मैच (8)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
सुपर स्मैश (1)
सुपर स्मैश (W) (1)
आईएलटी20 (1)
एसए20 (1)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
ख़बरें

बांग्लादेश के विरुद्ध तीसरे वनडे से बाहर हुए रोहित, चाहर और सेन

भारतीय कप्तान को अंगूठे पर लगी चोट; चाहर को हैमस्ट्रिंग और सेन को पीठ की समस्या

चोट के बाद रोहित को अस्‍पताल ले जाया गया था  •  Walton

चोट के बाद रोहित को अस्‍पताल ले जाया गया था  •  Walton

कप्तान रोहित शर्मा, दीपक चाहर और कुलदीप सेन चोट के चलते बांग्लादेश के विरुद्ध चटगांव में खेले जाने वाले तीसरे वनडे मैच से बाहर हो गए हैं। रोहित को दूसरे वनडे के दूसरे ओवर में स्लिप में फ़ील्डिंग के दौरान अपने बाएं हाथ के अंगूठे में चोट लगी। चाहर अपनी चोटिल हैमस्ट्रिंग के कारण मैच में केवल तीन ही ओवर डाल पाए जबकि पीठ में खिंचाव के चलते सेन इस मैच में हिस्सा नहीं ले पाए।
भारत के प्रमुख कोच राहुल द्रविड़ ने मैच के बाद कहा, "कुलदीप, दीपक और रोहित निश्चित रूप से अगले मैच से बाहर रहेंगे। कुलदीप और दीपक सीरीज़ से बाहर हो गए हैं। रोहित भी अगले मैच से बाहर रहेंगे। वह मुंबई जाएंगे, विशेषज्ञ से परामर्श करेंगे और देखेंगे कि यह (चोट) कैसी है और क्या वह टेस्ट मैचों के लिए वापस आ सकते हैं या नहीं। अभी कुछ कहना जल्दबाज़ी होगी लेकिन वह तीनों अगला मैच तो नहीं खेलेंगे।"
रोहित ने पोस्ट मैच प्रज़न्टेशन में कहा, "वह (मेरा अंगूठा) पूरी तरह से ठीक नहीं है। उंगली में अव्यवस्था (डिस्लोकेशन) थी और कुछ टांके लगे थे। सौभाग्य से, यह फ़्रैक्चर नहीं है और यह सकारात्मक बात है। यही वजह है कि मैं बाहर आकर बल्लेबाज़ी कर सका।"
जब रोहित दूसरी स्लिप में फ़ील्डिंग कर रहे थे, तब मोहम्मद सिराज की गेंद सलामी बल्लेबाज़ अनामुल हक़ के बल्ले का बाहरी किनारा लेकर उनके पास आई। गेंद ज़मीन की ओर जा रही थी और रोहित उसे पकड़ नहीं पाए। गेंद उनके अंगूठे पर जा लगी और वह उपचार के लिए तुरंत मैदान से बाहर चले गए। इसके बाद एक्स-रे के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया।
वह बांग्लादेश की पारी के दौरान मैदान पर नहीं लौटे और उनकी अनुपस्थिति में टीम के उपकप्तान के एल राहुल ने कप्तान की भूमिका निभाई।
इसके बाद भारतीय पारी में भी रोहित पारी की शुरुआत करने नहीं आए। उनकी जगह विराट कोहली ने शिखर धवन के साथ पारी का आग़ाज़ किया। जब भारत को जीत के लिए 44 गेंदों पर 65 रन बनाने थे, तब वह नौवें नंबर पर बल्लेबाज़ी करने उतरे। उन्होंने संघर्ष कर रहे चाहर के साथ 15 गेंदों पर छह रन जोड़े जिसके बाद इबादत हुसैन ने चाहर को आउट किया।
दूसरे छोर पर रोहित ने आक्रामक रुख़ अपनाया और बाउंड्री लगाते रहे। वह मैच को ऐसी स्थिति में ले आए जहां भारत को जीत के लिए तीन गेंदों पर 12 और अंतिम गेंद पर छह रन बनाने थे। मुस्तफ़िज़ुर रहमान ने सटीक यॉर्कर गेंद डाली और बांग्लादेश को 2-0 से सीरीज़ में अजेय बढ़त दिलाई। रोहित 28 गेंदों पर 51 रन बनाकर नाबाद रहे।
टी20 विश्व कप के तुरंत बाद न्यूज़ीलैंड में हुई वनडे और टी20 सीरीज़ में हिस्सा नहीं लेने के बाद रोहित ने इस सीरीज़ में वापसी की थी। इससे पहले उन्होंने जुलाई में इंग्लैंड में खेली गई वनडे सीरीज़ में हिस्सा लिया था। विश्व कप के मद्देनज़र उनका ध्यान टी20 क्रिकेट पर था और वह वेस्टइंडीज़ में तीन, ज़िम्बाब्वे में तीन, घर पर साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ तीन और हाल ही में न्यूज़ीलैंड में हुए तीन वनडे मैचों से बाहर रहे थे।
चाहर इस साल चोट के कारण लगभग छह महीने क्रिकेट से दूर रहे हैं। फ़रवरी में वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध टी20 मैच के दौरान उन्हें पैर में चोट लगी थी। एनसीए में रहकर इस चोट से रिहैब के दौरान उनकी पीठ में समस्या शुरू हुई। वह आईपीएल में हिस्सा नहीं ले पाए थे और अगस्त में भारत के ज़िम्बाब्वे दौरे पर उन्होंने एकादश में वापसी की। अक्तूबर में पीठ की समस्या ने उन्हें घर पर साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध खेली गई वनडे सीरीज़ के दो मैचों से बाहर रखा था। चाहर को टी20 विश्व कप के लिए चार स्टैंडबाय खिलाड़ियों में शामिल किया गया था लेकिन इस चोट ने उन्हें ऑस्ट्रेलिया जाने की दौड़ से बाहर कर दिया था।