मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: हारे हुए मैच में स्मृति और जेमिमाह ने किया निराश

रेणुका और दीप्ति की निरंतरता इस मैच में भी रही जारी

स्मृति मांधना ने दस गेंदों में एक रन बनाए  •  BCCI

स्मृति मांधना ने दस गेंदों में एक रन बनाए  •  BCCI

दूसरे मुक़ाबले में सुपर ओवर में हार का सामना करने के बाद ऑस्ट्रेलियाई टीम ने ज़बरदस्त वापसी करते हुए भारत को 21 रन से हरा दिया। टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने एलीस पेरी (75), ग्रेस हैरिस (41) और बेथ मूनी (30) की पारियों की बदौलत 172 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया। जवाब में भारतीय टीम सात विकेट खोकर सिर्फ़ 151 रन ही बना सकी। ऑस्ट्रेलिया की ओर से डार्सी ब्राउन और ऐश्ली गार्डनर ने दो-दो विकेट लिए। इस तरह से ऑस्ट्रेलिया को सीरीज़ में 2-1 की बढ़त मिल गई।
आइए देखते हैं भारतीय खिलाड़ियों को क्या रेटिंग्स मिलती है।

क्या सही, क्या ग़लत


भारत के लिए इस सीरीज़ की सबसे सकारात्मक बात यह रही कि यह टीम जल्दी हार नहीं मान रही है। आज भी जब विशाल लक्ष्य के जवाब में स्मृति मांधना और जेमिमाह रॉड्रिग्स के विकेट जल्दी-जल्दी गिर गए, शेफ़ाली वर्मा ने एक छोर से आक्रमण जारी रखा। कप्तान हरमनप्रीत कौर ने भी उनका बखूबी साथ दिया। अंतिम ओवर तक दीप्ति शर्मा ने भी संभावनाए बना रखी थी, लेकिन उन्हें दूसरे छोर से पर्याप्त सहयोग नहीं मिला। भारत के चार गेंदबाज़ों ने दो-दो विकेट लिए, जिसे एक सकारात्मक पक्ष कहा जा सकता है।
अगर कमियों की बात की जाए, तो अच्छी शुरुआत के बाद भारतीय गेंदबाज़ों ने बेथ मूनी और एलीस पेरी को पांव जमाने का मौक़ा दिया। उन्होंने कुछ कमज़ोर गेंदें की, जिसका दोनों बल्लेबाज़ों ने क़दमों का इस्तेमाल कर बेहतरीन फ़ायदा उठाया। रेणुका सिंह और देविका वैद्य को छोड़कर भारत की सभी गेंदबाज़ महंगी भी साबित हुईं। वहीं बल्लेबाज़ों ने अधिक डॉट गेंदें खेलीं, जिसका दबाव बल्लेबाज़ी क्रम पर बना। पिछले मैच की 50 डॉट गेंदों की तुलना में इस मैच में यह संख्या 55 थी।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)


शेफ़ाली वर्मा, 8: शेफ़ाली को दो जीवनदान मिला और उन्होंने इसका फ़ायदा उठाते हुए एक आतिशी अर्धशतक जड़ा। हालांकि जब उनसे पारी को अंत तक ले जाने की उम्मीद की जा रही थी, तब वह एक धीमी गेंद पर चकमा खा बैठीं।
स्मृति मांधना, 4: पिछले मैच में शानदार प्रदर्शन कर 10 अंक जुटाने वालीं स्मृति के लिए अपनी फ़ॉर्म को बरक़रार रखने का एक और मौक़ा था, लेकिन वह आज बिल्कुल भी रंग में नहीं दिखीं। उनके बल्ले पर गेंद नहीं आ रही थी और जब उन्होंने उसे तोड़ने की कोशिश की तो एक मिसटाइम शॉट पर कैच आउट हो बैठीं। 10 गेंद पर एक रन स्मृति के नाम के साथ बिल्कुल भी न्याय नहीं करते।
जेमिमाह रॉड्रिग्स, 4 : एशिया कप में शानदार फ़ॉर्म में रहने वाली जेमिमाह रॉड्रिग्स उसके बाद से लगातार ख़राब फ़ॉर्म में चल रही हैं। पहली दो मैचों की असफलता के बाद उनसे आज बड़ी उम्मीदें थीं। कुछ अच्छे शॉट लगाकर उन्होंने इन उम्मीदों को हवा भी दिया। लेकिन डार्सी ब्राउन की एक अंदर आती गेंद का उनके पास कोई जवाब नहीं था।
हरमनप्रीत कौर, 7.5: दो विकेट जल्दी गिर जाने के बाद भारतीय कप्तान ने शेफ़ाली के साथ मिलकर भारतीय पारी को संभालने की कोशिश की थी और कुछ हद तक मैच में भारत को वापस लाने में क़ामयाब भी हुई थीं। लेकिन वही हुआ जो शेफ़ाली के साथ हुआ था। हरमनप्रीत को भी शेफ़ाली की तरह जीवनदान मिला था, लेकिन वह उसका फ़ायदा नहीं उठा पाईं और मैच को अंतिम तक ले जाने से पहले ही पवेलियन लौट गईं।
देविका वैद्य, 8: पिछले मैच की अंतिम गेंद पर चौका जड़कर इतिहास के पन्नों में अपन नाम दर्ज करवाने वाली देविका ने गेंदबाज़ी में तो प्रभावित किया, लेकिन जब उन्हें बल्लेबाज़ी में ऋचा घोष से ऊपर भेजा गया तो वह सिर्फ़ एक रन के निजी स्कोर पर अपना विकेट फेंककर वापस चल बैठीं।
ऋचा घोष, 5 : ऋचा ने पिछले मैच में कमाल किया था, तो लोगों को फिर से इस मैच में उसी कमाल के दोहराने की उम्मीद थी। लेकिन ऐसा नहीं हो सका और वह दूसरी ही गेंद को हवा में खेल बैठीं। कीपिंग में उन्होंने एक बेहतरीन स्टंपिंग की तो उन्हें एक अतिरिक्त अंक मिलेंगे।
दीप्ति शर्मा, 7.5: दीप्ति शर्मा अपने शुरुआती दो ओवरों में बहुत महंगी साबित हुई थीं, लेकिन उन्होंने वापसी करते हुए दो विकेट चटकाए। वहीं जब वह बल्लेबाज़ी के लिए आईं तो एक छोर से विकेट लगातार गिर रहे थे। लेकिन उन्होंने एक छोर संभालते हुए भारत को अंतिम ओवर तक मैच में बनाए रखा। उन्होंने एक बेहतरीन कैच भी लपका, जिसके लिए उन्हें आधे अतिरिक्त अंक दिए जाएंगे।
राधा यादव, 5.5: राधा यादव पिछले कुछ समय से लगातार निराश कर रही हैं। वह ना तो रन रोक पा रही हैं और ना ही उन्हें विकेट मिल रहा है। पिछली पांच पारियों में उनके नाम विकेट नहीं है। आज भी उन्होंने दो ओवर में 18 रन दिए और उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। हालांकि दो बेहतरीन कैच लपक कर उन्होंने अपने लिए आधे अतिरिक्त अंक बनाए।
अंजली सरवानी, 7 : विश्व की नंबर एक टी20 बल्लेबाज़ तालिया मैक्ग्रा को एक बेहतरीन गेंद पर बोल्ड करके अपना पहला अंतर्राष्ट्रीय विकेट लेने वाली अंजली सरवानी इसके बाद अपना लाइन और लेंथ खो बैठीं और ऑफ़ स्टंप के बहुत बाहर कई कमज़ोर गेंदें फेंकी। हालांकि डेथ ओवर्स में आते हुए उन्होंने एलीस पेरी का महत्वपूर्ण विकेट लिया, जिसके कारण ऑस्ट्रेलिया के लगभग 15-20 रन कम हो गए।
राजेश्वरी गायकवाड़, 5: ब्रेबोर्न स्टेडियम की हरी पिच पर तेज़ गेंदबाज़ मेघना सिंह की जगह टीम में आईं राजेश्वरी गायकवाड़ से कप्तान हरमनप्रीत को भी उम्मीदें रही होंगी, लेकिन उन्होंने तीन ओवरों में 11.33 की महंगी इकॉनमी से रन देते हुए उनको निराश किया। उनके नाम आज एक भी विकेट नहीं था।
रेणुका सिंह, 9: हर मैच की तरह रेणुका ने इस मैच में भी सबको प्रभावित किया। जहां अन्य भारतीय गेंदबाज़ ख़ासा महंगे साबित हो रहे थे, उन्होंने बस छह की इकॉनमी से रन देते हुए दो महत्वपूर्ण विकेट लिए। जहां नई गेंद से उन्होंने विपक्षी कप्तान हीली को पवेलियन भेजा, वहीं डेथ ओवर्स में ख़तरनाक बन रही हैरिस को भी वापसी का रास्ता दिखाया।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।dayasagar95