मैच (19)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
USA vs CAN (1)
Women's Tri-Series (1)
Zonal Trophy [W] (1)
ख़बरें

के एल राहुल : हम जिस स्थिति में थे वहां से जीत हासिल करना दुर्लभ होता है

पूरन ने कहा कि वह पिछले कुछ वर्षों से अपनी टीम को जीत दिलाने का लगातार प्रयास कर रहे थे

पूरन के अर्धशतक ने लखनऊ को जीत की दहलीज़ पर पहुंचा दिया  •  AFP/Getty Images

पूरन के अर्धशतक ने लखनऊ को जीत की दहलीज़ पर पहुंचा दिया  •  AFP/Getty Images

उतार चढ़ाव और नाटकीय घटनाक्रमों से भरपूर मैच में लखनऊ सुपर जायंट्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु पर विजय प्राप्त कर ली और लखनऊ के कप्तान केएल राहुल ने इस जीत का श्रेय निकोलस पूरन, मार्कस स्टॉयनिस और आयुष बदोनी जैसे निचले मध्य क्रम के बल्लेबाज़ों को दिया।
बेंगलुरु ने लखनऊ को चार ओवरों में 23 रन के स्कोर पर तीन झटके दे दिए थे लेकिन स्टॉयनिस की 30 गेंदों में 65 रनों की पारी ने उन्हें एक मंच प्रदान कर दिया। जिसके बाद पूरन के 20 गेंदों में 62 रन और आयुष की 24 गेंदों में 30 रनों की पारी उन्हें जीत की दहलीज़ पर ले गई।
एक विकेट से मिली जीत के बाद राहुल ने ब्रॉडकास्टर्स से कहा, "टी20 में नंबर पांच, छह और सात अहम बल्लेबाज़ी स्थान होता है। हां, बड़े टूर्नामेंट में शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ों के कंधों पर अधिक रन बनाने की ज़िम्मेदारी होती है लेकिन अंतोगत्वा यही खिलाड़ी होते हैं जो जीत को आपकी मुट्ठी में करते हैं। यही वजह है कि हमने पूरन, स्टॉयनिस और आयुष की ताकत में निवेश किया है। आयुष एक युवा खिलाड़ी हैं और गेम को अंत में समाप्त करने के गुर सीख रहे हैं। उन्होंने पिछले और इस सीज़न में भी इस रोल को बखूबी निभाया है और उन्हें उस स्थान पर लगातार प्रगति करता देख मैं काफ़ी उत्साहित हूं।"
हालांकि खेल का परिणाम अंतिम गेंद डाले जाने से पहले नहीं आया था। आयुष 19वें ओवर में आउट हो गए और अंतिम ओवर में मार्क वुड और जयदेव उनादकट भी पवेलियन लौट गए जोकि लखनऊ को पांच रनों की जीत की दरकार और तीन विकेट शेष रहने की स्थिति में शुरू हुआ था।
अंतिम गेंद पर जीत के लिए एक रन की दरकार और एक और नाटकीय घटनाक्रम घटित हुआ। हर्षल पटेल रवि बिश्नोई को नॉन स्ट्राइकर एंड पर रन आउट करने में असफल रहे और पहले प्रयास में विफल होने के बाद काफ़ी दूर चले गए। उन्होंने वापस विकेट पर डायरेक्ट हिट किया लेकिन अंपायर अनिल चौधरी ने इसे नॉट आउट करार दिया।
राहुल ने कहा, "यह अविश्वसनीय है। यह चिन्नास्वामी है। मैं यहां खेलते हुए बड़ा हुआ हूं। मुझे पता है कि यह देश का एक ऐसा वेन्यू है जहां सबसे ज़्यादा बार अंतिम गेंद पर मैच का परिणाम निकलता है। हम जिस स्थिति में थे वहां से जीतना वाकई दुर्लभ है।"
फ़ाफ़ डुप्लेसी : हमने हर चीज़ कर के देख ली
बेंगलुरु के कप्तान फ़ाफ़ डुप्लेसी ने मैच को लेकर कहा, "ज़ाहिर तौर पर उन्होंने काफ़ी अच्छा खेला लेकिन हमने भी शानदार वापसी की। अंतिम गेंद पर मैंने रन आउट का अनुमान भी लगा लिया था। जब हम बल्लेबाज़ी कर रहे थे तब हमें ऐसा लगा कि 7 से 14 ओवर के बीच में पिच थोड़ी धीमी हुई है। पिच ड्राई हो रही थी। हालांकि अंतिम पांच ओवर में पिच पर नमी आई और पहले के मुक़ाबले पिच पर बल्लेबाज़ी करना अधिक आसान हो गया जोकि अगली पारी में भी बरकरार रहा। पिच बल्लेबाज़ी के लिए काफ़ी अनुकूल थी और पूरन और स्टॉयनिस ने मिलकर इस अवसर का फ़ायदा उठाया।"
डुप्लेसी ने कहा, "हमने हर चीज़ कर के देख ली, हमने उनके ऊपर हमारे तमाम हथियार इस्तेमाल किए लेकिन उन्होंने हमारे प्रमुख गेंदबाज़ों में से एक हर्षल पटेल के ख़िलाफ़ उनके पहले दो ओवरों में ही आक्रामक शैली में बल्लेबाज़ी की। इसके बाद हर्षल ने शानदार वापसी की और अंतिम ओवर में मैच को हमारे पक्ष में झुकाने में उन्होंने कोई कसर नहीं छोड़ी। हमने अपनी तरफ़ से अच्छा संघर्ष किया, डेथ में गेंदबाज़ी करना कभी भी आसान नहीं रहता है।"
निकोलस पूरन : मैं अवसर को भुनाना चाहता था
पूरन ने अपनी 20 गेंदों में 62 रनों की पारी से मैच का पासा पूरी तरह से पलट ही दिया था। इसके अलावा उन्होंने आईपीएल इतिहास का संयुक्त तौर पर तीसरा सबसे तेज़ अर्धशतक भी बनाया। आयुष के साथ मिलकर उन्होंने स्कोर बोर्ड पर 34 गेंदों में 85 रन जोड़े। प्लेयर ऑफ़ द मैच का अवॉर्ड पाने पर पूरन ने इस जीत की आधारशिला रखने का श्रेय राहुल और स्टॉयनिस की साझेदारी को दिया।
पूरन ने कहा, "स्टॉयनिस ने वाकई बहुत अच्छी पारी खेली। हमें ऐसा प्रतीत हो रहा था कि हम प्रति ओवर 15 रन भी चेज़ कर सकते हैं। हम जानते थे कि गेम के बैक एंड में परिस्थितियां अधिक आसान हो जाएंगी। विकेट बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल थी बस ज़रूरत अपनी रणनीति को सही ढंग से अमली जामा पहनाने की थी। आज की शाम मेरे लिए बहुत अच्छी रही। मैं अपने खेल पर लगातार मेहनत करता रहा हूं और यह वैसा कुछ है जिसे में हासिल करना चाहता था। पिछले कुछ वर्ष मेरे लिए हताशपूर्ण रहे हैं, टीम के लिए जीत हासिल करने में लगातार विफल हो रहा था। हालांकि आज नतीजा मेरे पक्ष में रहा। मैं अपनी टीम के लिए मैच जीतना चाहता हूं और मैं इसके लिए काफ़ी मेहनत भी कर रहा हूं।"
मार्कस स्टॉयनिस : हमने पावरप्ले में अच्छी गेंदबाज़ी की
स्टॉयनिस ने बेंगलुरु को सिर्फ़ दो विकेट के नुकसान पर 2012 पर रोकने का श्रेय रवि और क्रुणाल पंड्या को दिया। स्टॉयनिस ने कहा, "वास्तविकता में, मैं यही मानता हूं कि हमने पावरप्ले में अच्छी गेंदबाज़ी की। विराट और फ़ाफ़ शानदार लय में नज़र आ रहे थे। उन्होंने कुछ ऐसे शॉट्स खेले जो अमूमन आप क्रिकेट के मैदान में देखते नहीं हैं। मुझे लगता है हमने पावरप्ले में ठीक ठाक गेंदबाज़ी की और हमारे स्पिनर्स ने बढ़िया गेंदें डाली।"
मैक्सवेल ने भी कहा कि मध्य ओवर में स्पिनर्स ने बेंगलुरु की बल्लेबाज़ी के मोमेंटम को कुछ देर के लिए प्रभावित किया और क़रीबी मुक़ाबले में यह निर्णायक सिद्ध होता है।
मैक्सवेल ने कहा, "पिच पर हल्की असीमित उछाल थी। बैक ऑफ़ द लेंथ से गेंद पड़कर हल्की नीची रह रही थी। पिछले मुक़ाबले की तुलना में अधिक ड्राई भी थी। स्पिनर्स बैक ऑफ़ द लेंथ डालने में सफलता प्राप्त कर रहे थे। एक बेहतरीन पावरप्ले के बाद बिश्नोई और पंड्या ने हमारी रफ़्तार पर हल्की लगाम लगा दी।"