मैच (16)
IPL (3)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (2)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

यौन शोषण मामले में गुनातिलका को मिली ज़मानत

श्रीलंकाई बल्लेबाज़ पर लगा है 82 लाख का जुर्माना और टिंडर समेत सोशल मीडिया प्रयोग पर प्रतिबंध

एएपी
17-Nov-2022
फ़ाइल तस्वीर : गुनातिलका अपने क़ानूनी सलाहकारों की उपस्तिथि में ही अन्य सोशल मीडिया अकाउंट का प्रयोग कर पाएंगे  •  Getty Images

फ़ाइल तस्वीर : गुनातिलका अपने क़ानूनी सलाहकारों की उपस्तिथि में ही अन्य सोशल मीडिया अकाउंट का प्रयोग कर पाएंगे  •  Getty Images

इस रिपोर्ट में कुछ जानकारीयां विशद हैं और मानसिक स्वास्थ्य के लिए अनुचित हो सकती हैं।
यौन शोषण के मामले में श्रीलंकाई बल्लेबाज़ दनुष्का गुनातिलका को ज़मानत मिली है लेकिन इस केस का विचारण अब भी बाक़ी है। साथ ही गुनातिलका पर डेटिंग ऐप टिंडर समेत किसी भी सोशल मीडिया पर सक्रिय होने पर प्रतिबंध लगाया गया है।
31-वर्षीय गुनातिलका, जो श्रीलंका के टी20 विश्व कप दल का हिस्सा थे, को 6 नवंबर को सिडनी के हायट रीजेंसी होटल से गिरफ़्तार किया गया था। उन पर बिना अनुमति के यौन शोषण करने के चार आरोप लगाए गए हैं और उन्होंने अब तक अपनी बेगुनाही की कोई अपील भी दर्ज नहीं की है।
गुरुवार को सिडनी के डाउनिंग सेंटर की स्थानीय अदालत की न्यायाधीश जैनेट वॉलक्विस्ट ने पार्कली जेल से ऑडियो-विज़ुअल लिंक से प्रस्तुत गुनातिलका को ज़मानत देने का फ़ैसला सुनाया। हालांकि सरकारी वक़ील केरी-ऐन मक्किनन ने इस फ़ैसले का विरोध करते हुए गुनातिलका के देश से भागने अथवा शिकायत दर्ज कर वाली महिला को हानि पहुंचाने के ख़तरे पर चिंता जताई।
वॉलक्विस्ट ने बताया कि उन्होंने ज़मानत की बात पर यही ध्यान में रखा कि गुनातिलका अगर ऑस्ट्रेलियाई नागरिक होते तो ऐसे मामले में उनके साथ क्या बरताव किया जाता। गुनातिलका के वक़ील मुरुगन थंगराज ने माना कि ऐसे में ज़मानत मिलना स्वाभाविक होता।
अदालत में जमा की गई पुलिस की फ़ैक्ट शीट में घटना का वर्णन है, जिसके अनुसार, "शिकायतकर्ता ने दोषी के कलाई को पकड़कर उनके हाथों को अपने शरीर से हटाने का प्रयास किया लेकिन इस पर दोषी ने उनके गर्दन पर और ज़ोर ज़ोर से दबाव डाला। ऐसे में शिकायतकर्ता वहां से निकल नहीं पाईं और अपने जान को ख़तरे में महसूस करने लगी।"
गिरफ़्तार होने के बाद गुनातिलका ने पुलिस से बात करते हुए शिकायतकर्ता की कई बातों की पुष्टि की लेकिन उन्होंने हिंसात्मक होने या अनुमति के बिना किसी आचरण के आरोपों को ख़ारिज कर दिया था। हालांकि वक़ीलों के अनुसार पीड़िता ने कंडोम के बिना संभोग और अन्य गतिविधियों की अनुमति स्पष्ट रूप से नहीं दी थी।
थंगराज ने बताया कि गुनातिलका ने अब तक अधिकारीयों के साथ पूरा सहयोग किया है और उन्हें अपना पासपोर्ट भी पकड़ा दिया है। ऐसे में उन्हें देश से भागने में कोई फ़ायदा नहीं हो सकता।
ज़मानत के लिए गुनातिलका पर क़रीब 82 लाख रुपये (डेढ़ लाख ऑस्ट्रेलियाई डॉलर) का जुर्माना लगा है और साथ ही कुछ शर्त भी डाले गए हैं। वह टिंडर या अन्य डेटिंग ऐप का प्रयोग नहीं कर सकते और अन्य सोशल मीडिया अकाउंट का भी अपने क़ानूनी सलाहकारों की उपस्तिथि में ही प्रयोग कर पाएंगे।
मक्किनन ने पीड़िता पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा, "यह व्यक्ति उनके घर गया था। इसे पता है वह कहां रहती हैं।"
थंगराज ने तर्क दिया कि रात का वक़्त था, गुनातिलका उस इलाक़े से अपरिचित थे और वह साथ में 15 मिनट तक पैदल चले थे। उन्होंने कहा, "ऐसे हालात में अगर वह चाहें भी तो इतनी बारीक़ी से कैसे याद रख पाएंगे?"
मक्किनन ने दावा किया है कि "मुख्यतया श्रीलंकाई नाम धारण करने वाले" कई लोग सोशल मीडिया पर पीड़िता को परेशान करते आ रहे हैं और उन्हें अपने सारे अकाउंट बंद करने पड़े हैं। हालांकि थंगराज ने इसे ख़ारिज करते हुए कहा कि गुनातिलका ने ऐसे लोगों को नहीं उकसाया होगा। उनके मुवक्किल को अब एक निर्धारित स्थान पर रहना होगा और रोज़ पुलिस को रिपोर्ट करना होगा।
श्रीलंका विश्व कप में अपना आख़िरी मैच 5 नवंबर को हारकर टूर्नामेंट से बाहर हो गया था। दल का हिस्सा रहे गुनातिलका अपने साथियों के साथ अगली सुबह श्रीलंका के लिए वापसी करने वाले थे।
इस केस की अदालत में अगली सुनवाई 12 जनवरी को होगी।

अनुवाद ESPNcricinfo के सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।