मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : टीम इंडिया के नए चेज़ मास्टर बन रहे हैं श्रेयस

तेज़ गेंदबाज़ नॉर्खिये साउथ अफ़्रीका के लिए दो धारी तलवार साबित हो रहे हैं

श्रेयस ने पिछली छह वनडे पारियों में पांच बार 50 के ऊपर का स्कोर बनाया है  •  BCCI

श्रेयस ने पिछली छह वनडे पारियों में पांच बार 50 के ऊपर का स्कोर बनाया है  •  BCCI

रांची में भारत की ज़बरदस्त वापसी के बाद वनडे सीरीज़ अब 1-1 की बराबरी पर आ खड़ी है और इसका फ़ैसला अब दिल्ली में होने वाले निर्णायक मुक़बाले में होगा। इतिहास कहता है कि सीरीज़ दांव पर रहने पर भारतीय टीम अपनी एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा देती है। 2016 के बाद से भारत ने 10 निर्णायक वनडे मैच खेले हैं जिसमें से आठ में टीम ने जीत दर्ज की है। ऐसे में भारत का पलड़ा थोड़ा भारी रहने की उम्मीद है। दूसरी ओर सीरीज़ जीतने और विश्व कप सुपर लीग में ऊपर की ओर चढ़ने के लिए साउथ अफ़्रीकी टीम पिछले मैच के प्रदर्शन को भुलाकर दिल्ली में हमला करने के इरादे से उतरेगी। आइए इस मैच से जुड़े कुछ दिलचस्प आंकड़ों से आपको रुबरू कराते हैं।
बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ के विरुद्ध शांत पड़ जा रहे हैं गब्बर
बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ के ख़िलाफ़ किसी बल्लेबाज़ के संघर्ष करने की बात आती है तो सबसे पहले कोई दाएं हाथ का बल्लेबाज़ ही दिमाग़ में आता है। हालांकि यहां मामला थोड़ा उल्टा है। पिछले तीन सालो में भारत के लिए वनडे में सबसे निरंतर प्रदर्शन करने वालों में से एक शिखर धवन बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ संघर्ष कर रहे हैं। 2021 के बाद से धवन उनके ख़िलाफ़ 12 पारियों में पांच बार आउट हुए हैं, जो शीर्ष 10 टीमों के किसी भी बल्लेबाज़ द्वारा सर्वाधिक है। इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी 60 का रहा है। मौजूदा सीरीज़ में वेन पार्नेल ने धवन की नींद उड़ा रखी है और दो मैचों में दो बार पवेलियन उन्हें भेजा है। पार्नेल का जब भी धवन से सामना हुआ है, हर बार साउथ अफ़्रीकी तेज़ गेंदबाज़ ने बाज़ी मारी है।
टीम इंडिया के नए चेज़ मास्टर श्रेयस
पिछले मैच के शतकवीर (113*) और इस साल भारत के लिए सबसे ज़्यादा वनडे रन बनाने वालों में से एक श्रेयस अय्यर ने पिछली छह वनडे पारियों में पांच बार 50 के ऊपर का स्कोर बनाया है। पूरे आत्मविश्वास के साथ बल्लेबाज़ी कर रहे श्रेयस ने अपने शांत रवैये और मिडिल ओवरों में स्ट्राइक रोटेट करने की क्षमता से कोहली के बाद वनडे में धीरे-धीरे भारत के लिए दूसरा चेज़ मास्टर बनना शुरू कर दिया है। लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रेयस की औसत 50 से ज़्यादा है और वनडे में दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए वह 106 के स्ट्राइक रेट से रन बना रहे हैं। साथ ही लक्ष्य का पीछा करते हुए श्रेयस ने 12 पारियों में छह बार 50 का आंकड़ा पार किया है।
डिकॉक को रास नहीं आ रही तेज़ गेंदबाज़ी
साउथ अफ़्रीका के सबसे धुरंधर बल्लेबाज़ों में से एक क्विंटन डिकॉक ने 2021 के बाद से ज़बरदस्त निरंतरता दिखाई है और 57.7 की अद्भुत औसत से 13 पारियों में 692 रन बनाए हैं। हालांकि हाल के दिनों में उन्हें तेज़ गेंदबाज़ों ने थोड़ा परेशान किया है। 2020 के बाद से तेज़ गेंदबाज़ों ने डिकॉक को 10 बार चलता किया है, जिसमें से सात बार तो वह पावरप्ले में ही उनके शिकार बने हैं। इस दौरान तेज़ गेंदबाजों ने उन्हें पांचवें से सातवें स्टंप के आसपास गेंदबाज़ी करके बांधे रखा है। पिछले मैच में देखा गया कि डिकॉक ने सिराज की ऑफ़ स्टंप के बाहर जाती गेंद का पीछा किया और उसे अपने विकेटों पर खेल गए। हालांकि भारत उनकी पसंदीदा विपक्षी टीमों में से एक है। ऐसे में सीरीज़ के निर्णायक मैच में भारतीय टीम भी उनको पांचवें से सातवें स्टंप के आसपास गेंदबाज़ी करना चाहेगी।
दो धारी तलवार अनरिख़ नॉर्खिये
अनरिख़ नॉर्खिये ने अपने वनडे करियर की लाजवाब शुरुआत की थी। वह विकेट लेने के साथ-साथ किफ़याती भी रह रहे थे। यह चीज़ उनकी गेंदबाज़ी की धार को साबित कर रही थी। लेकिन 2021 के बाद से चीजे़ं बदल गई हैं, नॉर्खिये विकेट तो चटका रहे हैं लेकिन काफ़ी महंगे साबित हो रहे हैं। नॉर्खिये ने इस दौरान आठ वनडे मैचों में 14 विकेट चटकाए हैं लेकिन उनकी इकॉनमी छह से ज़्यादा की रही है। पिछले चार मैचों की बात करें तो उन्होंने छह विकेट चटकाए हैं लेकिन प्रत्येक मैच में उन्होंने छह से ज़्यादा के दर से रन ख़र्च किए हैं। रांची वनडे में खेलने से पहले नॉर्खिये ने मैनचेस्टर में अपना आख़िरी वनडे खेला था जहां उन्होंने 5.1 ओवर में दो विकेट चटकाए ज़रूर थे लेकिन उनकी इकॉनमी 10 से भी ज़्यादा थी। ऐसे में साउथ अफ़्रीकी टीम प्रबंधन एक बार फिर लुंगिसानी एनिगडी की ओर देख सकता है, जिनका श्रेयस अय्यर के ख़िलाफ़ बेहतरीन रिकॉर्ड (चार पारियों में चार बार शिकार) है।

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं। @ImKunalKishore