मैच (15)
एशिया कप (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
MLC (2)
Women's Hundred (2)
Men's Hundred (2)
TNPL (1)
One-Day Cup (5)
फ़ीचर्स

आंकड़े: टी20 विश्व कप की सबसे बड़ी जीत अब इंग्लैंड के नाम

ओमान के ख़िलाफ़ रिकॉर्ड जीत में इंग्लैंड ने बनाए कई बड़े कीर्तिमान

Mark Wood got in on the action with his first ball, England vs Oman, T20 World Cup, Group B, Antigua, June 13, 2024

इंग्लैंड ने आक्रामक बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी की  •  ICC via Getty Images

गुरूवार देर रात T20 वर्ल्ड कप के ग्रुप बी के एक मुक़ाबले में इंग्लैंड ने ओमान को आठ विकेट से हरा दिया। ओमान द्वारा दिए गए 48 रनों के लक्ष्य तक इंग्लैंड सिर्फ़ 3.1 ओवरों में ही पहुंच गया और कई अहम रिकॉर्ड बनाए। आइए डालते हैं इस पर एक नज़र।
101 इंग्लैंड जब ओमान द्वारा दिए गए 48 रनों के लक्ष्य तक पहुंचा, तब 101 गेंदें शेष थीं। यह पुरूष टी20 विश्व कप में गेंदों के हिसाब से सबसे बड़ी जीत है। उन्होंने श्रीलंका के रिकॉर्ड को तोड़ा, जब 2014 टी20 विश्व कप के दौरान उन्होंने नीदरलैंड्स को 90 गेंद शेष रहते हुए हराया था। तब श्रीलंका ने 40 रनों के लक्ष्य को पांच ओवर में हासिल कर लिया था। यह टी20आई में गेंदों के हिसाब से नौवीं सबसे बड़ी जीत है।
47 ओमान का यह स्कोर टी20 विश्व कप में चौथा न्यूनतम स्कोर है।
1 यह टी20आई में ओमान का न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले उनका न्यूनतम टी20आई स्कोर 78 रन था, जो उन्होंने नेपाल के ख़िलाफ़ 2022 में बनाया था। यह इंग्लैंड के ख़िलाफ़ किसी भी टीम का दूसरा सबसे कम स्कोर है। इससे पहले उन्होंने 2019 में वेस्टइंडीज़ को 45 रनों पर ऑलआउट किया था।
1 टी20 विश्व कप में यह पहला मौक़ा है, जब किसी टीम के तीन गेंदबाज़ों ने कम से कम तीन विकेट लिए हों। ऐसा इस मैच में जोफ़्रा आर्चर, मार्क वुड और आदिल रशीद की तिकड़ी ने किया। टी20आई में ऐसा 18 बार हो चुका है, लेकिन विश्व कप में यह पहला था।
4 टी20आई में यह सिर्फ़ चौथा मौक़ा है, जब तीन गेंदबाज़ों ने मिलकर विपक्षी पारी को समाप्त किया।
1 पुरूष टी20आई में ऐसा पहली बार हुआ, जब पारी की पहली दो गेंदों पर दो छक्के लगे। फ़िल सॉल्ट ने ऐसा किया।
99 इंग्लैंड और ओमान के बीच मैच सिर्फ़ 99 गेंदों तक चला। यह गेंदों के हिसाब से टी20 विश्व कप का दूसरा सबसे छोटा मैच है। 2014 में श्रीलंका और नीदरलैंड्स के बीच हुआ मैच सिर्फ़ 93 गेंदों तक चला था। टी20आई में ऐसा 12 बार हो चुका है, जब कोई पूर्ण मैच 100 गेंदों से कम चला हो।

संपत बंडारूपल्ली ESPNcricinfo में स्टैस्टिशियन हैं