मैच (5)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
भारत अंडर-19 बनाम न्यूज़ीलैंड अंडर-19 (1)
परिणाम
फ़ाइनल (N), बेंगलुरु, August 26, 2022, महाराजा टी20 ट्रॉफ़ी

गुलबर्गा की 11 रन से जीत

प्लेयर ऑफ़ द मैच
मनीष पांडे, गुलबर्गा
41* (17)
manish-pandey
प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़
रोहन पाटिल, गुलबर्गा
397 runs
rohan-patil
प्रीव्यू

महाराजा टी20 के ख़िताबी भिड़ंत में मयंक और मनीष आमने-सामने

बेंगलुरु ब्लास्टर्स और गुलबर्गा मिस्टिक्स ने अपनी शक्तिशाली बल्लेबाज़ी से सब को प्रभावित किया है

Mayank Agarwal works one away through the off side, Maharaja T20 Trophy 2022, Bengaluru Blasters v Mangalore United, Mysore, August 11, 2022

मयंक ने इस टूर्नामेंट में अब तक दो शतक लगाए हैं  •  Maharaja T20

कर्नाटका राज्य क्रिकेट संघ (केएससीए) द्वारा आयोजित महाराजा टी20 ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में आज बेंगलुरु ब्लास्टर्स का मुक़ाबला गुलबर्गा मिस्टिक्स के साथ होगा। छह टीमों की इस प्रतियोगिता में बेंगलुरु और गुलबर्गा लीग पड़ाव में भी शीर्ष की दो स्थानों पर रही थीं। पहले क्वालिफ़ायर में बेंगलुरु ने गुलबर्गा को ऐसे मैच में हराया था जहां 410 रन बने थे और दोनों टीमों के एक सलामी बल्लेबाज़ ने शतक मारा था।
अच्छा? यानी दोनों टीमें काफ़ी अच्छी बल्लेबाज़ी करती हैं?
इसमें कोई शक़ नहीं। पूरे टूर्नामेंट में अब तक 33 मैच खेले गए हैं और इनमें पांच शतक लगे हैं। बेंगलुरु के कप्तान मयंक अग्रवाल ने दो, उनके साथी सलामी बल्लेबाज़ एल आर चेतन ने एक और बाक़ी के दो शतक गुलबर्गा के बाएं हाथ के ओपनर रोहन पाटिल ने लगाए हैं।
अगर आप शीर्ष के रन बनाने वालों की सूची पर ध्यान दें तो टॉप के आठ नामों में से पांच इन्हीं दो टीमों से आते हैं। इन तीन शतकवीरों के अलावा गुलबर्गा के पास सलामी बल्लेबाज़ देवदत्त पड़िक्कल और कप्तान मनीष पांडे जैसे धाकड़ बल्लेबाज़ भी शामिल हैं।
इन पर होगी नज़र
अगर आप बेंगलुरु के समर्थक हैं तो टीम के लिए सबसे बड़ी कड़ी होगी मयंक और चेतन की सलामी जोड़ी। दोनों आक्रामक सोच के साथ बल्लेबाज़ी करते हैं और मयंक 53.33 के औसत और 167.24 के स्ट्राइक रेट के साथ ऑरेंज कैप के हक़दार हैं। चेतन के 356 रन भी 163.30 के स्ट्राइक रेट से आए हैं। इसका मतलब लगभग यही है कि जब तक दोनों बल्लेबाज़ साथ रहते हैं तो बेंगलुरु औसतन 10 रन प्रति ओवर से रन जोड़ता ही है।
गुलबर्गा के लिए सर्वाधिक रन पाटिल ने बनाए हैं लेकिन कप्तान पांडे की भूमिका अहम होगी। टीम में बल्लेबाज़ी में बहुत सारे बाएं हाथ के खिलाड़ी शीर्ष और मध्यक्रम में मौजूद हैं। ऐसे में पांडे विविधता के साथ-साथ अपने अनुभव का फ़ायदा लाते हैं।
गेंदबाज़ी की तो बात ही नहीं हुई अब तक?
भले ही बल्लेबाज़ी दोनों टीमों का मज़बूत पक्ष हो लेकिन आप गेंदबाज़ी में भी इन्हें कम नहीं आंक सकते। गुलबर्गा के लिए मध्यम गति के गेंदबाज़ विधवत कवेरप्पा ने टूर्नामेंट में संयुक्त रूप से सर्वाधिक 17 विकेट लिए हैं। कवेरप्पा गति के बहुत धनी भले ही ना हों लेकिन नई गेंद को अच्छे से स्विंग कराने की क्षमता रखते हैं।
ऑलराउंडर अजीत कार्तिक ने केवल नौ मैच में 13 विकेट लेते हुए उनका अच्छा साथ निभाया था लेकिन 21 अगस्त को मैसूरु वॉरियर्स के ख़िलाफ़ मैच के बाद चोट के कारण नहीं खेल पाएं हैं। इसके अलावा रितेश भटकल और प्रणव भाटिया की स्पिन जोड़ी ने किफ़ायती गेंदबाज़ी की है हालांकि उनके खाते में केवल नौ और सात विकेट ही हैं।
बेंगलुरु में खेले जा रहे मैचों में क्रमशः स्पिन का बड़ा रोल देखने को मिल रहा है। गुरुवार के दूसरे क्वालिफ़ायर में भी गुलबर्गा के बल्लेबाज़ लगभग मैसूरु के स्पिनरों के जाल में फंसते दिखे थे। बेंगलुरु के लिए आईपीएल के अनुभवी गेंदबाज़ जगदीश सुचित ने केवल 11 मुक़ाबलों में 16 विकेट लिए हैं। यही नहीं, 6.90 की उनकी इकॉनमी रेट न्यूनतम तीन विकेट लेने वालों की सूची में उन्हें केवल मैसूरु के स्पिनर शुभांग हेगड़े के पीछे रखता है।
सुचित ने पहले क्वालिफ़ायर में भी 227 के विशाल स्कोर के बचाव में बढ़िया गेंदबाज़ी करते हुए चार ओवर में 29 रन देकर दो विकेट लिए थे। ऑफ़ स्पिनर ऋषि बोपन्ना भी 7.68 की इकॉनमी से 13 विकेट निकाल चुके हैं और बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों से लैस गुलबर्गा के विरुद्ध प्रभावित कर सकते हैं।
पिच और परिस्थितियां
चिन्नास्वामी के पिच से बल्लेबाज़ और गेंदबाज़ दोनों काफ़ी संतुष्ट होते हैं। पिछले कुछ मैचों में अधिक टर्न मिलने से स्पिनरों का रोल ज़्यादा ज़रूर दिखा है लेकिन उछाल के साथ तेज़ गेंदबाज़ी और आक्रामक बल्लेबाज़ी दोनों टीमों को फ़ायदा देगी।
वैसे बेंगलुरु के मौसम का कोई ख़ास भरोसा नहीं। आजकल नियमित शाम को कुछ घंटों के लिए बारिश होती है। ऐसे में टॉस हारना बुरा विकल्प नहीं है क्योंकि वीजेडी प्रणाली ऐसी चीज़ है जो आपको योजनाबद्ध तरीक़े से चेज़ नहीं करने देती।
अगर बारिश के कारण इस मैच का नतीजा नहीं निकलता है तो दोनों टीमों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाएगा।

देबायन सेन ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के प्रमुख संपादक हैं

Language
English
Hindi
AskESPNcricinfo Logo
Instant answers to T20 questions
Blasters पारी
<1 / 3>
महाराजा टी20 ट्रॉफ़ी