मैच (16)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
Women's Tri-Series (1)
फ़ीचर्स

350 से अधिक का लक्ष्य देने के बाद कभी नहीं हारी है भारतीय टीम

दूसरी पारी में भी अर्धशतक लगाकर शार्दुल ने की हरभजन सिंह के एक दिलचस्प रिकॉर्ड की बराबरी

शतकीय साझेदारी के दौरान पंत और शार्दुल  •  Getty Images

शतकीय साझेदारी के दौरान पंत और शार्दुल  •  Getty Images

34- चौथी पारी में 350 से अधिक का लक्ष्य देने के बाद भारत कभी भी मैच नहीं हारा है। ऐसे 49 मैचों में भारत ने 34 मैच जीते हैं, जबकि 15 मैच ड्रॉ रहे हैं। भारत के ख़िलाफ़ चौथी पारी में लक्ष्य का सफल पीछा करते हुए सर्वाधिक स्कोर 339 रन है, जो ऑस्ट्रेलिया ने 1977 में पर्थ में बनाया था।
6- टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सिर्फ छह ऐसे बल्लेबाज़ हुए हैं, जिन्होंने नंबर आठ पर आकर दोनों पारियों में अर्धशतक लगाया हो। शार्दुल ठाकुर इस सूची में शामिल होने वाले सबसे नए खिलाड़ी हैं। छह लोगों की इस सूची में तीन भारतीय ही हैं। शार्दुल से पहले हरभजन सिंह और ऋद्धिमान साहा ने न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध क्रमशः 2010 और 2016 में यह कारनामा किया था।
4- एशिया के बाहर टेस्ट इतिहास में सिर्फ़ चौथी बार और इंग्लैंड में पहली बार ऐसा हुआ, जब भारत के शीर्ष चार बल्लेबाज़ों ने 40+ के स्कोर किए। इससे पहले 2010 में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ नागपुर टेस्ट में भारत के शीर्ष चार बल्लेबाज़ों ने कम से कम अर्धशतक लगाया था।
148.2- भारत ने दूसरी पारी में 148.2 ओवर खेले। इससे पहले नेपियर में 2009 में भारतीय टीम ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ इससे अधिक 180 ओवर खेले थे। भारत ने इंग्लैंड में इससे पहले सिर्फ़ दो बार ही इससे अधिक दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी की है- 1967 लीड्स टेस्ट में 209.2 ओवर और 1979 ओवल टेस्ट में 150.5 ओवर।
466- यह भारत का ओवल के मैदान पर दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। इसके अलावा यह भारत का इंग्लैंड में दूसरी पारी का भी दूसरा सबसे बड़ा स्कोर है। इससे पहले 1967 में लीड्स में भारतीय टीम ने दूसरी पारी में 510 का स्कोर किया था। यह 2007 में ओवल में 664 का स्कोर करने के बाद भारत का इंग्लैंड में सर्वश्रेष्ठ स्कोर भी है।
421- भारतीय टीम ने दूसरी पारी में अंतिम बार 2013 में 400+ का स्कोर किया था। तब भारत ने साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ 421 रन बनाए थे।

संपत बंडारुपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिस्टिशियन हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर दया सागर ने किया है