मैच (11)
Nepal Tri-Nation (1)
WPL (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (2)
Durham in ZIM (1)
IND v ENG (1)
ख़बरें

श्रीराम ने ऑस्ट्रेलियाई टीम के सहायक कोच पद से इस्तीफ़ा दिया, आरसीबी पर देंगे अधिक ध्यान

पूर्व भारतीय ऑलराउंडर को ऑस्ट्रेलिया में पहली बार 2016 में स्पिन कोच नियुक्त किया गया था

श्रीराम अब आईपीएल में आरसीबी में सपोर्ट स्टाफ़ की भूमिका पर अधिक ध्यान देना चाहते हैं  •  Getty Images

श्रीराम अब आईपीएल में आरसीबी में सपोर्ट स्टाफ़ की भूमिका पर अधिक ध्यान देना चाहते हैं  •  Getty Images

ऑस्ट्रेलियाई पुरुष टीम के साथ छह साल सहायक कोच रहने के बाद श्रीधरन श्रीराम ने इस पद से इस्तीफ़ा देने का फ़ैसला किया है। श्रीराम अब आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) में सपोर्ट स्टाफ़ की भूमिका पर अधिक ध्यान देना चाहते हैं।
श्रीराम ने एक जारी किए गए बयान में कहा, "मैं छह साल से ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ अपने घर से बाहर था और इसीलिए इस पद से हटते हुए मुझे काफ़ी बुरा लग रहा है। मेरे हिसाब से यही सही समय है क्योंकि टीम को अब आनेवाले समय में दो विश्व कप और विश्व टेस्ट चैंपियनशिप पर ध्यान देना है और उसकी तैयारी के लिए पर्याप्त समय की आवश्यकता है। अलग प्रारूपों, विश्व कप और ऐशेज़ जैसे मैचों में टीम के साथ काम करते हुए मैंने बहुत कुछ सीखा है।"
भारत के पूर्व ऑलराउंडर श्रीराम को पहली बार 2016 में डैरन लीहमन के नीचे स्पिन कोच नियुक्त किया गया था। उनकी देखरेख में ऐडम ज़ैम्पा, ऐश्टन एगार और नेथन लायन ने अपनी गेंदबाज़ी में काफ़ी सुधार दिखाया है। साथ ही टी20 क्रिकेट में ग्लेन मैक्सवेल की गेंदबाज़ी पर श्रीराम ने ऑस्ट्रेलिया और आरसीबी दोनों में रहते हुए काफ़ी मदद की है।
श्रीराम ऑस्ट्रेलिया टीम के साथ काम कर रहे थे लेकिन उन्होंने अपने घर चेन्नई में ही रहना ठीक समझा था। ऑस्ट्रेलियाई टीम में ऐंड्र्यू मक्डॉनल्ड के मुख्य कोच होने की नियुक्ति के बाद से डैनियल वेटोरी को पूर्णकालिक गेंदबाज़ी कोच का स्थान मिला है। इसी साल जब पाकिस्तान दौरे पर श्रीराम टीम के साथ नहीं जा पाए थे तब वेटोरी ने ही उनकी ज़िम्मेदारी निभाई थी।
ज़ैम्पा ने पिछले वर्ष के टी20 विश्व कप में काफ़ी अच्छा प्रदर्शन किया था और उन्होंने कहा, "मुझे श्री के साथ काम करने में बड़ा मज़ा आया। मैं उन्हें काफ़ी सम्मान की नज़रों से देखता हूं और हाल ही में मेरे करियर में उनके कार्य नीति और ज्ञान का मुझे व्यक्तिगत फ़ायदा मिला है।"

ऐलेक्स मैल्कम ESPNcricinfo के असोशिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सहायक एडिटर और भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।