6- 4000 रन और 200 विकेट का डबल बनाने वाले शाकिब अल हसन विश्व के छठे खिलाड़ी बने हैं। उन्होंने 59 मैच में यह डबल हासिल कर सर इयन बॉथम के सबसे तेज़ 69 मैच का रिकॉर्ड तोड़ा।

8/42- साजिद ख़ान के यह आंकड़े अब बांग्लादेश के ख़िलाफ़ किसी भी गेंदबाज़ के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी आंकड़े हैं। उन्होंने स्टुअर्ट मैकगिल के 8/108 का रिकॉर्ड तोड़ा, जो कि उन्होंने फ़तुल्लाह में 2006 में बनाया था। यह 2014 में बांग्लादेश के तैजुल इस्लाम द्वारा किए गए 8/39 के प्रदर्शन के बाद बांग्लादेश में दूसरा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शन भी है।

12/128- साजिद ने मैच में 12 विकेट हासिल किए, जो कि नेथन लायन के 2017 के चट्टोग्राम टेस्ट के 13/154 के प्रदर्शन के बाद बांग्लादेश में किसी भी विदेशी गेंदबाज़ का दूसरा सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शन है। यह लायन और मेहदी हसन मिराज़ के 12/117 के बाद बांग्लादेश में तीसरा सर्वश्रेष्ठ मैच प्रदर्शन भी है।

3- पाकिस्तान के लिए इससे पहले अब्दुर क़ादिर और सरफ़राज़ नवाज़ बांग्लादेश के ख़िलाफ़ नौ विकेट ले चुके हैं। इस तरह यह बांग्लादेश के ख़िलाफ़ किसी भी पाकिस्तानी गेंदबाज़ का तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। इसके अलावा यह पाकिस्तान के लिए पिछले बीस सालों में दूसरा सर्वश्रेष्ठ मैच प्रदर्शन भी है।

87- यह पहली पारी में बांग्लादेश का संयुक्त न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले 2002 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ भी बांग्लादेशी टीम पहली पारी में 87 रन पर आलआउट हुई थी। अगर सभी पारियों को मिला दे तो यह बांग्लादेश का संयुक्त रूप से चौथा न्यूनतम स्कोर है।

7- यह साल 2021 में पाकिस्तान की सातवीं टेस्ट जीत है, जो कि किसी भी साल में उनके लिए संयुक्त रूप से सर्वाधिक है। इससे पहले 1982 और 2002 में भी पाकिस्तानी टीम ने सात टेस्ट मैच जीता था।

बाबर आज़म ने इस साल कप्तानी में डेब्यू किया था। स्टीव वॉ (1999 में 8 टेस्ट जीत) और रिकी पोंटिंग (2004 में 7 टेस्ट जीत) के बाद यह किसी भी कप्तान के लिए पहले साल में सर्वाधिक टेस्ट जीत है।

1291- इस टेस्ट में 1291 गेंद फेंके गए, जो कि गेंद के हिसाब से बांग्लादेश में दूसरा सबसे छोटा मैच है। 2018 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ हुआ मैच सिर्फ़ 1287 गेंद तक चला था। यह मैच भी ढाका में हुआ था। आपको बता दें कि आज ख़त्म हुआ मैच अधिकतर समय बारिश से प्रभावित रहा।

300- पारी की जीत में यह पाकिस्तानी टीम का तीसरा न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले उन्होंने 1986 में श्रीलंका को 230 रन और 1955 में न्यूज़ीलैंड को सिर्फ़ 289 रन बनाकर ही हराया था।

संपत बंडारूपल्ली ESPNcricinfo में सांख्यिकीविद हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के दया सागर ने किया है