मैच (10)
T20 वर्ल्ड कप (4)
SL vs WI [W] (1)
IND v SA [W] (1)
CE Cup (4)
ख़बरें

ऋषभ पंत : मैं हमेशा मैदान पर ही रहना चाहता हूं

के एल राहुल ने LSG की समस्याओं के बारे में खुल कर अपनी बात रखी

दिल्ली कैपिटल्स के IPL 2024 के आख़िरी लीग मैच के बाद ऋषभ पंत के चेहरे पर कृतज्ञता की भावना साफ़ झलक रही थी। दिसंबर 2022 में में हुई रोड दुर्घटना के बाद ऋषभ पहली बार इस IPL सीज़न मैदान पर खेलने के लिए उतरे थे। हालांकि इतनी बड़ी दुर्घटना के बाद भी उन्होंने कमाल की वापसी की। मैदान पर उन्होंने लगातार अपना 100 फ़ीसदी देना का प्रयास किया। साथ ही इस सीज़न 155.40 की स्ट्राइक रेट से 13 मैचों में 446 रन बनाते हुए वह DC के टॉप स्कोरर रहे। अपने इसी प्रदर्शन के दम पर उन्होंने आगामी टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम में जगह भी बनाई।
लखनऊ सुपर जायंट्स ख़िलाफ़ मिली जीत के बाद पंत ने ब्रॉडकास्टर्स से कहा, "मुझे लगता है कि व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए मैदान पर वापस आना शानदार अनुभव था। मुझे पूरे भारत में जिस तरह का समर्थन मिला, वह अदभुत था। मैं यह देख कर काफ़ी ख़ुश था। मैं जहां भी खेलने गया, मुझे हर व्यक्ति से समर्थन मिला।
"हर कोई जानता था कि मैं डेढ़ साल बाद खेल रहा हूं। मैदान के बाहर मुझे वापसी करने के लिए लंबा इंतज़ार करना पड़ा। मैदान पर आने के बाद मुझे हर चीज़ पसंद आई। मैं अब इससे बिल्कुल भी दूर नहीं रहना चाहता। मैं हर समय मैदान पर रहना चाहता हूं।"
इस सीज़न DC को कई तरह की समस्याओं से होकर गुजरना पड़ा। हैरी ब्रूक्स और लुंगी एनगिडी चोट के कारण पूरा सीज़न नहीं खेल पाए। इशांत शर्मा, मिचेल मार्श और कुलदीप यादव चोटों के कारण कई मैच नहीं खेल पाए। इसके अलावा पंत को धीमी ओवर रेट के कारण एक मैच के निलंबन का भी सामना करना पड़ा। पंत ने इन सारी समस्याओं के बारे में बात की।
उन्होंने कहा, " हमने सीज़न की शुरुआत बहुत उम्मीद के साथ की थी। हालांकि कुछ खिलाड़ियों के चोट, कई उतार-चढ़ाव और कुछ खिलाड़ियों का बिमार हो जाना हमें महंगा पड़ा। हालांकि एक फ्रेंचाइज़ी के रूप में आप हर समय शिक़ायत नहीं कर सकते। आपके हाथ में जो कुछ भी है, उसका आपको सबसे अच्छा उपयोग करना होगा।
"मुझे लगता है कि हम प्लेऑफ़ बहुत करीब थे। जैसा कि आप देख सकते हैं कि आख़िरी मैच तक देख हम प्लेऑफ़ के लिए क़रीबी मुक़ाबले में हैं। आप जानते हैं कि कुछ चीजे़ं हैं, जिन्हें आप नियंत्रित कर सकते हैं, और कुछ चीजें ऐसी हैं जिन्हें आप नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। पिछला मैच में नहीं खेल सका। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि अगर मैं खेला होता तो हम निश्चित रूप से जीत जाते लेकिन मुझे लगता है कि हमारे पास क्वालिफ़ाई करने का बेहतर मौक़ा होता।"
राहुल : पावरप्ले में हमारा बल्लेबाज़ी प्रदर्शन काफ़ी निराशजनक रहा
लगातार तीसरे मैच में मिली हार के बाद न के एल राहुल ने कहा कि उनकी टीम को दिल्ली में बल्लेबाज़ी के अनुकूल परिस्थितियों के बीच 209 रनों के लक्ष्य का पीछा करना चाहिए था। राहुल के अनुसार इस पूरे सीज़न में उनकी टीम ने शुरुआत में ही कई विकेट गंवाएं हैं और यही उनकी टीम की सबसे बड़ी समस्या रही है।
राहुल ने कहा, "पूरे सीज़न में हमारे लिए यही समस्या रही है कि हम पावरप्ले में काफ़ी विकेट गंवाते रहते हैं। हम कभी भी टीम को ठोस शुरुआत नहीं दिला पाए। ऐसा होने के कारण [मार्कस] स्टॉयनिस और [निकोलस] पूरन जैसे खिलाड़ियों का हमें लाभ नहीं मिला। शायद इसी कारण से हमारी टीम आज इस स्थिति में है।"
"मुझे लगता है कि इस मैच में पूरे 40 ओवर पिच एक जैसी ही थी। जब हमने पहले ओवर में जेक [फ़्रेजर मक्गर्क] को आउट किया, तो मैंने सोचा कि हमने वास्तव में अच्छी शुरुआत की है और हमें वहां से फ़ायदा मिलना चाहिए था। लेकिन यह सीज़न ऐसा ही रहा है, जहां खिलाड़ी लगातार आक्रामम बल्लेबाज़ी करते रहते हैं।"