मैच (6)
आईपीएल (2)
T20I Tri-Series (1)
ENG v PAK (1)
CE Cup (1)
USA vs BAN (1)
ख़बरें

यूएई में केकेआर की यह एक अद्भुत कहानी थी : ब्रेंडन मैक्कलम

मुख्य कोच ने वेंकटेश अय्यर की बहुत प्रशंसा की

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पहले चरण में सात मुक़ाबलों में केवल दो जीत दर्ज कर कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) सातवें स्थान पर थे। ऐसा लग रहा था जैसे उनके लिए टूर्नामेंट बहुत जल्द ख़त्म हो जाएगा। लेकिन कोविड-19 महामारी ने टीम को वह ब्रेक दिया जिसकी खिलाड़ियों को सख़्त ज़रूरत थी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में लीग के स्थानांतरित होने से भी टीम को फ़ायदा पहुंचा। साथ ही साथ प्लेइंग XI में हुए फेरबदल ने टीम की काया पलट दी और इसमें सबसे बड़ा योगदान रहा वेंकटेश अय्यर का।
केकेआर ने यूएई में पहुंचते ही विजय अभियान की शुरुआत कर दी। नौ में से सात मैच जीतकर वह फ़ाइनल में तो आ गए लेकिन अंतिम मैच में चेन्नई सुपर किंग्स को हरा नहीं पाए। उनकी वापसी इतनी दमदार थी कि विपक्षी कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने उनके प्रदर्शन की तारीफ़ करते हुए कहा कि वह अपने अलावा केवल केकेआर को ट्रॉफ़ी जीतते देखना पसंद करते।
धोनी ने स्टार स्पोर्ट्स को बताया, "सीएकके के बारे में बात करने से पहले मैं केकेआर की प्रशंसा करना चाहूंगा। पहले चरण में वह जिस स्थिति में थे, वहां से वापसी करना आसान नहीं होता। लेकिन उन्होंने वह कर दिखाया। अगर कोई टीम इस सीज़न आईपीएल जीतने की हक़दार थी तो वह केकेआर थी। बड़ा श्रेय खिलाड़ियों और सपोर्ट स्टाफ़ को भी जाता है क्योंकि सभी का मनोबल बढ़ाना एक आसान काम नहीं होता है। मुझे लगता है उस ब्रेक ने उनकी काफ़ी मदद की और उन्होंने लाजवाब प्रदर्शन किया।"
केकेआर के कोच ब्रेंडन मैक्कलम ने कहा कि दोनों चरणों के बीच मिला ब्रेक टीम के लिए मददगार साबित हुआ। मैच के बाद उन्होंने कहा, "आईपीएल जैसे टूर्नामेंट में अपना संयम बरक़रार रखना मुश्किल हो जाता है जब चीज़ें आपके हित में नहीं जा रही हो। सात मैचों में केवल दो जीत दर्ज कर पाना निराशाजनक था। इसलिए वह ब्रेक सही समय पर आया। उस ब्रेक के दौरान हमने कुछ खिलाड़ियों से बातचीत की और कुछ ख़राब पहलूओ को सही करने की कोशिश की।"
मैक्कलम ख़ास तौर पर अय्यर के प्रदर्शन से बेहद ख़ुश थे और हो भी क्यों ना? इस बाएं हाथ के लंबे बल्लेबाज़ ने तुरंत अपना जलवा बिखेरा और 10 पारियों में 41.11 की औसत और 128.47 के स्ट्राइक रेट से 370 रन बनाए। अय्यर के रनों का सही मूल्य ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो स्मार्ट स्टैट्स द्वारा सामने लाया गया जो खिलाड़ी के विपक्षी गेंदबाज़ और मैच की स्थिति को ध्यान में रखते हैं। अय्यर के स्मार्ट रन 404.28 थे जबकि उनका स्मार्ट स्ट्राइक रेट भी 140.37 था जो कि उनके मौजूदा आंकड़ों से काफ़ी बेहतर है।
मैक्कलम ने अय्यर में बारे में कहा, "वेंकटेश अय्यर की कहानी बहुत मज़ेदार रही है। जब हम भारत में थे तब वह हमारे लिए अगला मैच खेलने वाले थे। वह टीम का हिस्सा होने वाले थे लेकिन फिर वह ब्रेक आ गया। मुझे लगता है कि उस ब्रेक ने उन्हें और क्रिकेट खेलने का मौक़ा दिया और उन्होंने इस बात को समझा कि खेलने के मौक़े ज़्यादा दूर नहीं है। इसके बाद यहां उन्होंने अपना आक्रमक खेल दिखाते हुए सभी का दिल जीत लिया।"
उन्होंने आगे कहा, "वह एक लंबे खिलाड़ी है और अपने अंदाज़ से खेलते हैं। अपने इस अंदाज़ के कारण कभी-कभी उनके खेल में निरंतरता का अभाव होगा और लोग उनकी आलोचना भी करेंगे। लेकिन मैं चाहता हूं कि वह उसी वेंकटेश अय्यर अंदाज़ से खेलते रहे जो मैंने अब तक उनके खेल में देखा है। इस खेल में उनका भविष्य बहुत शानदार है। वह बहुत बुद्धिमान व्यक्ति हैं और मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं और उनके प्रदर्शन के लिए उनका धन्यवाद करता हूं। इस साल हमारी वापसी के पीछे उनका बहुत बड़ा हाथ था।"
जहां एक तरफ़ केकेआर का शीर्ष क्रम रन बना रहा था, वहीं मध्य क्रम ने रनों के लिए संघर्ष किया। कप्तान ओएन मॉर्गन और अनुभवी दिनेश कार्तिक का बल्ला ख़ामोश रहा। मैक्कलम ने इस बात को स्वीकार करते हुए कहा कि हमारे मध्य क्रम ने वैसा प्रदर्शन नहीं किया जिसकी हम उम्मीद कर रहे थे। वह सभी अनुभवी खिलाड़ी हैं और उन्होंने बहुत मेहनत की लेकिन वह उसे मैदान पर अच्छे प्रदर्शन में तब्दील नहीं कर पाए।
मैक्कलम ने अंत में कहा, "फिर भी मुझे सभी खिलाड़ियों के प्रयासों पर गर्व है। यह एक अद्भुत कहानी थी - टूर्नामेंट के आधे रास्ते में मुश्किल स्थिति में होने के बाद ट्रॉफ़ी के इतना क़रीब जाना। मुझे लगता है कि हमने बख़ूबी ढंग से अपने मालिकों, प्रशंसकों और उन सभी लोगों का प्रतिनिधित्व किया जो इस टीम का समर्थन करते आए हैं। हम अपना सिर उंचा रखकर यहां से जाएंगे।"

सौरभ सोमानी ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।