मैच (7)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
महाराजा टी20 (2)
आयरलैंड बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
द हंड्रेड (महिला) (1)
ख़बरें

शमी को सिर्फ़ एक विकेट मिला लेकिन उन्होंने इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों को हिलाए रखा

इस दौरान विश्व के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाज़ जो रूट को भी कुछ समझ नहीं आ रहा था

बर्मिंघम टेस्ट के दौरान मोहम्मद शमी ने भारत की ओर से एक छोर से लगातार गेंदबाज़ी की लेकिन उन्हें सफलता दिन के एकदम अंत में पारी के 22वें ओवर में मिली। इस दौरान तीन बार बारिश के कारण मैच रूका और उनका 13 ओवर का स्पेल एक, दो, चार और छह ओवर के स्पेल में बंटता चला गया।
हालांकि इस दौरान उन्होंने लगातार इंग्लिश बल्लेबाज़ों को परेशान किए रखा। लगातार बारिश के बावज़ूद बेहतर रख-रखाव के कारण पिच पर पानी की एक बूंद भी नहीं थी लेकिन ऐसा लग रहा था कि शमी मिट्टी या घास पर नहीं बल्कि पानी पर ही गेंदबाज़ी कर रहे थे।
उनकी अधिकतर गेंदें सीधी और फ़ुल थीं, जिसे आराम से ड्राइव किया जा सकता है। लेकिन शमी की गेंदों पर आप ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि उनमें स्विंग और सीम होता है। कब गेंद स्विंग हो जाए और कब सीम, कब अंदर आए या बाहर, ये पता भी नहीं चलता। अपने शुरुआती 10 ओवर के दौरान शमी ने कुल 14 बार बल्लेबाज़ को अंदरूनी या बाहरी किनारे से बीट कराया।
बारिश के बाद हुई पहली ब्रेक के बाद पहली ही गेंद पर शमी ने ज़ैक क्रॉली को एंगल से बाहर निकलती हुई एक वॉबल सीम गेंद फेंकी, जिसे समझने में क्रॉली पूरी तरह नाकाम रहे और बुरी तरह से बाहरी किनारे पर बीट हुए। हालांकि शमी को अभी भी विकेट नहीं मिला था। शमी ने अपने करियर में 200 से अधिक टेस्ट विकेट लिए हैं लेकिन इस दौरान लगभग मिलीमीटर के अंतर से वह लगभग इतने विकेट से चूके भी हैं। यह शमी का दुर्भाग्य ही है, लेकिन इस वज़ह से उनकी ऊर्जा में कोई कमी नहीं दिखती है।
हालांकि जसप्रीत बुमराह, शमी की तरह दुर्भाग्यशाली नहीं रहें और तो और उन्हें शमी के दुर्भाग्यशाली होने का फ़ायदा मिल रहा था। अगले ही ओवर में क्रॉली, बुमराह का शिकार थे। अब बुमराह के ख़ाते में तीन विकेट थे।
इसके बाद शमी ने जो रूट को परेशान किया जो इस साल अब तक बेहतरीन फ़ॉर्म में दिखे हैं। उन्होंने रूट को एक ड्राइव करने वाली गेंद फेंकी। रूट ड्राइव करने गए लेकिन बुरी तरह बीट हुए क्योंकि यह शमी की फ़ुल गेंद थी किसी कीवी गेंदबाज़ की नहीं। दूसरी गेंद सीधी और थोड़ी पीछे लेंथ पर थी, जो रूट के उम्मीद से अधिक उछाल ली और उनके बल्ले के हैंडल पर लगी। तीसरी गेंद लेंथ गेंद थी जिसे रूट कट करना चाहते थे, लेकिन गेंद पड़ने के बाद तेज़ी से अंदर आई और वह अंदरूनी किनारे से बीट हुए।
चौथी गेंद पर वह शफ़ल करके ऑफ़ साइड में आ गए और पैड पर लगने के बाद भी एलबीडब्ल्यू से बच गए। पांचवीं गेंद और अंदर आई और अतिरिक्त उछाल लेते हुए रूट के थाई पैड पर लगी, जिससे वह लेग-बाई लेकर आख़िरकार स्ट्राइक बदल पाए।
रूट इस समय दुनिया के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाज़ हैं, लेकिन शमी ने उनका मज़ाक बना दिया। इसके बाद रूट ने शमी की लगातार तीन गेंदों को ड्राइव करने की कोशिश की और तीन में से दो बार गेंद हवा में गई। एक गेंद तो स्लिप के ऊपर से चार रन के लिए भी निकली। इसी ओवर में शमी ने बेयरस्टो को भी बाहरी किनारे से बीट कराया।
शमी की गेंदबाज़ी कोई भयानक गेंदबाज़ी नहीं थी। शरीर या सिर को निशाना बनाकर कोई बाउंसर नहीं फेंका गया, ना किसी का ख़ून बहा, ना किसी की हड्डी टूटी, यहां तक कि एक विकेट भी नहीं मिला। लेकिन उन्होंने इंग्लैंड की निर्भिक बल्लेबाज़ी क्रम और विश्व के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट बल्लेबाज़ को डराए रखा।
रूट अगली ओवर में मोहम्मद सिराज का शिकार बने। यहां भी उन्हें शमी की मेहनत का परिणाम मिला। अगले ओवर में शमी, बेयरस्टो की गेंद पर बोल्ड होने से बाल-बाल बचे, गेंद स्टंप से बिल्कुल बगल से गुज़री। इसी ओवर में जैक लीच का कैच भी छूटा। लेकिन शमी इन सब दुर्भाग्यों से रूकने वालों में से थोड़ी ही हैं।

उस्मान समिउद्दीन ESPNcricinfo में सीनियर एडिटर हैं