मैच (9)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
आईएलटी20 (2)
बीपीएल 2023 (1)
ख़बरें

रसल डॉमिंगो : भारतीय टीम के पलटवार से सचेत रहना होगा

बांग्लादेश के प्रमुख कोच ने अपने अनुभवी खिलाड़ी मुशफ़िकुर और महमुदउल्लाह का समर्थन किया

भारत के विरुद्ध चल रही वनडे सीरीज़ में 1-0 की बढ़त बनाने वाली बांग्लादेश के प्रमुख कोच रसल डॉमिंगो ने अपनी टीम द्वारा दिखाए चरित्र की प्रशंसा की है। साथ ही उन्होंने बुधवार को खेले जाने वाले दूसरे मैच में भारतीय टीम के पलटवार से सचेत रहने का आदेश दिया है। मेज़बान टीम ने 136 के स्कोर पर नौ विकेट गंवाने के बाद मेहदी हसन मिराज़ और अंतिम बल्लेबाज़ मुस्तफ़िज़ुर रहमान की 51 रनों की साझेदारी से रोमांचक जीत दर्ज की।
डॉमिंगो ने कहा कि बांग्लादेश टीम जानती है कि अगर उसे भारत के ख़िलाफ़ लगातार दूसरी द्विपक्षीय वनडे सीरीज़ जीतनी है तो उसे और बेहतर बल्लेबाज़ी करनी होगी। प्रमुख कोच ने कहा, "मैं बांग्लादेश के साथ कई मज़ेदार मुक़ाबलों का हिस्सा रहा हूं। हमने कुछ क़रीबी मैच जीते तो कुछ हारे हैं लेकिन यह सबसे क़रीबी मुक़ाबला था। यह इतना क़रीब नहीं आना चाहिए था। जब हमें चार विकेट शेष रहते 59 रनों की आवश्यकता थी, हम एक बढ़िया स्थिति में थे। यह परफ़ेक्ट प्रदर्शन नहीं था और बहुत काम किया जाना है। हालांकि उस स्थिति से मैच जीतना इस टीम के चरित्र के बारे में बहुत कुछ कहता है।"
उन्होंने आगे कहा, "इस प्रारूप में बहुत आत्मविश्वास है और बांग्लादेश में हमारा रिकॉर्ड बहुत अच्छा है। विश्व की एक बड़ी टीम भारत के विरुद्ध खेलने का उत्साह है। हम जानते हैं कि भारत तगड़ा पलटवार करेगा। हमें पहले मैच से बेहतर क्रिकेट खेलना होगा, विशेषकर बल्ले के साथ। हम एक बार फिर नहीं बच पाएंगे।"
डॉमिंगो ने बताया कि मंगलवार को ट्रेनिंस सत्र के दौरान उन्होंने टीम के साथ बातचीत की और उन्हें पिछले मैच के उत्साह को भुलाकर वर्तमान में रहने का संदेश दिया। उन्होंने कहा, "सभी खिलाड़ी प्रसन्न थे और होना भी चाहिए। यह हमारे लिए एक बेहतरीन जीत थी। हालांकि यह हो चुका है। हमने एक लंबी चर्चा की। हमें पिछले मैच से सकारात्मक पहलुओं को लेकर कल सभी विभागों में बेहतर करने का प्रयास करना है। हम जानते हैं कि यह एक कठिन मैच होगा।"
अनुभवी मुशफ़िकुर रहीम और महमुदउल्लाह की फ़ॉर्म को लेकर डॉमिंगो चिंतित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि महमुदउल्लाह पहले मैच में अधिक रक्षात्मक होने की बजाय तेज़ गति से रन बना सकते थे।
डॉमिंगो ने कहा, "सबसे पहले तो मैं अपने खिलाड़ियों का समर्थन करूंगा। ज़िम्बाब्वे में खेले गए अंतिम दो मैचों में महमुदउल्लाह ने 80 और 39 का स्कोर बनाया था। मैं यह नहीं कहूंगा (कि अब उनके रिप्लेसमेंट तलाशने का समय आ गया है)। दोनों खिलाड़ी ऐसे दौर से गुज़रे हैं जहां उन्हें रनों की तलाश थी।"
उन्होंने आगे कहा, "एक वनडे पहले महमुदउल्लाह ने 80 रन बनाए थे। मुझे उनको लेकर कोई चिंता नहीं है। सभी खिलाड़ी अपने करियर में ऐसे दौर से गुज़रते हैं और मुझे उनकी क्षमता और बल्लेबाज़ी पर पूरा विश्वास है। मुझे लगा कि वह रन बनाने से ज़्यादा विकेट बचाने पर ध्यान दे रहे थे और उनकी तीव्रता कम हो गई। इसी वजह से वह लेग स्टंप की गेंद पर चूक गए। अगर वह रन बनाने को देख रहे होते तो उसे दो रन या चौके के लिए भेज देते। बात यहां विकेट बचाने की बजाय सकारात्मक होकर खेलने की है।"
इसके अलावा कोच ने चोटिल तमीम इक़बाल की जगह नाजमुल हुसैन शांतो को चुनने के फ़ैसले का बचाव किया।
उन्होंने कहा, "मुझे दाएं और बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज़ों का संयोजन पसंद है। वह (शांतो) सफ़ेद गेंद क्रिकेट में अपने पैर जमा रहे हैं। टी20 विश्व कप में उन्होंने दो अर्धशतक लगाए। पहले 12 टेस्ट मैचों में जाक कैलिस की औसत केवल 12 थी और फिर वह विश्व के एक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी बने।"
डॉमिंगो को लगता है कि शांतो को अपने प्रदर्शन में निरंतरता लानी होगी। वह जानते हैं कि शांतो ने कुछ कठिन पिचों का सामना किया है और ऐसे खिलाड़ियों के साथ धैर्य रखने की आवश्यकता है।
पहले वनडे में पांच विकेट लेने वाले शाकिब अल हसन की गेंदबाज़ी फ़ॉर्म ने डॉमिंगो को ख़ुश किया है। उन्हें लगा कि शाकिब हमेशा से गेंद के साथ अच्छा करने वाले थे। उन्होंने कहा, "मैं जानता हूं कि उन्हें कंधे को लेकर कुछ समस्या है। शायद वह गेंद को इतना स्पिन नहीं करवाने को देख रहे हैं। वह इतने सारे टी20 मैचों में गेंद को बस स्टंप की लाइन में डालने का प्रयास कर रहे हैं।"
डॉमिंगो ने आगे कहा, "मुझे लगा पिछले मैच में गति और कोण में उनके किए गए बदलाव शानदार थे। सचिन तेंदुलकर के बाद उनके नाम सर्वाधिक मैन ऑफ़ द मैच पुरस्कार हैं तो आप जानते हैं कि वह कभी ना कभी आपके लिए वैसा प्रदर्शन करेंगे।

मोहम्मद इसाम (@isam84) ESPNcricinfo के बांग्लादेशी संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।