मैच (18)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (2)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
CE Cup (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

देवरायण : हार्ड लेंथ के मास्टर बनते जा रहे हैं सूर्यकुमार

कठिन पिच पर 76 रन बनाकर उन्होंने मुश्किल लक्ष्य को आसान बना दिया

टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर की 20 पारियों में सूर्यकुमार यादव ने छह बार 50 से अधिक रन बनाए हैं। इनमें से तीन स्कोर तीसरे नंबर पर जबकि दो चौथे नंबर पर आए हैं। मगंलवार को उन्होंने अपना हालिया अर्धशतक सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर बनाया जब उनके साथी जोड़ीदार रोहित शर्मा को रिटायर्ड हर्ट होना पड़ा। सेंट किट्स में सूर्यकुमार ने 165 के मुश्किल रन-चेज़ को सरल बनाने का काम किया।
सूर्यकुमार बल्लेबाज़ी को आसान बना देते हैं। अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर की शुरुआत ही उन्होंने जोफ़्रा आर्चर की पहली गेंद को हुक करते हुए की थी। पिछले महीने ट्रेंट ब्रिज में 216 के लक्ष्य का पीछा करते हुए उन्होंने 55 गेंदों पर 117 रन बनाए जहां अन्य कोई भारतीय बल्लेबाज़ 30 का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाया।
तीसरे टी20 मैच में उन्होंने दो अतरंगी शॉट खेले, ऐसे शॉट जो केवल वह ही लगा सकते हैं। जब अल्ज़ारी जोसेफ़ ने हार्ड लेंथ पर 140 किलोमीटर की गति से गेंद डालकर ऑफ़ स्टंप पर आक्रमण किया तो सूर्यकुमार से सीधे खड़े रहते हुए केवल अपने हाथों का उपयोग किया और गेंद को वाइड लॉन्ग ऑफ़ के ऊपर से छक्के के लिए भेज दिया। जोसेफ़ क्रीज़ के कोने से शॉर्ट गेंद डालने आए तो सूर्यकुमार ने घुटनों पर बैठते हुए विकेटकीपर के ऊपर से उसे रैंप कर दिया।
ठीक इसी तरह सूर्यकुमार ने 15 शॉर्ट गेंदों पर 29 रन बटोरे जिससे श्रेयस अय्यर को अपना समय लेने का मौक़ा मिला। इन गेंदों पर परेशान होने वाले श्रेयस ने 13 शॉर्ट गेंदों पर केल नौ रन बनाए। जब सूर्यकुमार दूसरे छोर से प्रहार कर रहे थे, श्रेयस को शॉर्ट गेंदों पर बचाव करने का अवसर मिला।
जब वेस्टइंडीज़ के गेंदबाज़ों ने फ़ुल गेंदों पर सूर्यकुमार को तंग करने का प्रयास किया, उन्होंने आसानी से रन बनाए। दूसरे टी20 में छह विकेट लेने वाले ओबेद मकॉए ने अपने पहले ओवर में लेंथ में चूक कर दी तो सूर्यकुमार ने कवर की दिशा में चौका लगाया। जेसन होल्डर ने यॉर्कर के साथ चकमा देने की कोशिश की तो सूर्यकुमार ने मिड ऑन के ऊपर से शॉट खेल दिया।
अकील हुसैन और डॉमिनिक ड्रेक्स के विरुद्ध भी सूर्यकुमार ने निडर होकर बल्लेबाज़ी की। 26 गेंदों पर अर्धशतक पूरा करने के बाद वह पुरानी गेंद के विरुद्ध धीमे हो गए। अंतिम 18 गेंदों पर उन्होंने केवल 23 रन बनाए। जब वह 15वें ओवर में आउट हुए, भारत को जीत के लिए 33 गेंदों पर केवल 30 रनों की आवश्यकता थी।
प्लेयर ऑफ़ द मैच चुने जाने के बाद सूर्यकुमार ने कहा, "मैं बहुत प्रसन्न हूं। मुझे लगा जब रोहित (रिटायर्ड हर्ट होकर) बाहर गए, किसी एक को 15-17 ओवर तक बल्लेबाज़ी करनी थी। मैंने मैदान पर जाकर ठीक वैसा ही किया।"
उन्होंने आगे कहा, "हमने कल देखा कि दूसरी पारी में क्या हुआ। इसलिए यह महत्वपूर्ण था कि कोई अंत तक खेले और टीम को मैच जिताए। मैं इसी पर ध्यान दे रहा था।"
कप्तान रोहित इस पारी से प्रभावित हुए और उन्होंने कहा कि सूर्यकुमार ने एक कठिन लक्ष्य को सरल बना दिया।
रोहित ने कहा, "जब आपको अच्छी शुरुआत मिलती है, तब उसे बड़े स्कोर में तब्दील करना महत्वपूर्ण है। 30-40 के स्कोर अच्छे लगते है लेकिन जब आप 70-80 या 100 बनाते हैं तब आप टीम के लिए बड़ा योगदान देते हैं। सूर्या ने बढ़िया बल्लेबाज़ी की और (श्रेयस) अय्यर के साथ बढ़िया साझेदारी निभाई।"
भारतीय कप्तान ने आगे कहा, "जब आप ऐसे लक्ष्य का पीछा करते हैं तब कुछ भी हो सकता है क्योंकि यह आसान लक्ष्य नहीं है। पिच में गेंदबाज़ों के लिए मदद थी। हमारे लिए अहम था कि हम सही गेंदों का चुनाव करते हुए अच्छे शॉट लगाए।"
केएल राहुल की अनुपस्थिति में भारत ने इस साल टी20 प्रारूप में सात अलग ओपनरों का इस्तेमाल किया हैं। कैरेबियन में सूर्यकुमार टीम के सातवें नए ओपनर हैं।
सूर्यकुमार ने बताया कि उन्हें इस ज़िम्मेदारी में मज़ा आ रहा है। उन्होंने कहा, "मुझे मज़ा आ रहा है क्योंकि मैं पहले आईपीएल में ऐसा कर चुका हूं। मैंने ख़ुद पर विश्वास जताया और आनंद लिया। मैं जानता था कि मुझे तेज़ गति का उपयोग करना था और मैंने अपनी पारी को लंबा किया।"
इस बात की संभावना अधिक है कि राहुल की वापसी पर सूर्यकुमार मध्य क्रम में लौट आएंगे लेकिन उनकी बल्लेबाज़ी की यह विविधता टी20 विश्व कप में भारत के लिए कारगर साबित हो सकती है।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।