मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (5)
IND v SA [W] (1)
T20 Blast (6)
CE Cup (3)
ख़बरें

सूर्यकुमार एक एक्स-फ़ैक्टर क्योंकि वह अनोखे हैं : स्टायरिस

पूर्व न्यूज़ीलैंड ऑलराउंडर का मानना है सूर्यकुमार यादव और ऋषभ पंत के टी20 सफलता के चलते केएल राहुल के लिए वापसी का रास्ता आसान नहीं

Suryakumar Yadav got into all sorts of unorthodox positions during his 44-ball 76 but was effective all the same, West Indies vs India, 3rd T20I, Basseterre, August 2, 2022

वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ तीसरे टी20 मैच में सूर्यकुमार ने 44 गेंदों में 76 रनों की पारी खेली थी  •  AFP/Getty Images

पूर्व न्यूज़ीलैंड ऑलराउंडर स्कॉट स्टायरिस का मानना है कि सूर्यकुमार यादव की मैदान के चारों ओर शॉट लगाने की क़ाबिलियत उन्हें एक "अनोखा" बल्लेबाज़ बनाती है और उनके हालिया फ़ॉर्म को देखते हुए केएल राहुल जब भी भारतीय टीम में लौटेंगे, तब उनके लिए एकादश में फ़िट होना मुश्किल हो सकता है।
वेस्टइंडीज़ में चल रहे सफ़ेद गेंद दौरे पर टी20 मैचों में सूर्यकुमार से पहली बार ओपन करवाया गया है। पहले दो मैचों में केवल 24 और 11 बनाकर उन्होंने सेंट किट्स में मंगलवार हुए तीसरे मैच में भारत की सात विकेट की जीत में 76 रनों की पारी खेली। स्टायरिस ने 'स्पोर्ट्स18' के 'स्पोर्ट्स ओवर द टॉप' कार्यक्रम पर कहा, "जो बहुत अच्छे खिलाड़ी होते हैं वह किसी भी स्थान पर अच्छी पारी खेलते हैं। मुझे कोई आश्चर्य नहीं हो रहा कि उन्होंने [सूर्या] ओपनिंग में भी प्रभावित किया है। यह क्या लाजवाब प्रॉब्लम है भारत के लिए। मैं ऐसे संकट को ईर्ष्या की नज़र से देखता हूं। क्या सूर्या ओपन करेंगे या तीन या चार पर खेलेंगे। शायद वरिष्ठ खिलाड़ियों के लौटने पर उन्हें नंबर चार पर खेलना पड़ेगा।"
स्टायरिस का इशारा राहुल और विराट कोहली जैसे बल्लेबाज़ों की तरफ़ था। कोहली को इस दौरे के लिए आराम दिया गया है और राहुल चोट से उबरकर टीम में वापसी करने वाले थे लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते शुरू में उन्हें वनडे सीरीज़ की टीम से बाहर जाना पड़ा। इसके बात पता चला कि वह अपनी चोट से पूरी तरह ठीक नहीं हुए है और ऐसे में वह ज़िम्बाब्वे में आने वाले वनडे सीरीज़ में भी भारतीय दल का हिस्सा नहीं होंगे।
भारत के लिए टी20 प्रारूप में 56 मैचों में 40.68 के औसत, 142.49 के स्ट्राइक रेट और दो शतक और 16 अर्धशतकों के सहारे 1831 रन बनाने वाले राहुल आम तौर पर कप्तान रोहित शर्मा के साथ सलामी जोड़ी का हिस्सा बनते हैं। उन्होंने फ़रवरी 2021 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ वनडे मैच के बाद भारत के लिए कोई मैच नहीं खेला है। उनकी अनुपस्थिति में इशान किशन, ऋतुराज गायकवाड़, ऋषभ पंत और सूर्यकुमार ने भारत के लिए पारी की शुरुआत की है। वेस्टइंडीज़ से पहले इंग्लैंड में खेले गए सीरीज़ में पंत ने रोहित के साथ ओपन किया था और ऐसे में वेस्टइंडीज़ में उनको वापस नंबर चार का स्थान मिलना भी थोड़ा आश्चर्यजनक लगा था। ख़ास कर इस वजह से कि इंग्लैंड में आख़िरी टी20 मैच में सूर्यकुमार ने अपने छोटे भारत करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलते हुए नंबर चार पर 117 रन बनाए थे।
वह गेंद को कहीं भी मार सकते हैं और ये विरोधी टीम के लिए बहुत कड़ी चुनौती होती है। वह पारंपरिक नहीं है और केवल लॉन्ग ऑफ़ और लॉन्ग ऑन पर नहीं मारते। तेज़ गेंदबाज़ों के विरुद्ध एक्स्ट्रा कवर से लेकर फ़ाइन लेग तक उनके विकल्प हैं।
स्कॉट स्टायरिस
स्टायरिस ने कहा, "मुझे पता है भारतीय टीम में ऐसा अच्छा माहौल है जहां कोई खिलाड़ी किसी दूसरे को मौक़ा देने से कतराता नहीं। साथ ही मुझे यह भी पता है कि मैं कभी अपना स्थान किसी और को नहीं देना चाहता था। अब ऐसी स्थिति आई है की वह [राहुल] चोटिल होकर टीम से बाहर हैं और ऐसे में सूर्यकुमार एवं ऋषभ सामने आ रहे हैं, ढेर सारे रन बना रहे हैं। ऐसे में चयनकर्ताओं को सोचना पड़ सकता है कि क्या उन्हें राहुल की ज़रूरत भी है? क्या वह वापसी करने पर फ़ॉर्म में होंगे?"
स्टायरिस ने सूर्यकुमार की प्रशंसा में कहा, "वह गेंद को कहीं भी मार सकते हैं और ये विरोधी टीम के लिए बहुत कड़ी चुनौती होती है। वह पारंपरिक नहीं है और केवल लॉन्ग ऑफ़ और लॉन्ग ऑन पर नहीं मारते। तेज़ गेंदबाज़ों के विरुद्ध एक्स्ट्रा कवर से लेकर फ़ाइन लेग तक उनके विकल्प हैं। वह एक एक्स-फ़ैक्टर लाते हैं क्योंकि वह एक अनोखे बल्लेबाज़ हैं और इसमें यह मायने नहीं रखता वह दाएं हाथ से खेलते हैं या बाएं हाथ से।"
सूर्यकुमार को इस सप्ताहांत फ़्लोरिडा में दो और मौक़े मिलेंगे अपनी दावेदारी को मज़बूत करने का। भारत फ़िलहाल सीरीज़ में 2-1 से आगे है और अगर सूर्यकुमार बतौर सलामी बल्लेबाज़ दो और बड़े योगदान दे सकते हैं तो एशिया कप में भारत के बल्लेबाज़ी क्रम की रूपरेखा को लेकर अच्छा विवाद छिड़ सकता है।

देबायन सेन ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड हैं।