मैच (15)
आईपीएल (1)
WI vs SA (1)
County DIV1 (3)
County DIV2 (4)
T20WC Warm-up (3)
CE Cup (3)
ख़बरें

तालिबान को क्रिकेट से प्यार है, मुझे नहीं लगता उनके शासन में क्रिकेट कुछ झेलेगा : एसीबी सीईओ

कहा, राष्ट्रीय टीम के सभी खिलाड़ी और उनके परिवार पूरी तरह से सुरक्षित

पीटीआई
16-Aug-2021
The victorious Afghanistan team after claiming Division 5 of the World Cricket League, Jersey v Afghanistan, World Cricket League Division 5, Jersey, May 31, 2008

अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट टीम  •  CricketEurope/ICC

अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) के सीईओ हामिन शिनवारी ने यह विश्वास दिलाया है कि अफ़ग़ानिस्तान की राजनीति में आए भारी बदलाव में क्रिकेट हताहत नहीं होगा। उन्होंने कहा है कि तालिबान क्रिकेट से प्यार करता है और समर्थन करता है। काबुल से बात करते हुए शिनवारी ने विश्वास जताया कि अब जब तालिबान ने देश पर अपना कब्जा कर लिया है तो राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ी और उनका परिवार पूरी तरह से सुरक्षित है।
स्टार खिलाड़ी राशिद खान, मोहम्मद नबी, मुजीब उर रहमान अभी इंग्लैंड में हंड्रेड टूर्नामेंट खेल रहे हैं।
शिनवारी ने कहा कि तालिबान को क्रिकेट से प्यार है और जब से हमने शुरुआत की है वह हमारा समर्थन करते हैं। उन्होंने कभी हमारी गतिविधियों में दखलअंदाजी नहीं की थी।
एसीबी के अधिकारी ने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि किसी तरह की दखलअंदाजी होगी, सिवाए समर्थन के जिससे क्रिकेट आगे बढ़ पाए। हमारे पास हमारे सक्रिय चेयरमैन हैं, मैं भी अगले किसी आदेश तक सीईओ बना रहूंगा।
इस देश में क्रिकेट 1996 और 2001 के बीच तालिबान के राज में ही आगे बढ़ा था। तब पाकिस्तान में गए कई अफ़ग़ानी शरणार्थियों ने इस खेल को खेलना शुरू किया। उन्होंने कहा कि यह कहा जाता सकता है तालिबान दौर में ही हमारे देश में क्रिकेट पनपा था। यह भी तथ्य है कि हमारे खिलाड़ी पेशावर में अभ्यास करते थे और वही इस खेल को अफ़ग़ानिस्तान में लेकर आए।
शिनवारी ने कहा कि अच्छी बात यह है कि हम सामान्य​ स्थिति की ओर बढ़ रहे हैं। लोगों ने काम करना शुरू कर दिया है। हम अपना कार्यालय भी मंगलवार से खोल लेंगे। हमारा कैंप भी श्रीलंका में होने वाली पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज के लिए दो दिन के ब्रेक के बाद खुल जाएगा।
खिलाड़ियों की सुरक्षा के बारे में उन्होंने कहा कि जो खिलाड़ी विदेश में खेल रहे हैं उनके अलावा सभी काबुल में मौजूद हैं, जैसा कि मैंने कहा कि वे सभी सुरक्षित हैं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) भी घटनाक्रम पर नजर बनाए हुए है और वह चाहते हैं कि अफगानी खिलाड़ी भारतीय प्रीमियर लीग (आईपीएल) में हिस्सा लें।
अफ़ग़ानिस्तान को पाकिस्तान के खिलाफ श्रीलंका के कोलंबो में एक सितंबर से तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलनी है।
शिनवारी ने कहा कि द्विपक्षीय सीरीज के लिए हमारा कार्यक्रम ट्रैक पर है और तीनों आईपीएल खेलने वाले खिलाड़ी राशिद, नबी और मुजीब को इस लीग में खेलने के लिए एनओसी दी जा चुकी है। शिनवारी ने कहा कि हमें नहीं लगता है कि क्रिकेट की गतिविधियों को सत्ता पलट से कोई फर्क पड़ेगा। उन्होंने साथ ही उम्मीद जताई कि बीसीसीआई समेत दुनिया के बड़े क्रिकेट बोर्ड हमारी पहले की तरह मदद करते रहेंगे।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।