मैच (14)
IND v ENG (1)
PSL 2024 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
Marsh Cup (1)
NZ v AUS (1)
CWC Play-off (3)
WPL (1)
ख़बरें

ऑस्ट्रेलिया में रन बनाने का दबाव ख़ुद के कंधों पर उठाना चाहते हैं एल्गर

साउथ अफ़्रीकी कप्तान का मानना है कि हरी-भरी पिचों से उनकी टीम को कोई परेशानी नहीं होगी

साउथ अफ़्रीकी गेंदबाज़ों का समर्थन करने के लिए एल्गर का रन बनाना काफ़ी आवश्यक है  •  Getty Images

साउथ अफ़्रीकी गेंदबाज़ों का समर्थन करने के लिए एल्गर का रन बनाना काफ़ी आवश्यक है  •  Getty Images

डीन एल्गर ने अपने बल्लेबाज़ो से भले ही कहा है कि वह अपनी ख़्याति ख़ुद बनाएं और बढ़िया प्रदर्शन करने की कोशिश करें लेकिन टीम के लिए एल्गर ख़ुद भी रन बनाने का बोझ अपने कंधों पर उठाने के लिए भी तैयार हैं। एल्गर चाहते हैं कि शीर्ष क्रम के सभी बल्लेबाज़ ऑस्ट्रेलिया में जम कर रन बटोरें।
साउथ अफ़्रीका की टीम में एल्गर और तेम्बा बवूमा ही ऐसे बल्लेबाज़ हैं, जिनके पास ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट खेलने का अनुभव है। साउथ अफ़्रीका के मजबूत गेंदबाज़ी आक्रमण का साथ देने के लिए इन दोनों बल्लेबाज़ों को रन बनाने का काफ़ी बोझ अपने कंधों पर लेना होगा। इस मामले में एल्गर की भूमिका और भी ज़्यादा महत्वपूर्ण होने वाली है। उनके नाम 13 टेस्ट शतक हैं, जबकि बाक़ी के साउथ अफ़्रीकी बल्लेबाज़ों के नाम सिर्फ़ चार टेस्ट शतक हैं। इसके अलावा टीम में उनके बल्लेबाज़ी का औसत भी सबसे ज़्यादा (38.83) है। वहीं ऑस्ट्रेलिया के पास दो ऐसे बल्लेबाज़ हैं (मार्नस लाबुशेन और स्टीव स्मिथ) जिनका औसत 60 से ज़्यादा है।
एल्गर ने कहा, "सभी बल्लेबाज़ों को रन बनाने की ज़िम्मेदारी उठानी होगी। हाल के दिनों में हमारी बल्लेबाज़ी क्रम के बारे में काफ़ी चर्चा हुई है। हालांकि यह खिलाड़ियों के लिए ऊपर उठने और एक साथ मिल कर खेलने का समय है। हमारे पास प्रतिभाशाली खिलाड़ियों का समूह है। हालांकि जब टेस्ट क्रिकेट की बात आती है तो वे थोड़े अनुभवहीन हैं लेकिन उन्हें बस सही मौक़े की तलाश कर भुनाने का प्रयास करना है।"
रयान रिकल्टन के टीम में चयनित नहीं होने से काफ़ी विवाद हुआ है। टखने की सर्ज़री के कारण उन्हें इस दौरे के लिए अनफ़िट माना गया था, लेकिन घरेलू क्रिकेट में वह काफ़ी रन बना रहे हैं। वहीं एल्गर ने इस मामले में ज़्यादा कुछ नहीं कहा। साथ ही जिन खिलाड़ियों का इस दौरे के लिए चयन हुआ है, वह उनका समर्थन कर रहे हैं। एल्गर उस टेस्ट टीम का हिस्सा थे, जिसने 2012 और 2016 में ऑस्ट्रेलिया में सीरीज़ जीता था। हालांकि एक बात यह भी है कि उस समय टीम में ग्रेम स्मिथ, एबी डिविलियर्स, हाशिम अमला, जैक कैलिस और फ़ाफ़ डुप्लेसी जैसे खिलाड़ी शामिल थे।
एल्गर ने कहा, "मैं हमेशा रन बनाने का भार उठाता हूं। मैं सीनियर बल्लेबाज हूं। कप्तान होने के बाहरी दबावों के साथ मुझे रन बनाने हैं। मुझे लगता है कि यह एक ऐसा दबाव है, जो मुझे बढ़िया प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करता है।"
शुरूआती टेस्ट में प्रयोग किए जाने वाली पिच काफ़ी हरी-भरी है। हालांकि एल्गर का मानना है कि इससे उनकी टीम को कोई परेशानी नहीं होगी।
उन्होंने कहा, "विकेट हमारी गेंदबाज़ी इकाई के लिए थोड़ा अनुकूल दिखता है, जो हमारे लिए अच्छा है। हम साउथ अफ़्रीका से आते हैं, जहां विकेट काफ़ी हरे होते हैं।"

एंड्रयू मैकग्लाशन ESPNcricinfo के डिप्टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।