मैच (13)
IND v SA [W] (1)
T20 वर्ल्ड कप (3)
CE Cup (3)
T20 Blast (6)
ख़बरें

मूडी: भारत के लिए बेहतरीन साबित हो सकते हैं अभिषेक शर्मा

SRH ऑलराउंडर ने कहा कि वह नहीं जानते थे कि RR के ख़‍िलाफ़ उनकी गेंदबाज़ी की ज़रूरत पड़ेगी लेकिन वह तैयार थे

अभिषेक शर्मा ने कहा कि वह नहीं जानते थे चेन्‍नई में राजस्‍थान रॉयल्‍स (RR) के ख़‍िलाफ़ दूसरे क्‍वालिफ़ायर में सनराइज़र्स हैदराबाद (SRH) को उनकी गेंदबाज़ी की ज़रूरत पड़ेगी लेकिन वह गेंदबाज़ी के लिए तैयार थे। IPL 2024 में अब से पहले केवल तीन ओवर करने वाले अभिषेक ने 24 रन देकर दो विकेट लिए और मैच विजेता बनाने वाले स्‍पेल में SRH को IPL के फ़ाइनल में पहुंचा दिया।
अभिषेक ने मैच के बाद कहा, "सच कहूं तो मैं नहीं जानता था कि मुझे इस मैच में गेंदबाज़ी करनी होगी लेकिन मैं अपनी गेंदबाज़ी के लिए तैयार था क्‍योंकि मैंने अपनी गेंदबाज़ी पर कड़ी मेहनत की है। पिछले दो साल मेरे बल्‍लेबाज़ी पर अच्‍छे गए हैं तो मैं अपने पिता के साथ अपनी गेंदबाज़ी पर काम करना चाहता था।"
अभिषेक का यह बल्‍ले से बेहतरीन सीज़न रहा है, जहां पर उन्‍होंने 15 पारियों में 207.75 के स्‍ट्राइक रेट से 482 रन बनाए हैं। उन्‍होंने इस सीज़न 42 छक्‍के लगाए हैं जो एक IPL सीज़न में किसी भारतीय बल्‍लेबाज़ द्वारा लगाए सबसे अधिक छक्‍के हैं। शुक्रवार की रात हालांकि उनकी गेंदबाज़ी कारगर रही जहां उन्‍होंने RR के मध्‍य क्रम को बिखेर दिया। उन्‍होंने अपनी तीसरी गेंद पर संजू सैमसन को वाइड लांग ऑन पर कैच कराया तो वहीं शिमरॉन हेटमायर को अपने तीसरे ओवर में कैरम बॉल पर बोल्‍ड किया, जिससे RR ने अपने छह विकेट गंवा दिए थे। अभिषेक ने अपने पहले तीन ओवर में कोई बाउंड्री तक नहीं खाई थी।
175 रनों का बचाव करते हुए चेन्‍नई की पिच पर SRH ने बतौर छठे गेंदबाज़ के तौर पर उनका इस्‍तेमाल किया, क्‍योंकि ओस की कमी के चलते इस पिच पर अधिक टर्न मिल रही थी। SRH के लिए इस सीज़न में उन्‍होंने अधिक गेंदबाज़ी नहीं की लेकिन सैयद मुश्‍ताक़ अली ट्रॉफ़ी में पिछले सीज़न उन्‍होंने पंजाब के बेहतरीन सफ़र में 20 ओवर किए।
ESPNcricinfo टाइम आउट शो में वरुण ऐरन ने कहा, "जब मैंने प्‍लेइंग इलेवन देखी तो मैं जानता था कि आज यह गेंदबाज़ी करेगा। वह काफ़ी अच्‍छा गेंदबाज़ है। मैंने इसको घरेलू क्रिकेट में बहुत देखा है। वह उन गेंदबाज़ों में से एक है जो दूसरों से अधिक हवा में बीट करता है। वह कैरम बॉल करता है जो हाथ के आगे से गिरती है, यह काफ़ी अच्‍छी गेंद है। यह दिखाता है कि उनके पास कई विविधता हैं और वह पंजाब के फुलटाइम गेंदबाज़ों में से एक हैं। वह उनमें से है जो गेंदबाज़ी करना पसंद करता है और कप्‍तान से गेंदबाज़ी करने को कहता है। वह उन ऑलराउंडरों में से एक है जो गेंदबाज़ी करने को देखता है। दूसरी चीज़ यह है कि वह लंबे समय से गेंदबाज़ी का मौक़ा चाहता था और उन्‍होंने इसका अच्‍छे से फ़ायदा उठाया।"
उन्‍होंने इस सीज़न अधिक गेंदबाज़ी नहीं की लेकिन अभिषेक उन कुछ भारतीय बल्‍लेबाज़ों में शामिल हैं जो सीमित ओवर क्रिकेट में गेंदबाज़ी कर सकते हैं, जैसे शिवम दुबे, रियान पराग और नितीश कुमार रेड्डी। इस तरह के कौशल की अभी भारतीय टीम में कमी महसूस हो रही है, क्‍योंकि आगामी टी20 विश्‍व कप टीम में चुने गए विशुद्ध बल्‍लेबाज़ों में कोई भी गेंदबाज़ी नहीं कर सकता है।
वहीं टाइमआउट शो पर ही टॉम मूडी ने कहा, "उसने अपना 100 प्रतिशत बचाव किया। हां वह घरेलू क्रिकेट की तरह अधिक गेंदबाज़ी नहीं करता है, इसके पीछे कुछ भी कारण हो लेकिन भारतीय क्रिकेट के भविष्‍य को देखते हुए उसको गेंदबाज़ी करनी होगी क्‍योंकि वह विशुद्ध पैकेज है। वह शीर्ष क्रम पर बल्‍लेबाज़ी करता है, एक ऐसा बल्‍लेबाज़ जो किसी भी प्रारूप में बाएं हाथ से स्पिन कर सकता है तो वह भारत के लिए बेहतरीन होने जा रहे हैं।"
उन्‍होंने कहा, "जो कारण उन्‍हें ख़ास स्पिनर बनाता है वह उनका हवा में गेंद को झुलाना और उनका गेंद को ओवर स्पिन कराना है। तो गेंद बल्‍लेबाज़ का सामना करते समय उनकी ओर सीम से टर्न होती है, वह साइड से स्पिन नहीं कराता है। वह ओवर स्पिन कराता है और उनके पास चतुर कैरम बॉल भी है जिस पर उन्‍होंने काम किया है और उन्‍हें इस मैच में हेटमायर का विकेट भी इसी गेंद पर मिला।"