मैच (8)
PSL 2024 (3)
NZ v AUS (1)
SL v AFG (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
BPL 2023 (2)
ख़बरें

बांग्लादेश के नए टी20 कप्तान नुरुल हसन ने खिलाड़ियों को दी 'निर्भीक क्रिकेट' खेलने की सलाह

ज़िम्बाब्वे दौरे के लिए टी20 कप्तान नियुक्त किए गए नुरुल ऐसा माहौल बनाना चाहते हैं जहां टीम हित सर्वोपरि हो

प्रेस कॉन्फ़्रेंस को संबोधित करते नुरुल  •  BCB

प्रेस कॉन्फ़्रेंस को संबोधित करते नुरुल  •  BCB

हाल ही में नियुक्त हुए बांग्लादेश के टी20 कप्तान नुरुल हसन ने अगले हफ़्ते ज़िम्बाब्वे में होने वाले टी20 सीरीज़ में अपनी टीम से 'निर्भीक क्रिकेट' की मांग की है। बतौर कप्तान नुरुल ने अपने पहले प्रेस वार्ता में बांग्लादेश के इस प्रारूप में हालिया फ़ॉर्म और अपने ख़ुद के खेल पर कई कड़े सवालों का सामना किया।
बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड (बीसीबी) ने महमूदउल्लाह को हटाकर नुरुल को कप्तान तो बनाया है लेकिन इस नियुक्ति की अवधि केवल ज़िम्बाब्वे में होने वाले तीन मुक़ाबलों तक ही है। बांग्लादेश ने अपने पिछले 13 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में केवल एक जीत हासिल की है और ऐसा समझा जा रहा है कि 2019 से कप्तान रह चुके महमूदउल्लाह का स्थान दरअसल शाकिब अल हसन एशिया कप से लेने वाले हैं।
नुरुल मैदान से बाहर जितने शांत स्वभाव के हैं, मैदान पर उतने ही आक्रमकता से पेश आते हैं। हालांकि बांग्लादेश के लिए टी20 टीम में उनकी वापसी पिछले सीरीज़ में ही हुई है और ऐसे में कप्तानी का दबाव आसान नहीं होगा।
नुरुल ने कहा, "यह ज़रूरी होगा कि हम निर्भीक क्रिकेट खेलें। ऐसे में आप अधिक मौक़े बनाते हैं। हमें प्रक्रिया में विश्वास जताना होगा लेकिन हम बहुत आगे की नहीं सोच सकते। कप्तानी एक गर्व की बात है और मैं इस चुनौती का सामना करने को उत्साहित हूं। मैंने हर स्तर पर कप्तानी करते हुए खिलाड़ियों को एक जुट होकर खेलने की प्रेरणा दी है। यहां भी मैं ऐसा माहौल बनाना चाहता हूं जहां टीम हित सर्वोपरि रहे।"
नुरुल ने यह भी कहा कि वह इतिहास और परिणाम को लेकर ज़्यादा नहीं सोचते और यही उनके जीवन में सफलता का राज़ रहा है। उन्होंने कहा, "मैंने रियाद भाई [महमूदउल्लाह] की कप्तानी में बहुत कुछ सीखा है। हर कप्तान अपनी तरह टीम की अगुआई करता है और हर कप्तान से कुछ सीखने को मिलता है। पिछले कुछ सालों में टीम का माहौल बहुत अच्छा रहा है और इसमें सीनियर खिलाड़ियों की अहम भूमिका रही है। इन खिलाड़ियों ने बांग्लादेश क्रिकेट के स्तर को बढ़ाने में बड़ा योगदान दिया है और अब समय आ गया है कि हम इसी काम को जारी रखें।"
नुरुल के लिए एक चुनौती होगी बल्लेबाज़ी से उदाहरण बनकर कप्तानी करना। उन्होंने इस प्रारूप में 29 पारियों में 12.90 के औसत और 111.98 के स्ट्राइक रेट से केवल 271 रन बनाए हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर रहा है 30 नाबाद। उन्होंने कहा, "मेरे बल्लेबाज़ी की शैली ऐसी है कि उसका प्रभाव आंकड़ों में साफ़ नज़र नहीं आता। मैं भले ही 15-20 रन बनाऊं लेकिन उससे टीम को सीधा फ़ायदा होता है। मैं उसी तरह बल्लेबाज़ी करना चाहूंगा।
नुरुल शायद इसके बाद कप्तान का पद शाकिब को सौंप देंगे लेकिन शाकिब ने भी कहा, "वह [नुरुल] एक क़ाबिल कप्तान हैं। बीसीबी ने उनमें प्रतिभा देखा और इस चुनौती के लिए उन्हें चुना। मैं उम्मीद करता हूं वह ज़िम्बाब्वे में इस भरोसे पर खरे उतरेंगे।"

मोहम्मद इसाम ESPNcricinfo के बांग्लादेशी संवाददाता हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के प्रमुख और सीनियर सब एडिटर देबायन सेन ने किया है।