मैच (11)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
PSL 2024 (2)
Sheffield Shield (3)
WPL (1)
Dang CL (1)
ख़बरें

महिला और पुरुष टीमों की पुरुस्कार राशि के अंतर को कम करने पर विचार कर रहा है आईसीसी

महिला विश्व कप विजेता को 2019 पुरुष विश्व कप विजेता की तुलना में एक तिहाई पुरस्कार राशि मिलेगी

विकेट मिलने पर जश्न मनाती हुईं ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी  •  Fiona Goodall/Getty Images

विकेट मिलने पर जश्न मनाती हुईं ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी  •  Fiona Goodall/Getty Images

आईसीसी विश्व स्तरीय टूर्नामेंट में पुरुष और महिला टीमों को मिलने वाली पुरस्कार राशि के अंतर को कम करने पर विचार कर रहा है। आईसीसी के सीईओ ने कहा कि आगामी आठ वर्षों (2024-31) के दौरान महिला क्रिकेट में होने वाले आयोजनों को लेकर होने वाली आईसीसी गवर्निंग काउंसील की बैठक में प्राइज़ मनी को लेकर भी चर्चा की जाएगी। दरअसल न्यूज़ीलैंड में इस वक़्त महिला विश्व कप का आयोजन हो रहा है। लेकिन इस विश्व कप को जीतने वाली टीम को 2019 में हुए पुरुष विश्व कप की विजेता टीम के मुक़ाबले एक तिहाई पुरस्कार राशि मिलेगी।
आईसीसी के सीईओ जेफ़ ऐलरडाइस से जब इस संबंध में पूछा गया तब उन्होंने कहा कि "आईसीसी के वित्तीय संबंधी ज़्यादातर निर्णय आठ वर्षों के लिहाज़ से लिए जाते हैं। लेकिन आगामी आठ वर्षों को ध्यान में रखते हुए हम निसंदेह महिला और पुरुष क्रिकेट के बीच पुरस्कार राशि के इस अंतर को कम करने पर विचार कर रहे हैं।"
ऐलरडाइस ने मंगलवार को डुनेडिन मे कहा, "हम अगले चक्र के आसपास इस पर चर्चा शुरु करने वाले हैं।और चर्चा का अहम बिंदु महिला व पुरुष क्रिकेट के आयोजनों में टीमों की अंतिम स्थिति में समानता लाना होगा।हालांकि हम इस वक़्त वहां तक नहीं पहुंच पाए हैं। लेकिन हम पुरस्कार राशि की समानता की यात्रा पर अग्रसर हैं।"
अगले वर्ष होने वाले महिला टी ट्वेंटी विश्व कप से पहले जनवरी 2023 में पहली बार महिला अंडर-19 विश्व कप का आयोजन होना है। अंडर-19 विश्व कप टी-ट्वेंटी के फॉर्मेट में खेला जाएगा। आईसीसी अंडर-19 विश्व कप की मेज़बानी को लेकर एक हफ्ते के भीतर अंतिम निर्णय लिया जा सकता है। ऐलरडाइस ने कहा, "2024 से 2027 के दरमियान होने वाले आयोजनों को लेकर चर्चा हो चुकी है। हालांकि इन आयोजनों की मेज़बानी पर अंतिम फ़ैसला लिया जाना बाकी है। जुलाई महीने में इसकी पुष्टि हो जाएगी।" जेफ़ ने आगे कहा कि "जुलाई महीने तक इन आयोजनों की मेज़बानी के संबंध में हमारे पास आवेदन आ जाएंगे और जुलाई महीने के आख़िर में होने वाले वार्षिक कॉन्फ्रेंस के दौरान इस पर फ़ैसला लिया जाएगा।"
आईसीसी ने आठ टीमों के बीच खेले जाने वाले 2022 महिला वनडे विश्व कप के विजेताओं के लिए पुरस्कार राशि को दोगुना कर 1.32 मिलियन डॉलर कर दिया था। इसके साथ ही कुल पुरस्कार राशि में लगभग 75% की वृद्धि कर इसे 3.5 मिलियन डॉलर कर दिया गया है, जो कि 2017 के विश्व कप संस्करण की तुलना में 1.5 मिलियन डॉलर अधिक है। यह विश्व कप इंग्लैंड ने अपने नाम किया था। लेकिन इस वृद्धि के बावजूद फिर भी इस विश्व कप का कुल पुरस्कार पूल, 2019 में 10 टीमों के बीच खेले गए पुरुषों के वनडे विश्व कप में दिए गए 10 मिलियन डॉलर के मुक़ाबले 6.5 मिलियन डॉलर कम है। जहां चैंपियन इंग्लैंड ने 4 मिलियन डॉलर की राशि जीती जबकि उपविजेता न्यूजीलैंड को 2 मिलियन डॉलर का भुगतान किया गया। हारने वाले दो सेमीफ़ाइनलिस्ट, ऑस्ट्रेलिया और भारत को 8 लाख डॉलर का भुगतान किया गया।
हालांकि महिला वनडे विश्व कप का आठ टीम से 10 टीम तक का विस्तार 2025 को संस्करण में न होकर2029 में होगा। ऐलरडाइस ने दोनों आयोजनों में टीमों की संख्या के अंतर के पीछे पुरुषों के मुक़ाबले महिलाओं की जीत का कम होने का कारण गिनाया।
ऐलरडाइस ने कहा, '"हमने काफ़ी लंबा सफ़र तय किया है। हम पुरस्कार राशि के संबंध में लगातार प्रगति कर रहे हैं। हम अगले चक्र मे पुरस्कार राशि के अंतर को कम करने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।" इसके साथ ही महिला क्रिकेट में बढ़ती प्रतिस्पर्धा और लोगों की बढ़ती रुची का भी उन्होंने ज़िक्र किया।उन्होंने कहा कि महिला क्रिकेट में बढ़ती दिलचस्पी का ही यह नतीजा है कि इस विश्व कप में कुल आठ महिला क्रिकेटरों ने मां बनने के बाद भाग लिया। यह आंकड़ा पिछले दो दशक के दौरान हुए विश्व कप में सबसे अधिक है।
कुछ राष्ट्रीय बोर्डों ने हालिया वर्षों में अपनी महिला क्रिकेटरों के लिए अनिवार्य मातृत्व प्रावधान पेश किए हैं। लेकिन क्रिकेट मंथली के अनुसार गर्भावस्था के दौरान और बच्चे के जन्म के बाद महिला क्रिकेटरों की भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए आईसीसी स्तर पर नीति-निर्माण की कमी बनी हुई है, जो कि चर्चा का अहम विषय है। यह पूछे जाने पर कि क्या इस विश्व कप में क्रिकेटर-माताओं द्वारा रुचि दिखाने के बाद गर्भवती खिलाड़ियों और माताओं को अपने खेल करियर को जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए गवर्निंग बॉडी द्वारा निर्देश तैयार करने पर चर्चा शुरू होने की संभावना है?
ऐलरडाइस ने कहा, "यह एक अच्छा मुद्दा है। लेकिन अधिकांश परिवर्तन राष्ट्रीय स्तर पर किए जाएंगे। हम यहां टूर्नामेंट के आसपास की व्यवस्था करेंगे लेकिन माताओं के लिए क्रिकेट खेलना जारी रखने और युवा परिवारों का ध्यान रखने की क्षमता कुछ ऐसी है जो मुझे लगता है कि प्रत्येक सदस्य अपने तरीक़े से जांच कर रहा है और इसमें काफ़ी प्रगति भी हुई है। इस टूर्नामेंट के बाद दुबई में अगले हफ़्ते होने वाली बैठकों में इस अहम बिंदु पर भी चर्चा की जाएगी।"

ऑन्नेशा घोष ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।