मैच (11)
Nepal Tri-Nation (1)
WPL (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (2)
Durham in ZIM (1)
IND v ENG (1)
ख़बरें

खिलाड़ियों को रोटेट करने से ही टीम सही तरीके से आगे बढ़ेगी:रोहित

हम पहले ही टीम के काफ़ी खिलाड़ियों को चोटिल होते हुए देख चुके हैं

जब विराट कोहली ने भारत के टेस्ट कप्तान के रूप में अपने इस्तीफे़ की घोषणा की थी, तो चयनकर्ताओं के पास सबसे सीधा विकल्प रोहित शर्मा को तीनों प्रारूप सौंपना था। वह तीनों प्रारूपों में वह टीम के स्थाई खिलाड़ी हैं, अनुभवी हैं, और उन्होंने अपनी आईपीएल टीम का नेतृत्व शानदार ढंग से किया है। हालांकि चयनकर्ताओं को उस निष्कर्ष पर पहुंचने में थोड़ा समय लगा क्योंकि वे भारतीय टीम के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए रोहित की फ़िटनेस के बारे में सुनिश्चित होना चाहते थे।
रोहित नेअपने कार्यभार के बारे में कहा, 'जहां तक ​​मेरा सवाल है, मुझे फिलहाल कोई समस्या नहीं है। "मैं सभी मैच खेलने के लिए उत्सुक हूं। काम का बोझ हमेशा इस बात पर निर्भर करता है कि उसके बाद क्या होता है। आप इसे दिन-ब-दिन लेते हैं, और समझते हैं कि आपको क्या करना है। यदि आपके पास एक ब्रेक लेने का अवसर है, तो आप ब्रेक लेंगे। साथ ही किसी और खिलाड़ी को टीम में आने का मौक़ा देंगे और देखेंगे कि दूसरे खिलाड़ियोंं में किस तरह की क्षमता है।"
हालांकि एक समय ऐसा भी आएगा जब रोहित के वर्कलोड को मैनेज करना होगा। रोहित ने कहा, "मैं अपने मन में बहुत स्पष्ट हूं कि आगे मैं कैसे और किस तरह से अपने आने वाले मैचों को खेलना चाहता हूं।" "जाहिर है कि काम के बोझ को प्रबंधित करना मेरे लिए और सभी खिलाड़ियों के लिए आगे बढ़ने की कुंजी होगी। हमने पहले ही अपने टीम में काफ़ी चोटें देखी हैं, इसलिए हमें इस बात से बहुत सावधान रहना होगा कि हम खिलाड़ियों को कितना मैच खेलने देते हैं और हम उन्हें कैसे रोटेट करते हैं। हमें यह भी देखना होगा कि हम उन्हें कब और कितना ब्रेक देते हैं। इसलिए हम इसे प्रबंधित करने की कोशिश कर रहे हैं, हम एक रोडमैप बनाने की कोशिश कर रहे हैं कि हम कैसे अपनी टीम को आगे लेकर जाना चाहते हैं।"
रोहित की कप्तानी को लेकर कोई समय सीमा तय नहीं की गई है, लेकिन चयनकर्ताओं के अध्यक्ष चेतन शर्मा ने कहा कि वे युवा नेतृत्व को तैयार करने के लिए 34 वर्षीय रोहित के कार्य काल का उपयोग करने वाले हैं। भारत ने ऋषभ पंत, केएल राहुल और जसप्रीत बुमराह को आने वाले समय में टीम नेतृत्व की क्षमता को विकसित करना चाहता है।
रोहित से पूछा गया कि भारत के लिए एक नया कप्तान तैयार करने में उनकी क्या भूमिका होगी। रोहित ने कहा, "उन्हें सब कुछ बताने या सिखाने में मेरी इतनी भूमिका नहीं होगी। जाहिर है कि वे सभी परिपक्व क्रिकेटर हैं, लेकिन यह सिर्फ़ इतना है कि मुश्किल परिस्थितियों में उनकी मदद करना या उनका मार्गदर्शन करने के लिए किसी अनुभवी क्रिकेटर का उनके आसपास रहने की ज़रूरत है। मुझे ऐसा करने में बहुत खुशी होगी। हम भी ऐसे ही विकसित हुए हैं। हमें किसी और ने तैयार किया था। यह एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। हर कोई इससे गुजरता है।"
"अगर आप बुमराह, केएल, पंत की बात करते हैं, तो इन सभी लोगों की भारत की सफलता में बड़ी भूमिका है। साथ ही उन्हें एक नेतृत्वकर्ता के रूप में भी देखा जाता है। वे समझते हैं कि उन्हें एख खिलाड़ी के रूप में क्या करने की आवश्यकता है। साथ ही उन्हें एहसास है कि उनके कंधों पर किस तरह की जिम्मेदारी है। आप इन लोगों पर कोई दबाव नहीं बनाना चाहते। इस समय आप चाहते हैं कि वे अपने खेल का आनंद लें, खुलकर सामने आएं और अपने कौशल का प्रदर्शन करें।"

सिद्धार्थ मोंगा ESPNcricinfo के अस्सिटेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।