मैच (14)
सीपीएल (3)
यूएई बनाम बांग्लादेश (1)
रोड सेफ़्टी (3)
लेजेंड्स लीग (1)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
काउंटी डिवीज़न एक (1)
काउंटी डिवीज़न 2 (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
ख़बरें

राहुल को टीम में वापस देख कर मैं काफ़ी ख़ुश हूं: धवन

आईपीएल के कारण भारतीय टीम के पास विकल्पों की कमी नहीं है

Shikhar Dhawan goes for a pull shot, West Indies vs India, 1st ODI, Port-of-Spain, July 22, 2022

धवन ने यह भी उम्मीद जताई कि वॉशिंगटन सुंदर जल्द ही टीम में वापसी करेंगे  •  AFP/Getty Images

शिखर धवन को बांसुरी बजाना बहुत पसंद है। इससे उन्हें शांति का अहसास होता है। उन्होंने हाल ही में आध्यात्मिकता को भी अपनाया है, जिसके बारे में उनका मानना ​​​​है कि उन्होंने सकारात्मकता की दुनिया के लिए अपनी आंखें खोल दी है। साथ ही असफलता और नकारात्मकता के अंतर्निहित डर के बिना वह अपने खेल को आगे बढ़ा रहे हैं।
धवन ने कहा, "मैंने इसे आध्यात्मिकता के माध्यम से सीखा है। आपको क्रिकेट का अभ्यास करने की तरह ही शांत मानसिकता रखने की भी अभ्यास करने की आवश्यकता है।"
"यह कुछ ऐसा है जो मैं अपनाने की कोशिश करता हूं और युवाओं को भी ऐसा करने को कहता हूं। क्रिकेटर के तौर पर हम सब अपने सपने को जी रहे हैं और अगर इसके बावजूद भी आप खु़शी से नहीं रहते तो क्या ही फ़ायदा है? मैं अपने अंदर नकारात्मकता को अंदर नहीं आने देता। मैं हमेशा सकारात्मक रहने की कोशिश करता हूं।"
शायद यही मानसिकता है जो धवन को किसी भी परिस्थिति को आसानी से स्वीकार करने की अनुमति देती है। वर्तमान में सिर्फ़ एक प्रारूप के खिलाड़ी धवन ने कहा कि वह "50 ओवर के खेल को पसंद करते हैं और वेस्टइंडीज़ दौरे की ही तरह अपने फ़ॉर्म को आगे लेकर जाना चाहते हैं।" जहां उन्होंने भारत को वनडे सीरीज़ में 3-0 से जीत दिलाई थी। उस दौरान उन्होंने दो अर्धशतक की मदद से टूर्नामेंट में कुल 168 रन बनाए थे।
धवन नौ साल बाद पहली बार ज़िम्बाब्वे जा रहे हैं। 2013 के उस दौरे के दूसरे वनडे मैच में उन्होंने 116 रन की मैच जिताऊ पारी खेली थी।
धवन ने कहा, 'यह अच्छा है कि उन्होंने (ज़िम्बाब्वे) बांग्लादेश के ख़िलाफ़ जीत हासिल की। मुझे यक़ीन है कि वे अच्छा क्रिकेट खेल रहे हैं। यह हमारे लिए अच्छा है, क्योंकि हम किसी भी चीज़ को हल्के में नहीं ले सकते। हम यहां एक अच्छी टीम के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने आए हैं।"
धवन ने कहा कि उन्हें मौजूदा ज़िम्बाब्वे टीम के बारे में अधिक जानकारी नहीं है। साथ ही उन्होंने स्वीकार किया कि सिकंदर रज़ा एक अच्छे खिलाड़ी हैं जो कई सालों से बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि 18 अगस्त को रज़ा की तक़नीक सहित सभी चीज़ों के बारे में जानकारी ले ली जाएगी। यही वह जगह है जहां हम तक़नीक और डेटा का प्रयोग कर के विरोधियों के बारे में जानते हैं।
धवन ने इस संदर्भ में कहा, "हम एक दूसरे के ख़िलाफ़ इतना क्रिकेट नहीं खेलते हैं, लेकिन हमारे पास सारा डेटा है। वहां से हम प्रतिद्वंद्वी की ताक़त और कमज़ोरियों का पता लगाते हैं। मुझे लगता है कि यही वह जगह है जहां तक़नीक काम आती है। एक गेम में आपको पैटर्न बहुत जल्दी पता चल जाता है। इससे पहले भी हम अपनी योजना को आगे बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करते आए हैं।"
केएल राहुल को वापस टीम में देखकर धवन काफ़ी खु़श हैं। राहुल ने कप्तानी संभाली जो शुरुआत में धवन को सौंपी गई थी। स्पोर्ट्स हर्निया और फिर कोविड-19 के लंबे पुनर्वास के बाद राहुल आईपीएल के बाद पहली बार प्रतिस्पर्धी क्रिकेट में वापसी करेंगे।
धवन ने कहा, 'यह बहुत अच्छी ख़बर है कि केएल की टीम में वापसी हुई है। वह भारतीय टीम के मुख्य खिलाड़ियों में से एक हैं और एशिया कप भी पास में है। मुझे यक़ीन है कि उन्हें इस दौरे से काफ़ी फ़ायदा होगा। यह दुखद है कि वॉशिंगटन सुंदर इस दौरे से बाहर हो गए हैं। उम्मीद है कि वह जल्द ठीक हो जाएंगे।"
धवन ने आईपीएल की काफ़ी प्रशंसा की और कहा कि आईपीएल ने शीर्ष क्रम में कई विकल्प दिए हैं। 16 सदस्यीय टीम के पास शुरुआती बल्लेबाज़ों के पांच विकल्प हैं। धवन के अलावा राहुल, शुभमन गिल, इशान किशन, ऋतुराज गायकवाड़ और यहां तक ​​कि संजू सैमसन भी हैं, जिन्होंने आईपीएल में इसी तरह की भूमिका निभाई है।
धवन ने अपने युवा सहयोगियों के बारे में कहा, "हर कोई अलग है। उनके पास अच्छी तक़नीक है। घरेलू क्रिकेट और आईपीएल की वजह से युवा खिलाड़ी आसानी से भारतीय टीम में आ रहे हैं। उनका आत्मविश्वास का स्तर ऊंचा है, इसलिए वे अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में बहुत जल्दी घुलमिल जाते हैं। वे इतना अच्छा कर रहे हैं। हमें बहुत अच्छा लगता है कि हमारे पास इतने सारे विकल्प हैं, इसलिए यह हमारे लिए एक बहुत ही स्वस्थ संकेत है।"