मैच (14)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: शानदार सूर्या के लिए कम पड़ गए अंक

राजकोट में ऑलराउंड प्रदर्शन से भारत ने श्रीलंका को 91 रनों से हराकर सीरीज़ 2-1 से अपने नाम की

सूर्यकुमार यादव ने आज अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर का तीसरा शतक जड़ा  •  Associated Press

सूर्यकुमार यादव ने आज अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर का तीसरा शतक जड़ा  •  Associated Press

मुंबई से पुणे होते हुए यह सीरीज़ राजकोट पहुंची थी, जहां निर्णायक मुक़ाबला होना था। सूर्यकुमार यादव ने एक यादगार शतकीय पारी खेलकर श्रीलंका की बल्लेबाज़ी की बारी आने से पहले ही उन्हें बैकफ़ुट पर धकेल दिया था। आइए रेटिंग्स के माध्यम से जानते हैं कि किस भारतीय खिलाड़ी का कैसा प्रदर्शन रहा।
क्या सही, क्या ग़लत?
पूरी सीरीज़ भारत के लिए सबसे बड़ा पॉज़िटिव कुछ रहा तो वह निचले क्रम में आकर अक्षर पटेल की आतिशी बल्लेबाज़ी रही। उन्होंने सिर्फ़ तेज़ी से रन ही नहीं बनाए, बल्कि निरंतरता भी दिखाई। गेंद के साथ भी उन्होंने प्रभाव छोड़ा। इस ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए उन्हें प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़ चुना गया।
जब आप 91 रनों के विशाल अंतर से कोई टी20 मैच जीतते हैं तो इसका मतलब है कि आपने विपक्षी टीम को दौड़ाया है, लेकिन कोई कमी रही तो वह भारतीय गेंदबाज़ों का नियंत्रण । पिछले मैच मैं जहां उन्होंने 7 नो-बॉल सहित 12 अतिरिक्त रन दिए थे आज 11 वाइड गेंदें की।
इशान किशन, 5: पहले टी20 में अच्छी शुरुआत करने के बाद किशन लगातार दूसरे मैच में फ़ेल रहे। निर्णायक मैच में उनसे अच्छी शुरुआत की उम्मीद थी लेकिन पहले ओवर में ही वह दिलशान मदुंशका की बाहर जाती गेंद पर स्लिप में कैच दे बैठे।
शुभमन गिल, 7: अपने डेब्यू सीरीज़ के पहले दो मैचों सस्ते में आउट हुए गिल ने शुरू में अपना समय लिया और आंख जमने के बाद तीसरे ओवर की आख़िरी दो गेंदों को छक्के और चौके के लिए भेजा। हालांकि मिडिल ओवरों में वह बाउंड्री के जूझते नज़र आए और अंतत: बाउंड्री तलाशने के बाद 36 गेंदों 46 रन बनाकर आउट हुए।
राहुल त्रिपाठी, 7.5: अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर का दूसरा मैच खेल रहे त्रिपाठी ने चौके से खाता खोलने के साथ जता दिया था कि वह किस मूड में बल्लेबाज़ी करने वाले हैं। पावरप्ले के आख़िरी ओवर में उन्होंने करुणारत्ना को लगातार दो छक्के जड़े, लेकिन अगली गेंद पर वह शॉर्ट थर्ड पर कैच दे बैठे और 16 गेदों में उनकी 35 रनों की आतिशी पारी समाप्त हुई।
सूर्यकुमार यादव, 10: क्या सूर्या को 10 से ज़्यादा अंक देने चाहिए? यह संभव होता तो ज़रूर दिया जाता। दूसरे छोर से गिल मिडिल ओवरों में संघर्ष कपर रहे थे लेकिन सूर्या ने किसी भी गेंदबाज़ को नहीं बख़्शा। अर्धशतक जड़ने के बाद उन्होंने शतक तक का सफर सिर्फ़ 19 गेंदों में पूरा किया और अंतत: 51 गेदों में 112 रन बनाकर नाबाद लौटे। उन्होंने मैदान के हर कोणे में शॉट जड़े और मौजूदा समय में दुनिया के नंबर टी20 बल्लेबाज़ ने दिखाया कि आख़िर वह क्यों नंबर वन हैं।
हार्दिक पंड्या, 7.5: बतौर बल्लेबाज़ पंड्या के लिए यह सीरीज़ अच्छी नहीं रही, उन्होंने तीन मैचों में 15 की ओसत से सिर्फ़ 45 रन बनाए और टीम को अच्छा फ़िनिश देने में भी विफल रहे। आज भी वह बल्ले से योगदान नहीं दे पाए, लेकिन गेंद के साथ उन्होंने प्रभावित किया और दो विकेट चटकाए। बतौर कप्तान एक और सीरीज़ में उन्होंने साबित किया कि वह फुलटाइम कप्तान की ज़िम्मेदारी संभालने को तैयार हैं।
दीपक हुड्डा, 6: दीपक हुड्डा आज वह कमाल नहीं कर पाए जो उन्होंने वानखेड़े में किया था। चौके से खाता खोलने के बाद अगली गेंद को हवाई रास्ते से मैदान के बाहर भेजने के प्रयास में वह बाउंड्री पर लपके गए।
अक्षर पटेल, 8.5: इस पूरी सीरीज़ में किसी का जलवा रहा तो वह अक्षर पटेल हैं। उन्होंने हर मैच में अंत के ओवरों में भारत के लिए बहुमूल्य रन बनाए और पहले मैच को छोड़कर गेंद के साथ भी अपना प्रभाव छोड़ा। आज उन्हें सिर्फ़ नौ गेंदें मिली जिसमें उन्होंने चौर चौकों की मदद से 22 रन बनाए और एक विकेट चटकाया।
शिवम मावी, 6.5: वानखेड़े में अपने डेब्यू पर गेंद के साथ जलवा बिखेरने वाले मावी ने पुणे में बल्ले के साथ कमाल किया। आज उन्हें ज़्यादा मौक़ा नहीं मिला और सिर्फ़ एक ओवर दिया गया। बाउंड्री लाइन पर असलंका का दौड़ते हुए कैच के लिए मावी के अतिरिक्त अंक दिए गए हैं।
उमरान मलिक, 7: उमरान ने इस सीरीज़ में अपनी हर मैच में दो या उससे ज़्यादा विकेट चटकाने की प्रथा को जारी रखा और श्रीलंका के नीचले क्रम के बल्लेबाज़ों को टिकने नहीं दिया।
युज़वेंद्र चहल, 7.5: काफ़ी देर से गेंदबाज़ी का मौक़ा मिलने के बाद युज़वेद्र चहल ने आते ही असलंका का विकेट चटकाया और अगले ओवर में धनंजय डीसिल्व का पवेलियन भेजा। तीसरे ओवर में उन्हें शानका ने दो छक्के जड़े जिसके बाद उन्हें गेंद नहीं दी गई।
अर्शदीप, 8.5: पुणे में लगातार हो रहे नो-बॉल से हताश अर्शदीप को आज भी अपने पहले ओवर में नौ (तीन वाइड) गेंद करने पड़े। इसके बाद उन्हें रोका गया और पावरप्ले का आख़िरी ओवर डालने के लिए बुलाया गया, जिसमें उन्होंने पथुम निसंका को चलता किया। श्रीलंका का आख़िरी दो विकेट चटकाकर उन्होंने कुल तीन विकेट लिए।

कुणाल किशोर ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ्रीलांसर हैं। @ImKunalKishore