसरी गेंद पर रउफ यॉर्कर से चूके और स्टॉयनिस ने इस गेंद को भी चौका के लिए भेज दिया।
स्टॉयनिस ने कहा, "वेडी के साथ काम करना काफ़ी अच्छा था। हम एक छोटी सीमा और एक लंबी सीमा को देखते हुए आपस में बात कर रहे थे। कुछ गेंदबाज़ों के बारे में वह सोच रहा था, जिस पर वह आक्रमण कर सकता था और कुछ के बारे में मैं सोच रहा था। और फिर बीच में, आपके दिमाग में हलचल भी चल रही होती है (हंसते हुए)। तो, बस हम लोग शांत रहने की कोशिश कर रहे थे और एक-दूसरे को शांत रखने की कोशिश कर रहे थे। आप अपनी योजनाओं के माध्यम से बात कर रहे थे और सुनिश्चित कर रहे थे कि आप वास्तव में स्पष्ट हैं कि आप क्या करना चाहते थे।"
वर्षों से, स्टॉयनिस ने शीर्ष क्रम पर ही अपने हल्क व्यक्तित्व को दिखाया है, लेकिन टी20 विश्व कप में उनके फ़िनिशिंग रोल को देखा जाए तो कहा जा सकता है कि अब बदलाव दिखने लगा है।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।