मैच (12)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BAN v SL (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : दिल्ली के ख़िलाफ़ चक्रवर्ती के चक्रव्यूह की होगी अग्निपरीक्षा

कैपिटल्स के विरुद्ध सर्वाधिक झटकने के साथ-साथ वरुण सबसे महंगे साबित हुए हैं

दिल्ली के ख़िलाफ़ वरुण 8.6 की इकॉनमी से रन खर्च करते हैं  •  BCCI

दिल्ली के ख़िलाफ़ वरुण 8.6 की इकॉनमी से रन खर्च करते हैं  •  BCCI

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 का दो-तिहाई हिस्सा पूरा हो चुका है। मंगलवार से शुरू होगा वह अहम तीसरा हिस्सा जहां हर एक मैच प्लेऑफ़ की दौड़ को और रोमांचक बनाएगा। और तो और इस तीसरे हिस्से के पहले और लीग के 41वें मैच में आमने-सामने होंगी वह दो टीमें - कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स - जिनके लिए जीत बहुत मायने रखती है। तो चलिए इस बड़े मुक़ाबले से पहले नज़र डालते हैं कुछ महत्वपूर्ण आंकड़ों पर।
पृथ्वी-गब्बर की सॉलिड शुरुआत
दिल्ली कैपिटल्स के इस आईपीएल की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक होने के पीछे का एक कारण पृथ्वी शॉ और शिखर धवन की सलामी जोड़ी है। इन दोनों बल्लेबाज़ों ने कुल मिलाकर 759 रन बनाए हैं जो इस सीज़न किसी भी सलामी जोड़ी के लिए सर्वाधिक है। इतना ही नहीं, इन्होंने यह रन 8.5 रन प्रति ओवर के दर से बनाए हैं जो बाक़ी टीमों की तुलना में सबसे बेहतर है। और तो और 2019 से जब भी इस जोड़ी ने अर्धशतकीय साझेदारी निभाई है, दिल्ली को हर बार जीत मिली है।
पंत की पावर का नहीं हो रहा इस्तेमाल
कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत ने अपने शुरुआती आईपीएल सीज़नों में लंबे छक्के मारने की क़ाबिलियत से सभी को प्रभावित किया था। वह मैदान के चारों तरफ़ बड़े शॉट्स लगाने के लिए जाने जाते थे। हालांकि पिछले दो सीज़नों से वह गेंद को सीमा रेखा के बाहर भेजने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। साल 2020 से पंत हर 34 गेंदों में एक छक्का जड़ रहे हैं जो अन्य बल्लेबाज़ों की तुलना में सबसे ख़राब आंकड़ा हैं।
कप्तान मॉर्गन का बल्ला मौन
इस आईपीएल में केकेआर के लिए सबसे बड़ी चिंता का विषय उनके कप्तान ओएन मोर्गन का फ़ॉर्म रहा है। मॉर्गन अब तक इस सीज़न में अपनी छाप छोड़ने में नाकाम रहे हैं। 13.4 की उनकी औसत इस लीग में 100 रन से अधिक बनाने वाले बल्लेबाज़ों में सबसे कम है और स्ट्राइक रेट (103) के मामले में वह केवल इशान किशन से बेहतर है। इसके पीछे का बड़ा कारण यह है कि मॉर्गन पारी की शुरुआत में संघर्ष कर रहे हैं। इस सीज़न में वह सात बार 15 गेंद खेलने से पहले पवेलियन लौट चुके हैं जो केकेआर को फ़ायदा कम और नुकसान ज़्यादा पहुंचा रहा है।
चक्रवर्ती के चक्रव्यूह की अग्निपरीक्षा
आईपीएल 2021 के पहले चरण की तरह दूसरे चरण में भी किफ़ायती गेंदबाज़ी करते हुए वरुण चक्रवर्ती टीम के मुख्य गेंदबाज़ बनकर उभरे हैं। गुगली उनका सबसे बड़ा हथियार है जिसके चलते वह इस सीज़न दूसरे सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले स्पिनर बन गए हैं। हालांकि दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ उन्हें बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ेगा जहां बांए हाथ के कई बल्लेबाज़ उनके सामने होंगे। इसके अलावा दिल्ली के शीर्ष क्रम के दोनों दाएं हाथ के बल्लेबाज़ - शॉ और श्रेयस अय्यर उनके ख़िलाफ़ क्रमशः 172 और 254 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं।

अफ़्ज़ल जिवानी (@ jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।