भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) सचिव जय शाह ने पुष्टि की है कि भारतीय टीम साउथ अफ़्रीका के दौरे पर जाएगी। हालांकि इस दौरे के कार्यक्रम में बदलाव होगा और केवल तीन टेस्ट और तीन वनडे मैच खेले जाएंगे। निर्धारित कार्यक्रम में मौजूद चार टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबले भविष्य में खेले जाएंगे।

शाह ने एएनआई को बताया, "बीसीसीआई ने सीएसए से पुष्टि की है कि भारतीय टीम तीन टेस्ट और तीन वनडे के लिए दौरा करेगा। बाक़ी के चार टी20 मैच बाद में खेले जाएंगे।"

साउथ अफ़्रीका में नए कोरोना प्रकार ओमिक्रॉन के कारण इस दौरे पर संदेह के बादल थे। साउथ अफ़्रीका में कई लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं और विशेष रूप से गॉटेंग प्रांत में जहां केपटाउन में पहले दो टेस्ट मैच खेले जाने है।

नीदरलैंड की टीम सेंचुरियन में पहला वनडे खेलने के बाद तीन वनडे मैचों का अपना दौरा स्थगित करते हुए घर वापस लौट गई। यूरोपियन यूनियन के कई देशों ने अफ़्रीका के दक्षिणी देशों पर यात्रा प्रतिबंध भी लगा दिए हैं।

हालांकि इंडिया ए टीम अपनी चार दिवसीय मैचों की सीरीज़ के लिए वहीं रुकी हुई हैं। दूसरा मैच शुक्रवार को समाप्त हुआ और तीसरा सोमवार को शुरू होने वाला है। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी दूसरे टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर कहा था कि बहुत जल्द साउथ अफ़्रीका दौरे की तस्वीर साफ़ होगी

कोहली ने कहा था, "देखिए यह [उनके लिए आश्चर्य और चिंता करना और इस बारे में बात करना कि क्या दौरा आगे बढ़ेगा और प्रोटोकॉल क्या होंगे] बहुत स्वाभाविक है। हम सामान्य परिस्थिति में नहीं खेल रहे हैं। इसमें बहुत सारी योजनाएं और तैयारी शामिल है। कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो इस समय समूह का हिस्सा नहीं है और चार्टर प्लेन में साउथ अफ़्रीका की उड़ान भरने से पहले टीम बबल में जुड़ने के लिए क्वारंटीन रहेंगे। यह ऐसी चीज़ें है जिनपर आप जल्द से जल्द स्पष्टता चाहते हैं। इसलिए हमने टीम के सभी वरिष्ठ सदस्यों से बात की। राहुल भाई ने टीम के भीतर यह बातचीत शुरू की जो अच्छी बात है।"

यह देखना होगा कि बीसीसीआई और सीएसए कब वह चार टी20 मैचों खेलने के लिए सहमत होते हैं क्योंकि 2022 में एक और टी20 विश्व कप खेला जाना है और दोनों टीमों के अन्य क्रिकेट कार्यक्रम निर्धारित है।