फ़ीचर्स

क्या भारत और पाकिस्तान के बीच विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फ़ाइनल होना संभव है?

अंक तालिका में पहले पायदान पर बैठे साउथ अफ़्रीका को फ़ाइनल में पहुंचने के लिए क्या करना होगा?

Jasprit Bumrah got rid of Zak Crawley just before tea, England vs India, 5th Test, Birmingham, 4th day, July 4, 2022

भारत और पाकिस्तान डब्ल्यूटीसी के फ़ाइनल में पहुंच सकते हैं लेकिन रास्ता थोड़ा कठिन है  •  Getty Images

वर्तमान विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप चक्र में अभी भी कुल नौ श्रृंखलाएं बाक़ी है।आइए देखते हैं कि फ़ाइनल में पहुंचने के लिए किन टीमों को क्या करना होगा?
पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच खेले गए टेस्ट सीरीज़ का परिणाम 1-1 रहा। टेस्ट में मिली जीत के बाद श्रीलंका अंक तालिका में तीसरे स्थान पर पहुंच गया है। हालांकि अभी भी उन्हें फ़ाइनल में पहुंचने के लिए एक लंबा और कठिन रास्ता तय करना है। अभी उनके पास कुल 53.33 फ़ीसदी अंक हैं। हालांकि टॉप दो टीमों की तुलना में उनके पास काफ़ी कम अंक है। इसके अलावा श्रीलंका इस डब्ल्यूटीसी चक्र में अपनी छह में से पांच सीरीज़ खेल चुका है। अब उन्हें बस न्यूज़ीलैंड के साथ दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ खेलना है। अगर वह दोनों टेस्ट जीतते हैं तो उनके पास कुल 61.1 फ़ीसदी अंक होंगे। अगर सीरीज़ 1-1 की बराबरी पर ख़त्म होती है तो उनके पास सिर्फ़ 52.78% अंक होंगे।
पाकिस्तान फ़िलहाल अंक तालिका में पांचवें स्थान पर है। अंक तालिका में श्रीलंका, भारत, पाकिस्तान और वेस्टइंडीज़ का अंक 50 और 53.33 फ़ीसदी के बीच है। पाकिस्तान के लिए एक अच्छी बात यह है कि उन्हें अभी दो टेस्ट सीरीज़ खेलना है और दोनों घरेलू मैदान पर है। इंग्लैंड की टीम तीन टेस्ट मैचों के लिए और न्यूज़ीलैंड की टीम दो टेस्ट मैचों के लिए पाकिस्तान का दौरा करेगी। अगर पाकिस्तान इन पांचों टेस्ट मैच को जीतने कामयाब होता है तो उनके पास कुल 69.05% अंक होंगे। अगर वह पांच में से एक मैच हार जाते हैं और चार जीतते हैं तो उनका अंक 61.9 फ़ीसदी हो जाएगा।
टेबल टॉपर साउथ अफ़्रीका को फ़ाइनल में पहुंचने के लिए क्या करने की आवश्यकता है?
साउथ अफ़्रीका के पास फ़िलहाल 71.43% अंक हैं और अंक तालिका में वह शीर्ष पर है। हालांकि उनके लिए आगामी सीरीज़ कहीं से भी आसान नहीं होने वाली है। उन्हे इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ तीन-तीन मैचों की टेस्ट सीरीज़ खेलनी है। इसके बाद घरेलू धरती पर उन्हें वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ खेलनी है। अगर उनकी टीम वेस्टइंडीज़ को 2-0 से हराने में कामयाब हो जाती है तब भी उन्हें 60 फ़ीसदी अंक तक पहुंचने के लिए काफ़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। मान लिया जाए कि इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ वे 1-2 से हार जाते हैं और वेस्टइंडीज़ को 2-0 से हरा देते हैं तब वे 60 फ़ीसदी अंक बटोरने में क़ामयाब हो जाएंगे। अगर ऑस्ट्रेलिया या इंग्लैंड के ख़िलाफ़ किसी एक सीरीज़ को वह 2-1 से जीतते हैं और एक सीरीज़ 1-2 से हार जाते हैं तो उनके पास 66.67 अंक होंगे। अगर ऐसा होता है तो वे फ़ाइनल में पहुंच सकते हैं।
क्या फ़ाइनल में पहुंचने के लिए ऑस्ट्रेलिया के पास बढ़िया मौक़ा है?
ऑस्ट्रेलिया को अभी भी इस डब्ल्यूटीसी चक्र में नौ टेस्ट मैच खेलने हैं। उनमें से पांच टेस्ट घर पर हैं, जो उन्हें वेस्टइंडीज़ और साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ खेलना है। इसके अलावा उन्हें चार मैच भारत के ख़िलाफ़ भारत में खेलना है।
अगर ऑस्ट्रेलिया घरेलू धरती पर पांचों टेस्ट जीतने में सफल रहता है और भारत में चारों टेस्ट हार जाता है तो उनके पास कुल 63.13 अंक होंगे। वहीं अगर भारतीय टीम अपने बचे हुए छह टेस्ट में से सभी मैच जीतने में कामयाब होता है तो वह ऑस्ट्रेलिया को पीछे छोड़ देगा। अगर अपने बचे हुए 9 टेस्ट मैच में से ऑस्ट्रेलिया 6 में जीत हासिल करता है और तीन हार जाता है तो उनके पास कुल 68.42 फ़ीसदी अंक हो जाएंगे। इससे उनके फ़ाइनल में पहुंचने का रास्ता काफ़ी आसान हो जाएगा।
भारतीय टीम के पास फ़ाइनल में पहुंचने का क्या रास्ता है?
भारत फ़िलहाल अंक तालिका में चौथे स्थान पर है। उन्हें अगर फ़ाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को बरकरार रखना है तो उन्हें बाक़ी बचे हुए छह टेस्ट मैचों में जीत हासिल करनी होगी। भारत को बांग्लादेश में दो टेस्ट खेलने हैं और चार टेस्ट घर पर ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेलने हैं। अगर भारत ये सभी मैच जीत जाता है तो उनके पास कुल 68.06 फ़ीसदी अंक होंगे। ऑस्ट्रेलिया अगर घरेलू धरती पर अपने बचे हुए पांचों टेस्ट जीत जाता है, तब भी भारत के पास ज़्यादा अंक होंगे।
इसका एक मतलब यह भी है कि अगर भारत और पाकिस्तान अपने बचे हुए सभी मैच जीत जाते हैं और साउथ अफ़्रीका भी अंक तालिका में नीचे आ जाता है तो 2023 का विश्व टेस्ट चैंपियनशिप का फ़ाइनल भारत और पाकिस्तान के बीच होगा।
इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड और वेस्टइंडीज़ का क्या हाल है?
यदि इंग्लैंड अपने शेष छह टेस्ट जीत जाता है तो वह 51.52 अंक तक पहुंच सकता है, जबकि न्यूज़ीलैंड केवल 48.72 तक ही जा सकता है। वहीं वेस्टइंडीज़ सैद्धांतिक रूप से 65.38 तक जा सकता है, लेकिन उसके बाक़ी के चार टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ़्रीका में हैं।

एस राजेश ESPNcricinfo के स्टेट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।