मैच (16)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

स्टोक्स : खिलाड़ी गाड़ी नहीं है जो आप ईंधन भर दें और वह दौड़ने के लिए तैयार रहें

इंग्लैंड टेस्ट कप्तान ने उम्मीद जताई कि उनके वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने का निर्णय क्रिकेट के बढ़ते कार्यभार पर एक चेतावनी होगा

अपने अंतिम वनडे में पवेलियन की तरफ़ लौटते हुए बेन स्टोक्स  •  AFP/Getty Images

अपने अंतिम वनडे में पवेलियन की तरफ़ लौटते हुए बेन स्टोक्स  •  AFP/Getty Images

बेन स्टोक्स ने क्रिकेट अधिकारीयों को खिलाड़ियों के साथ "गाड़ी" जैसा व्यवहार ना करने का आह्वान किया है और उम्मीद जताई है कि उनके वनडे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने के निर्णय से सब सचेत होंगे। स्टोक्स अपने 105वें और आख़िरी वनडे मुक़ाबले से पहले पत्रकारों से बात कर रहे थे।
हाल ही में टेस्ट टीम के कप्तान नियुक्त किए गए स्टोक्स ने उस प्रारूप की ओर अपनी प्रतिबद्धता के बारे में आश्वासन दिया। इस सीज़न उन्होंने न्यूज़ीलैंड और भारत के ख़िलाफ़ चार टेस्ट मैचों के बाद टी20 सीरीज़ के दौरान विश्राम किया था और साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ वनडे मैचों के बाद टी20 सीरीज़ में भी नहीं खेलेंगे। इस साल उन्होंने द हंड्रेड से भी अपना नाम बाहर रखा है ताकि वह साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध टेस्ट सीरीज़ के लिए तैयार रहें।
स्टोक्स ने 'टेस्ट मैच स्पेशल' पर कहा, "हम (खिलाड़ी)गाड़ी नहीं हैं। आप हममें ईंधन भरकर नहीं सोच सकते कि हम फिर से दौड़ने के लिए तैयार हो जाएंगे। हमने टेस्ट सीरीज़ खेला और उसके तुरंत बाद वनडे टीम को भी खेलना पड़ा। यह थोड़ा हास्यास्पद था। मुझे लगता है तीनों प्रारूप मिलाकर बहुत ज़्यादा क्रिकेट खेला जा रहा है। मैंने जब खेलना शुरू किया था तब मैं तीनों खेलता था और इतना कठोर कार्यक्रम नहीं होता था। आप ज़रूर हर मैच का हिस्सा होना चाहते हैं लेकिन आपको सोचना पड़ता है कि पांच या छह महीने बाद आपके शरीर पर क्या असर पड़ेगा।"
उन्होंने आगे कहा, "जितना क्रिकेट खेला जाएगा वह इस खेल का लिए अच्छी बात है लेकिन आप को खेल की गुणवत्ता को भी चरम पर रखना है। आप चाहते हैं कि टीमें अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को हमेशा मैदान पर उतारें। हालाँकि अभी आप इंग्लैंड ही नहीं कई देशों में देखेंगे कि वह सीरीज़ में कुछ खिलाड़ियों को विश्राम देने पर विवश हो रहे हैं।"
स्टोक्स ने जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड के उदाहरण देते हुए उम्मीद जताई कि वह अब टेस्ट और टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में लंबे समय तक सफलतापूर्वक खेल दिखा पाएंगे। एंडरसन ने 2015 से और ब्रॉड ने 2016 से इंग्लैंड के लिए सीमित ओवर क्रिकेट नहीं खेला है और 2022 में टेस्ट टीम का अहम हिस्सा हैं। स्टोक्स ने बताया कि उन्होंने कार्यभार संभालने के सिलसिले में 36-वर्षीय ब्रॉड से बात की थी और उन्हें लगा कि उनका फ़ैसला बिलकुल सही था।
स्टोक्स ने कहा, "मैंने स्टुअर्ट से पूछा कि क्या वह आज भी 160 टेस्ट के क़रीब हैं क्योंकि वह सफ़ेद गेंद क्रिकेट नहीं खेलते, तो उन्होंने हां में जवाब दिया। मुझे भी 140-150 टेस्ट खेलने हैं। 31 साल की उम्र में एक प्रारूप छोड़ना शायद थोड़ा अकस्मात है लेकिन टी20 में आप दो या तीन ओवर डाल सकते हैं। मैं जब 35 या 36 साल की उम्र में इस निर्णय पर विचार करूंगा तब उम्मीद है यह मुझे ठीक फ़ैसला लगेगा।"
स्टोक्स ने यह भी बताया कि वनडे क्रिकेट से संन्यास लेने का फ़ैसला उन्होंने ओवल में भारत के विरुद्ध पहले वनडे मैच के बाद किया। वह कई खिलाड़ियों से मिले और एक ने बताया, "अगर आप में रिटायरमेंट को लेकर थोड़ा भी शक़ है तो इसमें कोई शक़ नहीं है कि आपका फ़ैसला सही है।" और फिर वह वनडे कप्तान जॉस बटलर से मिले। स्टोक्स ने बताया, "मैंने उनसे बताया कि यदि मैच का हाल कुछ और होता तो मैं और ओवर ज़रूर डालता। ऐसे में उन्होंने कहा कि मुझे इस टीम को कुछ साबित करने को नहीं रहा और मेरे लिए काफ़ी क्रिकेट बाक़ी है। यह सुनकर अच्छा लगा।
"इस बातचीत के बाद मैंने पांच मिनट एकांत में गुज़ारे। फिर मैंने जॉस से कहा कि मैं ख़ुद को थोड़ा व्यर्थ महसूस कर रहा हूं। यह एक अजीब स्थिति थी जब मुझे लगा मुझे टीम की देखभाल करनी चाहिए थे तब कप्तान और मेडिकल टीम और कोच मेरा ख़्याल रख रहे थे। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में ऐसा होना सही नहीं।"

विदूशन अहंतराजा ESPNcricinfo के एसोशिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।