मैच (12)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
RHF Trophy (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
ख़बरें

'दूसरे दर्जे की टीम' जैसे बयानों पर हम ध्यान नहीं दे रहे हैं: सूर्यकुमार यादव

"हम यहां मज़े करने, सीरीज़ का आनंद लेने और बहुत सारी सकारात्मकाएं ले जाने के लिए आएं हैं।"

साल की शुरुआत में सूर्यकुमार यादव ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ में 89 बनाए थे  •  Getty Images

साल की शुरुआत में सूर्यकुमार यादव ने इंग्लैंड के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ में 89 बनाए थे  •  Getty Images

सीमित ओवरों की सीरीज़ के लिए श्रीलंका गए भारतीय खिलाड़ी अर्जुना राणातुंगा के भारतीय टीम को दोयम दर्जे की टीम बताने वाले बयान के बारे में कुछ नहीं सोच रहे हैं। बल्लेबाज़ सूर्यकुमार यादव इस छोटे दौरे से सकारात्मकाएं ले जाने पर अपना ध्यान केंद्रित करे हुए हैं।
30 वर्षीय यादव ने मंगलवार को कहा, "हम पहली पसंदीदा खिलाड़ियों की टीम नहीं होने के बारे में नहीं सोच रहे हैं। हर कोई अपने लक्ष्य की ओर नज़र गड़ाए बैठा है। जिस तरह से अभ्यास सत्र चल रहे हैं और जिस तरह इंट्रा-स्क्वॉड मैच खेला गया, उसके बाद हम आने वाली चुनौतियों के लिए पूरी तरह तैयार हैं।"
"हम यहां मज़े करने, सीरीज़ का आनंद लेने और बहुत सारी सकारात्मकाएं ले जाने के उद्देश्य से आएं हैं।"
श्रीलंका दौरे की टीम में पांच खिलाड़ियों को पहली बार भारतीय टीम में शामिल किया गया है। साथ ही टीम में यादव के जैसे कुछ ऐसे खिलाड़ी भी हैं जो हाल ही में टीम का हिस्सा बने है और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने लगे हैं। भले ही यादव ने इस साल की शुरुआत में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ घर पर खेली गई टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में अपना पदार्पण किया था, इस दौरे पर वह टीम के अनुभवी सदस्यों में से एक हैं।
उन्होंने कहा, "इंग्लैंड के ख़िलाफ़ खेली गई वह एक अलग सीरीज़ थी। यह एक अलग सीरीज़ है, लेकिन चुनौती वही रहेंगी। मुझे हर बार मैदान पर उतरकर उसी तरह का प्रदर्शन करना होगा जैसा मैंने पहले किया है। तो दबाव ज़रूर होगा लेकिन अगर कोई दबाव ना हो, तो मज़ा किस बात का। यह हमारे लिए एक कड़ी चुनौती होगी और मैं इसके लिए उत्साहित हूं।"
यादव ने कहा, "हर साल मैंने (मुंबई इंडियंस में) अपने सभी साथियों से कुछ अलग सीखा है। वह टूर्नामेंट हर साल एक नई सीख लेकर आता है। उससे मुझे बहुत मदद मिलती है। यदि आप संक्षेप में कहें, तो आईपीएल सीखने की एक महत्वपूर्ण प्रक्रिया है और ज़ाहिर तौर पर इससे मुझे काफी अनुभव हासिल हुआ है।"
आईपीएल में धीमी अथवा बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल पिचों पर बड़े शॉट लगाने की क्षमता सूर्यकुमार के खेल की खास बात है। इस दौरे पर भारत को अपने सभी मैच कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में खेलने है जहां उन्हें धीमी और फ़िरकी के लिए मददगार विकेटों का सामना करना होगा।
यादव ने अपनी बात का अंत करते हुए कहा, "परिस्थितियों के नज़रिए से देखा जाए तो हम घर पर चेन्नई और मुंबई में ऐसी ही परिस्थितियों में खेलते हैं जहां तापमान गर्म होता है। अच्छा है कि हम 15-20 दिन पहले ही यहां आ गए हैं। समायोजन करने के लिए हमें काफ़ी समय मिला। पिचों की बात करें तो इंट्रा स्क्वॉड मैच की पिच बहुत अच्छी थी। मैं उम्मीद करता हूं कि आने वाले मैचों में भी पिच ऐसी ही रहेगी। अगर पिच धीमी रहती हैं तो हमें क्रीज़ पर समय बिताकर फिर अपने शॉट्स खेलने होंगे। वह हम बल्लेबाज़ों के लिए एक कड़ी चुनौती होगी, जिसके लिए मैं बेहद उत्साहित हूं।"

वरुण शेट्टी ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब-एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ने किया है।