मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

स्मार्ट स्टैट्स की मानें तो ग्लेन मैक्सवेल और आवेश ख़ान रहे हैं अव्वल

स्मार्ट विकेटों की सूची में हर्षल पटेल दूसरे स्थान पर क्यों आए, शीर्ष मैच प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी और भी बहुत कुछ

ईएसपीएनक्रिकइंफो स्टैट्स टीम
16-Oct-2021
आवेश ने इस बार कमाल का प्रदर्शन करके दिखाया है।  •  BCCI

आवेश ने इस बार कमाल का प्रदर्शन करके दिखाया है।  •  BCCI

ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के स्मार्ट स्टैट्स के अनुसार, ग्लेन मैक्सवेल आईपीएल 2021 के एमवीपी(मोस्ट वेल्यूबल प्लेयर) थे। मैक्सवेल को रॉयल चैलेंजर्स बैंगलुरु द्वारा 2021 की नीलामी में 14.25 करोड़ में खरीदा गया था। उन्होंने इस बार बल्ले से शानदार प्रदर्शन किया और सभी की उम्मीदों पर खरे उतरे। यह सिर्फ़ सीज़न में 144.10 के स्ट्राइक रेट से बनाए गए 513 रन की बात नहीं है, मायने यह रखता है कि जिस तरह से कठिन परिस्थितियों में उन्होंने यह करके दिखाया। चेपॉक और शारजाह की सूखी पिचों पर ज़्यादातर खिलाड़ियों को मुश्किल हुई, वहीं मैक्सवेल ने इन मैदानों पर क्रमश: 149.15 और 138.33 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए। मैक्सवेल ने न केवल कठिन परिस्थितियों का सामना किया बल्कि टूर्नामेंट में वह स्पिन के दूसरे सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भी थे। उन्होंने स्पिन के ख़िलाफ़ 171 गेंदों में 154.38 के स्ट्राइक रेट और 52.8 की औसत से 264 रन बनाए। ऋतुराज गायकवाड़ उनसे मामूली आगे थे। मैक्सवेल का प्रभाव स्ट्राइक रेट और औसत तक ही सीमित नहीं था। उन्होंने तब रन बनाए जब अन्य लोगों ने संघर्ष किया और यह सुनिश्चित किया कि परिस्थितियों को समीकरण से पूरी तरह से बाहर कर दिया जाए।
हालांकि, ये नंबर इस सीज़न में उनके प्रदर्शन के साथ पूर्ण न्याय नहीं करते हैं। उसके लिए हमें स्मार्ट स्टैट्स को देखने की ज़रूरत है, जो मैच के संदर्भ में हर बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी के प्रदर्शन को देखता है, साथ ही तब जब बल्लेबाज़ और गेंदबाज़ पर प्रत्येक डिलीवरी पर दबाव होता है। असल में मैक्सवेल के 513 रन की कीमत 624 रन थी। चेपॉक में कोलकाता नाइट राइडर्स के ख़िलाफ़ 2 विकेट नौ रन पर गंवाने के बाद मैक्सवेल ने 49 में से 78 रन बनाकर अपनी टीम को 204 तक पहुंचाने में मदद की। यह प्रदर्शन एक ऐसे गेंदबाज़ी आक्रमण के ख़िलाफ़ था जहां पर बहुत सारे स्पिनर थे। इसी तरह पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ शारजाह में एक और बहुत कठिन पिच पर मैक्सवेल ने 33 में से 57 रन बनाकर आरसीबी को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाने में मदद की। कई मौकों पर मैक्सवेल को अपनी टीम के स्कोर को ऊपर लाने में मदद करने के लिए धीमी रन दर के दबाव को भी झेलना पड़ा।
मैक्सवेल का 46.53 का मैच प्रभाव दूसरे स्थान पर रहे केएल राहुल से थोड़ा आगे है, जिनका मैच प्रभाव स्कोर 46.23 था (भारत और संयुक्त अरब अमीरात में अच्छा प्रदर्शन करने वालों के हिसाब से खेले गए कम से कम 11 मैचों के लिए)। राहुल एक बार फिर पंजाब के लिए मिस्टर भरोसेमंद थे। उन्होंने सिर्फ 13 मैचों में 626 रन बनाए। राहुल का प्रभाव इतना अधिक होने का कारण यह है कि उनके सलामी जोड़ीदार मयंक अग्रवाल को छोड़कर, उनकी टीम में किसी ने बल्ले से अहम योगदान नहीं दिया। राहुल अक्सर पंजाब के लिए कई पारियों में एंकर की भूमिका निभाते थे, उन्होंने मध्य क्रम की विफलताओं के कारण अकेले दम पर संभलकर रन बनाने की कोशिश की।
सूची में बाकी को अलग करने के लिए बहुत कम खिलाड़ी हैं। राशिद खान, आवेश ख़ान और पृथ्वी शॉ शीर्ष पांच में शामिल हैं। सीएसके के सलामी बल्लेबाज़ गायकवाड़ और फ़ाफ़ डुप्लेसी मैच प्रभाव में क्रमशः आठवें और नौवें स्थान पर थे। राहुल की तुलना में उनके कम प्रभाव का कारण मुख्य रूप से इस तथ्य के कारण था कि गायकवाड़ और डुप्लेसी दोनों को बल्लेबाज़ी क्रम के माध्यम से बहुत समर्थन मिला था।
क्रिकइंफो की पर्पल कैप
उच्चतम स्मार्ट विकेट वाले गेंदबाज़ों की सूची में सबसे ज़यादा विकेट लेने वालों की सूची से अलग है, क्योंकि स्मार्ट विकेटों में बल्लेबाज़ की गुणवत्ता, आउट होने के समय उसका स्कोर और उस समय मैच के संदर्भ को ध्यान में रखा जाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए 24 विकेट के साथ विकेट लेने वालों की सूची में दूसरे स्थान पर रहने वाले आवेश 31.5 के कुल योग के साथ स्मार्ट विकेट तालिका में शीर्ष पर हैं। 32 विकेट लेकर टूर्नामेंट के पर्पल कैप विजेता हर्षल पटेल 30.7 स्मार्ट विकेट के साथ थोड़े से पीछे हैं। आवेश के विकेटों को हर्षल की तुलना में अधिक महत्व देने का मुख्य कारण यह है कि जब मैच अधर में था तब आवेश ने बेहतर बल्लेबाज़ों के विकेट लिए। हर्षल के 25 प्रतिशत विकेट निचले क्रम के बल्लेबाज़ों (नंबर 8 से 11) के थे, जबकि आवेश के लिए यह आंकड़ा सिर्फ 16 प्रतिशत था।
आवेश ने जो 24 विकेट लिए, उनमें से 12 शीर्ष चार बल्लेबाज़ों में से थे, जिसमें सलामी बल्लेबाज़ों के आठ विकेट शामिल थे। आवेश ने बीच के ओवरों और पावरप्ले में क्रमशः आठ और छह विकेट लिए, जबकि उन दो चरणों में केवल 6.5 और 6.8 के इकॉनमी से रन दिए। हर्षल के देर से विकेट कुछ मौकों पर महत्वपूर्ण थे, लेकिन अन्य तब आए जब मैच का परिणाम केवल एक औपचारिकता थी। ये पारंपरिक विकेटों की संख्या में इज़ाफा करते हैं, लेकिन स्मार्ट विकेटों की संख्या में बहुत कुछ नहीं जोड़ते हैं।
महत्वपूर्ण विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में से एक शार्दुल ठाकुर थे। उन्होंने 21 विकेट लिए लेकिन वे 26 स्मार्ट विकेट के लायक थे। उनके विकटों में शिखर धवन, वेंकटेश अय्यर (दो बार), आंद्रे रसल, एबी डीविलियर्स, मयंक अग्रवाल और संजू सैमसन शामिल थे। उन्होंने जब भी विकेट लिए तो उसमें उन्होंने या तो किसी साझेदारी को तोड़ा या किसी सेट बल्लेबाज़ को आउट किया, क्योंकि स्मार्ट विकेट बल्लेबाज़ की गुणवत्ता और जिस स्कोर पर उन्हें आउट किया गया था उसको ध्यान में रखा जाता है। एक अच्छा बल्लेबाज़ जो बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है, उसको जल्दी आउट करना, वाकई कमाल की बात तो है ही।
सर्वश्रेष्ठ मैच प्रदर्शन
जबकि मैक्सवेल और आवेश ने सबसे मूल्यवान बल्लेबाज़ और सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ के मामले में पोल ​​पॉज़िशन हासिल की, मैच दर मैच शीर्ष प्रभाव को देखा जाए तो ऑलराउंडरों का दबदबा था। सीएसके के ख़िलाफ़ कायरन पोलार्ड के शानदार ऑलराउंड प्रदर्शन ने उन्हें शीर्ष स्थान हासिल कराया। पोलार्ड ने दो ओवर में 12 रन देकर दो विकेट लिए और बल्लेबाज़ी में में 34 गेंदों में नाबाद 87 रन बनाए। वह 10वें ओवर में बल्लेबाज़ी करने आए जब स्कोर तीन विकेट पर 81 था और 218 रनों का पीछा करते हुए आख़िरी गेंद पर मैच जिताने में मदद की। पोलार्ड ने आठ छक्के और छह चौके लगाए। आरसीबी के ख़िलाफ़ रवींद्र जाडेजा का शानदार प्रदर्शन दूसरे स्थान पर था, और जेसन होल्डर का पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ 24 रन देकर तीन विकेट लेने के बाद 29 गेंद में 47 रन बनाना तीसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।