मैच (19)
T20 वर्ल्ड कप (6)
CE Cup (3)
T20 Blast (10)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : राजस्थान को रोकने के लिए हैदराबाद रह सकती है भुवनेश्वर पर निर्भर

चहल और क्लासेन के बीच हो सकता है रोचक मुक़ाबला

नवनीत झा
06-May-2023
Bhuvneshwar Kumar removed David Warner in the first over, Delhi Capitals vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2023, Delhi, April 29, 2023

अपनी गेंदबाज़ी से राजस्‍थान के बल्‍लेबाज़ों को परेशान कर सकते हैं भुवनेश्‍वर  •  BCCI

रविवार को जयपुर में जब राजस्थान रॉयल्स और सनराइज़र्स हैदराबाद के बीच होने वाला मुक़ाबला दोनों ही टीमों के लिए टूर्नामेंट के लिहाज़ से महत्वपूर्ण है। एक तरफ़ हैदराबाद को टूर्नामेंट में बने रहने की अपनी उम्मीदों को जीवित रखना है तो दूसरी तरफ़ राजस्थान के लिए यह मुक़ाबला टूर्नामेंट में उनकी दिशा तय करेगा। ऐसे में सुपर संडे के दूसरे मुक़ाबले से जुड़े कुछ रोचक आंकड़ों को टटोलने का प्रयास करते हैं।

चहल के सामने बेबस रहे हैं हैदराबाद के बल्लेबाज़

राजस्थान के स्पिन अटैक के प्रमुख हथियार युजवेंद्र चहल के आंकड़े हैदराबाद के बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ भी अच्छे हैं। वह हैदराबाद के सलामी बल्लेबाज़ मयंक अग्रवाल के टी20 में सात बार पवेलियन भेज चुके हैं। हालांकि मयंक अग्रवाल ने चहल की 55 गेंदों पर 153 के स्ट्राइक रेट से 84 रन भी बनाए हैं। जबकि हैरी ब्रूक और चहल टी20 में तीन बार आमने-सामने आए हैं और तीनों ही बार चहल ब्रूक को पवेलियन भेजने में सफल रहे हैं। ब्रूक ने टी20 में चहल की 14 गेंदों का सामना किया और 10 रन बनाए हैं।
राहुल त्रिपाठी ने एक बार भी चहल को अपना विकेट नहीं दिया है लेकिन वह चहल की 48 गेंदों पर 46 रन ही बना पाए हैं। अब्दुल समद को भी चहल दो बार पवेलियन लौटने पर मजबूर कर चुके हैं।

राजस्थान के गेंदबाज़ों पर जमकर बरसते हैं मयंक

मयंक और राजस्थान के गेंदबाज़ों के बीच तू डाल डाल मैं पात पात वाली कहानी रही है। एक तरफ़ मयंक राजस्थान के गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ तेज़ी से रन तो बटोरते हैं लेकिन तेज़ रन बटोरने की आपाधापी में वह अपना विकेट भी दे देते हैं। राजस्थान के तीन प्रमुख गेंदबाज़ चहल, रविचंद्रन अश्विन और ट्रेंट बोल्ट के ख़िलाफ़ मयंक का स्ट्राइक रेट 150 के ऊपर है लेकिन चहल के अलावा अश्विन भी उन्हें चार बार आउट कर चुके हैं। हालांकि बोल्ट को एक बार भी मयंक के ऊपर सफलता प्राप्त नहीं हुई है। बोल्ट की 33 गेंदों पर उन्होंने 152 के स्ट्राइक रेट से 50 रन बनाए हैं।
राजस्थान के पास एक ऐसा गेंदबाज़ ज़रूर है जिसके ख़िलाफ़ मयंक की रफ़्तार धीमी पड़ जाती है। संदीप शर्मा की 42 गेंदों पर मयंक 47 रन ही बना पाए हैं जबकि तीन बार उन्हें पवेलियन भी जाना पड़ा है।

क्लासेन और चहल के बीच रोचक होगी टक्कर

मयंक ने एक तरफ़ चहल के ख़िलाफ़ रन बरसाए हैं तो दूसरी तरफ़ चहल को मयंक पर काबू पाने में सफलता भी प्राप्त हुई है। हालांकि चहल ने हेनरिक क्लासेन को भी दो बार अपना शिकार बनाया है लेकिन क्लासेन ने चहल की 57 गेंदों पर 224 के प्रभावशाली स्ट्राइक रेट से 83 रन भी जड़े हैं।

राजस्थान को रोकने के लिए हैदराबाद रह सकती है भुवनेश्वर पर निर्भर

सलामी बल्लेबाज़ जॉस बटलर और कप्तान संजू सैमसन राजस्थान के बल्लेबाज़ी क्रम की सबसे मज़बूत कड़ी हैं। इन दोनों ही बल्लेबाज़ों को सस्ते में पवेलियन लौटाने का ज़िम्मा हैदराबाद भुवनेश्वर कुमार को सौंप सकती है। बटलर ने टी नटराजन और उमरान मलिक दोनों के ही ख़िलाफ़ क्रमशः 172 और 262 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। ऐसे में अगर कोई बटलर को लय में आने से रोक सकता है तो वह भुवनेश्वर हैं जिन्होंने टी20 में पांच बार बटलर को अपना शिकार बनाया है। वहीं बटलर उनके ख़िलाफ़ सिर्फ़ 105 के स्ट्राइक से 82 गेंदों पर 87 रन ही बना पाए हैं। वहीं गुजरात के ख़िलाफ़ पिछले मैच में तेज़ शुरुआत करने वाले कप्तान संजू को भी भुवनेश्वर टी20 में तीन बार पवेलियन की राह दिखा चुके हैं।