मैच (11)
WPL (1)
PSL 2024 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
Dang CL (1)
ख़बरें

ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन कराएंगे गर्दन की सर्जरी

नवंबर की शुरुआत तक क्रिकेट से रह सकते हैं दूर

अक्टूबर तक पेन पूर्ण तरीके से प्रैक्टिस करने में सक्षम हो जाएंगे  •  Getty Images

अक्टूबर तक पेन पूर्ण तरीके से प्रैक्टिस करने में सक्षम हो जाएंगे  •  Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट कप्तान टिम पेन की ऐशेज़ तैयारियों को धक्का लग सकता है क्योंकि उनके गर्दन की सर्जरी होगी। पेन गर्दन की समस्या के कारण सही तरीक़े से अभ्यास नहीं कर पा रहे थे।
क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) के एक बयान में कहा गया है कि पेन की गर्दन और बाएं हाथ में एक उभरी हुई डिस्क के कारण दर्द हो रहा था। उन्होंने पिछले सप्ताह के अंत में होबार्ट में एक स्पाइनल सर्जन से परामर्श लिया, जहां उन्हें सर्जरी का सुझाव दिया गया।
उम्मीद है कि वह नवंबर की शुरुआत में क्रिकेट खेलने के लिए फ़िट हो जाएंगे, जिससे उन्हें इंग्लैंड के ख़िलाफ़ पहले ऐशेज़ टेस्ट की तैयारी के लिए एक महीने का समय मिल जाएगा, जो ब्रिस्बेन में 8 दिसंबर से शुरू होने वाला है।
पेन ने कहा, "स्पाइनल सर्जन और सीए मेडिकल टीम की सहमति थी कि अब सर्ज़री कराई जाए जिससे गर्मियों के लिए पूरी तरह से तैयार होने के लिए मुझे काफ़ी समय मिल जाएगा। मैं इस महीने के अंत तक शारीरिक गतिविधि को फिर से शुरू करने और अक्टूबर में पूर्ण प्रशिक्षण में वापस आने में सक्षम होने की उम्मीद करता हूं। मैं पहले टेस्ट के लिए तैयार हो जाऊंगा।"
ऐसा प्रतीत होता है कि पेन नवंबर के अंत में होबार्ट में अपने घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलिया की कप्तानी करने का मौका खो सकते हैं क्योंकि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के रुख़ के बाद अब अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ खेला जाने वाला टेस्ट संदेह में है। अगर तालिबान के शासन में महिलाओं को खेल खेलने की अनुमति नहीं दी जाती है तो वे मैच रद्द कर देंगे। ऑस्ट्रेलिया ने पिछले 18 महीनों में केवल चार टेस्ट खेले हैं और ये सभी मैच पिछले सीज़न में भारत के ख़िलाफ़ खेले गए थे। इस साल की शुरुआत में टीम के साउथ अफ़्रीका दौरे को कोविड-19 के चिंताओं के कारण स्थगित कर दिया गया था।
ऐशेज़ श्रृंखला को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है क्योंकि सीए और ईसीबी के नीच इंग्लैंड टीम के क्वारंटीन नियमों को लेकर बात चल रही है। यह अंदेशा लगाया जा रहा है अगर क्वारंटीन के नियमों में कोई बदलाव नहीं होता है तो इंग्लैंड के कई खिलाड़ी ऐशेज़ से अपना नाम वापस ले लेंगे।