मैच (7)
ENG v PAK (1)
T20WC Warm-up (5)
ENG v PAK (W) (1)
ख़बरें

शिवनारायण चंद्रपॉल, शार्लेट एडवर्ड्स और अब्दुल क़ादिर अब आईसीसी हॉल ऑफ़ फ़ेम में

सिडनी में टी20 विश्व कप के पहले सेमीफ़ाइनल से पूर्व उनका सम्मान किया जाएगा

Crab-like: Shivnarine Chanderpaul faces up with his front-on stance, South Africa v West Indies, 3rd Test, Cape Town, 4th day, January 5, 2014

अपरंपरागत बल्लेबाज़ी स्टांस शिवनारायण चंद्रपॉल का ट्रेडमार्क बना  •  Gallo Images

वेस्टइंडीज़ के शिवनारायण चंद्रपॉल, इंग्लैंड की शार्लेट एडवर्ड्स और पाकिस्तान के अब्दुल क़ादिर को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल किया गया है। सिडनी में टी20 विश्व कप के सेमीफ़ाइनल से पहले उनका सम्मान किया जाएगा।
इस सूची के 107वें सदस्य चंद्रपॉल ने 1994 में अपने डेब्यू के बाद से 21 वर्षों तक वेस्टइंडीज़ का प्रतिनिधित्व किया। उनका अपरंपरागत बल्लेबाज़ी स्टांस उनका ट्रेडमार्क बना जबकि क्रीज़ पर उनके सयंम ने एक हस्ताक्षर का काम किया। शुरुआती वर्षों में टीम से अंदर-बाहर रहने के बाद वह 2015 में अपने अंतिम मैच तक मध्य क्रम के मज़बूत स्तंभ बने रहे।
2016 में 41 शतकों और 125 अर्धशतकों की मदद से 20988 अंतर्राष्ट्रीय रनों के साथ चंद्रपॉल ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा।
आईसीसी द्वारा जारी किए गए बयान में चंद्रपॉल ने कहा, "कई दिग्गजों और अतीत के कई महान क्रिकेटरों के नक्शेक़दम पर चलना एक अद्भुत सम्मान है। मैं इस मान्यता के लिए आभारी हूं और परिवार, दोस्तों और सबसे महत्वपूर्ण रूप से वेस्टइंडीज़ क्रिकेट के और दुनिया भर के प्रशंसकों के साथ इस पल का आनंद लेना चाहता हूं जिन्होंने मेरे पूरे करियर में उत्साहपूर्वक मेरा समर्थन किया।"
हॉल ऑफ़ फ़ेम की 108वीं सदस्य बनी एडवर्ड्स ने 16 वर्ष की उम्र में इंग्लैंड का प्रतिनिधित्व करना शुरू किया था। दो दशकों के अपने करियर में उन्होंने इंग्लैंड को वनडे और टी20 विश्व कप में जीत दिलाई। वनडे मैचों में उनके 5992 रन इतिहास में किसी भी महिला द्वारा बनाए गए दूसरे सर्वाधिक रन हैं।
पिछले साल इंग्लैंड की घरेलू महिला टी20 प्रतियोगिता को उनके सम्मान में शार्लेट एडवर्ड्स कप नाम दिया गया था। इसके अगले साल एडवर्ड्स ने ख़ुद सदर्न वाइपर्स के साथ बतौर कोच यह ट्रॉफ़ी अपने नाम की।
एडवर्ड्स ने कहा, "आईसीसी हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल होना एक बड़ा सम्मान है। मैं अपने परिवार और दोस्तों, अपने साथियों और उन सभी कोचों के साथ यह पल बांटना चाहती हूं और उन्हें धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने मेरा समर्थन किया है।"
पाकिस्तान के दिग्गज लेग स्पिनर क़ादिर का 2019 में 63 वर्ष की आयु में निधन हुआ था। वह इस सूची में शामिल किए गए 109वें सदस्य हैं। उन्होंने 67 टेस्ट मैचों में 236 विकेट झटके और 1987 में इंग्लैंड के विरुद्ध 56 रन देकर नौ विकेट का उनका प्रदर्शन आज भी टेस्ट क्रिकेट के इतिहास के सर्वश्रेष्ठ आंकड़ों में से एक हैं।
क़ादिर के पुत्र उस्मान ने कहा, "मेरे परिवार की ओर से मैं अपने पिता को हॉल ऑफ़ फ़ेम में शामिल करने के लिए आईसीसी को बहुत-बहुत धन्यवाद देना चाहता हूं। यह ख़बर परिवार के लिए एक बहुत बड़ा सम्मान है। हम इसे एक बड़ी उपलब्धि के रूप में देखते हैं और मेरे पिता को बहुत गर्व होता अगर वह आज भी हमारे साथ होते।"
नवंबर 2021 में जैनेट ब्रिटिन, महेला जयवर्दना और शॉन पॉलक को हॉल ऑफ़ फ़ेम में जोड़ा गया था। इससे पहले पिछले साल खेले गए विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के पहले फ़ाइनल से पहले बॉब विलिस, वीनू मांकड़, लीरी कॉन्सटंटाइन और ऐंडी फ़्लावर समेत 10 सदस्यों का इस सूची में समावेश किया गया था।