मैच (6)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (4)
श्रीलंका बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
न्यूज़ीलैंड बनाम भारत (1)
ख़बरें

मार्श और स्टॉयनिस के फ़िटनेस पर निर्भर है ऑस्ट्रेलिया का टीम संतुलन

वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ मिचेल मार्श नंबर तीन पर वापसी करेंगे लेकिन केवल विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के तौर पर

Mitchell Marsh was back with the Australia squad, Gold Coast, October 3, 2022

जूनियर मार्श ने ऑस्ट्रेलियाई टीम में वापसी की है  •  Getty Images

टखने की चोट से उबरने के बाद मिचेल मार्श वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ पहले टी20आई में तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करेंगे लेकिन उनका चयन विशेषज्ञ बल्लेबाज़ के रूप में ही होगा। वहीं मार्कस स्टॉयनिस शायद केवल रविवार को इंग्लैंड के विरुद्ध पहले टी20आई के लिए ही फ़िट होकर उपलब्ध हो सकेंगे। दोनों ही ऑलराउंडर ऑस्ट्रेलिया की विश्व कप योजनाओं का अहम हिस्सा हैं।
कप्तान ऐरन फ़िंच ने पुष्टि की है कि दोनों ऑलराउंडरों का विश्व कप के लिए उपलब्ध होने की पूरी उम्मीद है। दोनों ही हालिया भारतीय दौरे पर नहीं जा पाए थे और ऐसे में लगता है भारत में प्रभावित करने वाले कैमरन ग्रीन के लिए शायद कोई जगह नहीं बनेगी। हालांकि फ़िंच ने माना कि वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध स्टॉयनिस के ना होने से और मार्श के गेंदबाज़ी ना कर पाने से टीम संयोजन में कुछ प्रयोग किए जा सकते हैं।
फ़िंच ने पहले मैच की पूर्वसंध्या पर मार्श के बारे में कहा, "उन्होंने तीसरे नंबर पर अपना हक़ जमाया है और जिस प्रकार उन्होंने पिछले वर्ष विश्व कप से पहले और फिर टूर्नामेंट में बल्लेबाज़ी की, वह हमें मिडिल ऑर्डर में काफ़ी लचीलापन देते हैं। उन्होंने कल केवल दूसरी बार गेंदबाज़ी की और ऐसा लगा कि उन्हें कोई परेशानी नहीं हुई। यह एक अच्छा संकेत है। टीम संतुलन के लिए यह बहुत ज़रूरी है कि ये दोनों हमें गेंदबाज़ी के विकल्प दें क्योंकि आप नहीं चाहेंगे कि किसी मैच में आप केवल पांच गेंदबाज़ों के साथ जाएं। हमें इस पर काम करना होगा।"
मार्श इससे पहले 28 अगस्त को ज़िम्बाब्वे के ख़िलाफ़ एक वनडे में खेले थे। इसके बाद उन्होंने न्यूज़ीलैंड और भारत के विरुद्ध मैच मिस किए और सितंबर में पर्थ में अपने चोट से उबरते हुए कोई गेंदबाज़ी नहीं की। फ़िलहाल स्टॉयनिस पर्थ में ही हैं, जहां रविवार को इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच के लिए ऑस्ट्रेलियाई टीम शनिवार को ब्रिस्बेन से पांच घंटे की फ़्लाइट पकड़ेगी। फ़िंच ने इसका कारण समझाते हुए बताया, "हमें लगता है वह इंग्लैंड के ख़िलाफ़ मैच के लिए संपूर्ण रूप से फ़िट होंगे। हम इतनी जल्दी उन्हें इतना ज़्यादा सफ़र करने से बचाना चाहते थे क्योंकि सॉफ़्ट-टिशु इंजरी में ऐसा करना हानिकारक सिद्ध हो सकता है।"
ग्रीन वैसे तो ऑस्ट्रेलिया के 15-सदस्यीय विश्व कप दल का हिस्सा नहीं हैं लेकिन फ़िलहाल क्वींसलैंड में ही हैं और ज़रूरत पड़ने पर दोनों मैच खेल सकते हैं। हालांकि फ़िंच ने कहा कि अगर मार्श और स्टॉयनिस फ़िट रहते हैं तो ग्रीन को विश्व कप दल में स्थान मिलने की कोई भी संभावना नहीं बचती।
कप्तान बोले, "उनक भारत दौरा ज़बरदस्त था। उनके लिए सलामी बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिलना बड़ी बात थी और उन्हें आगे भी ऐसे अवसर ज़रूर मिलेंगे। उन्हें इस सीरीज़ में भी ज़रूर मौक़ा मिलेगा। वह बल्ले के साथ अच्छा तो कर ही रहे हैं लेकिन गेंद के साथ भी निरंतर सुधार दिखाते हैं।"
ऑस्ट्रेलिया ने पिछले विश्व कप से पहले केवल पांच गेंदबाज़ खिलाना छोड़ दिया था। क्या करारा में उन्हें इस नीति को वापस अपनाना होगा? ऐसा करने पर ग्लेन मैक्सवेल शीर्ष छह में इकलौते गेंदबाज़ी के विकल्प के रूप में बचेंगे। हालांकि एक उपाय हो सकता है स्टीव स्मिथ या टिम डेविड की जगह ग्रीन, डैनियल सैम्स या शॉन ऐबट को शामिल किया जाए। डेविड वॉर्नर की वापसी के चलते शीर्ष के तीन बल्लेबाज़ वॉर्नर, फ़िंच और मार्श ही रहेंगे।
फ़िंच ने कहा, "हमें यह लगता है कि हमें अपनी सर्वश्रेष्ठ एकादश का संज्ञान है। बस यह है कि फ़िलहाल सारे खिलाड़ी 100 प्रतिशत फ़िट नहीं हैं। हालांकि अभी भी लगभग ढाई हफ़्ते हैं और हमारे पास पांच मैच के साथ भारत के ख़िलाफ़ वॉर्म-अप मैच भी है। यह ज़रूरी है कि हम ख़ुद को कई विकल्प प्रदान करते रहें क्योंकि आप विश्व कप में पहुंचकर यह स्थिति नहीं चाहते कि आप एक ही शैली या एक ही संयोजन के साथ क्रिकेट खेलने की आदत डाल लें।"

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo में असोसिएट एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर असिस्टेंट एडिटर और क्षेत्रीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।