मैच (6)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (1)
IRE-W vs THAI-W (1)
SA v SL (W) (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : ये स्पिनर खेला तो दिल्ली ख़त्म कर सकती है मुंबई की कहानी

पिछली बार एक ही सीज़न में मुंबई ने दिल्ली को दी थी चार में से चार मैचों में पटखनी

मुंबई इंडियंस के खिलाफ काफी सफल रहे हैं अमित मिश्रा  •  BCCI/IPL

मुंबई इंडियंस के खिलाफ काफी सफल रहे हैं अमित मिश्रा  •  BCCI/IPL

ये मुक़ाबला ज़बरदस्त होगा, क्योंकि यह मुक़ाबला है आईपीएल 2020 की फ़ाइनलिस्ट टीमों के बीच। पिछली बार की तरह दिल्ली कैपिटल्स का सफ़र इस बार भी उड़ान भर रहा है, तो मुंबई इंडियंस को अपनी मंज़िल तक पहुंचने के लिए पेट्रोल की ज़रूरत है। मुंबई के लिए दिल्ली अच्छा शिकार भी है, क्योंकि पिछली बार एक ही सीज़न में उन्होंने चार में से चार मैचों में शिकस्त दी थी, लेकिन आंकड़े कहते हैं कि एक स्पिनर दिल्ली के लिए पूरी स्क्रिप्ट बदल सकता है, जो अगर खेला तो मुंबई की नाक में दम कर ही देगा।
मिश्रा जी साबित हो सकते हैं तुरुप का इक्का
रविचंद्रन अश्विन और ललित यादव के रूप में दिल्ली कैपिटल्स अब तक दो ऑफ़ स्पिनरों को खिलाती आई है, लेकिन ललित जूझते नज़र आए हैं। अगर दिल्ली कैपिटल्स ललित की जगह ​अमित मिश्रा को खिलाती है तो वह उनके लिए तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं। वह आईपीएल इतिहास में दूसरे सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ तो हैं ही, उनका रिकॉर्ड दायें हाथ के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ शानदार रहा है। आईपीएल 2021 में जहां अश्विन और अक्षर एक बार भी दायें हाथ के बल्लेबाज़ों को आउट नहीं कर सके तो वहीं मिश्रा ने चार पारियों में पांच बार दायें हाथ के बल्लेबाज़ों को पवेलियन भेजा है। यही नहीं आईपीएल इतिहास में मिश्रा ने सबसे ज़्यादा विकेट राजस्थान रॉयल्स (19 पारियों में 30 विकेट) के ख़िलाफ़ लिए हैं, लेकिन इसके बाद उन्होंने मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ ही सबसे ज़्यादा विकेट लिए हैं। 22 मैचों में 25 विकेट, 7.6 की इकॉनमी और 25.5 की औसत के साथ।
दिल्ली की मुसीबत बढ़ाते हैं मुंबई के गेंदबाज़
दिल्ली की टीम की जान ऋषभ पंत, श्रेयस अय्यर और शिमरॉन हेटमायर जैसे बल्लेबाज़ हैं, लेकिन मुंबई इंडियंस के गेंदबाज़ों के सामने इनका बल्ला बोलना बंद हो जाता है। जसप्रीत बुमराह ने पंत को छह बार और हेटमायर को दो बार आउट किया है। वहीं बुमराह ने आईपीएल 2019 से दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ ही सात पारियों में सबसे ज़्यादा 11 विकेट लिए हैं। इसके अलावा पंत, क्रुणाल पंड्या पर भी रन नहीं बना पाते हैं, जिन्होंने पंत को तीन बार आउट किया है और उनका औसत 15 का ही है। दूसरी ओर, राहुल चाहर ने 11 गेंद में अय्यर को दो बार आउट किया है। राहुल के ख़िलाफ़ उनका औसत भी मात्र 7.5 का ही है। दूसरी ओर, अगर मिश्रा दिल्ली की टीम में आ जाते हैं तो वह रोहित शर्मा के लिए मुसीबत बन सकते हैं, जिन्होंने सात बार उन्हें आउट किया है। यह आईपीएल में किसी गेंदबाज़ का किसी बल्लेबाज़ के ख़िलाफ़ सर्वश्रेष्ठ रिकॉर्ड है।
दिल्ली के बल्लेबाज़ छक्के लगाने में सबसे पीछे
पंत, शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, शिमरॉन हेटमायर जैसे आक्रमक बल्लेबाज़ टीम में होने के बावजूद आईपीएल 2021 में दिल्ली ने अब तक सबसे कम 40 छक्के लगाए हैं। वह छक्के लगाने के मामलों में सभी टीमों में सबसे पीछे है। 2020 में दिल्ली की ओर से 88 छक्के लगाए गए थे। इस अंतर की एक वजह मार्कस स्टॉयनिस और हेटमायर की फॉर्म और पहले हाफ़ में अय्यर का नहीं होना भी है। पिछले सीज़न स्टॉ​यनिस और अय्यर ने 16-16 और हेटमायर ने 12 छक्के लगाए थे। जबकि इस सीज़न पंत ने भी सबसे कम छह छक्के लगाए हैं। सीज़न दर सीज़न उनके छक्के लगाने की गति धीमी भी हुई है।
डेथ ओवर मुंबई की परेशानी
आंकड़े बताते हैं कि मुंबई इंडियंस की परेशानी डेथ ओवरों की बल्लेबाज़ी रही है। केवल कायरन पोलार्ड ही डेथ ओवर में कमान संभाल पाए हैं, जिन्होंने इस बार नौ पारियों में 150 रन बनाए हैं, इसके अलावा हार्दिक पंड्या सात मैचों में 66 रन, क्रुणाल सात मैचों में 68 रन ही बना सके। इशान किशन भी चार मैचों में 30 रन ही बना पाए। 2015 से हार्दिक और पोलार्ड डेथ ओवरों में मुंबई की जान रहे हैं। इस सीज़न के अलावा 2018 में भी ऐसा हुआ था जब हार्दिक नहीं चले और मुंबई प्‍ले ऑफ़ में जगह नहीं बना सकी।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं। @nikss26